Saturday, April 17, 2021
- Advertisement -
HomeCoronavirusमहाकुंभ 2021: हरिद्वार आने वाले वीआईपी को भी कोरोना टेस्ट जरूरी

महाकुंभ 2021: हरिद्वार आने वाले वीआईपी को भी कोरोना टेस्ट जरूरी

- Advertisement -
0
  • संक्रमण नियंत्रण के लिए प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग ने जांच किया अनिवार्य

जनवाणी ब्यूरो |

देहरादून: महाकुंभ शुरू होने के साथ हरिद्वार में वीआईपी आगमन भी बढ़ गया है। वीआईपी प्रवास के दौरान प्रमुख लोगों के संपर्क में आते हैं। ऐसे में किसी वीआईपी के संक्रमित होने पर बड़े स्तर पर संक्रमण फैल सकता है। लिहाजा अब प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग ने सभी वीआईपी के लिए कोविड जांच को अनिवार्य कर दिया है।

हरिद्वार में रोजाना कोरोना संक्रमितों की संख्या 300 के करीब पहुंच रही है। महाकुंभ शुरू होने के साथ संक्रमण बढ़ने से प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग भी चिंतित हैं। बॉर्डर पर श्रद्धालुओं का पंजीकरण और कोरोना की आरटीपीसीआर रिपोर्ट की जांच की जा रही है। वहीं, रैंडम सैंपलिंग भी हो रही है। पॉजिटिव मिलने वाले यात्रियों को लौटाया जा रहा है। इस बीच वीआईपी आगमन भी बढ़ा है।

वीआईपी के काफिले में दूसरे राज्यों के काफी लोग शामिल होते हैं। वीआईपी रोजाना कई संतों, नेताओं और अधिकारियों के संपर्क में आते हैं। ऐसे में अब हर वीआईपी और उनके साथ आने वाले लोगों की कोविड जांच की जाएगी। डॉ. एसके झा ने बताया कि वीआईपी के लिए विकल्प के तौर कोविड केयर सेंटर या होम आइसोलेशन की व्यवस्थाएं उपलब्ध रहेंगी। स्वास्थ्य संबंधी शिकायत होने पर इमरजेंसी चिकित्सा सुविधा भी मुहैया कराई जाएगी।

आरएसएस प्रमुख की भी हुई थी जांच

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ प्रमुख मोहन भागवत हाल ही में कुंभनगरी प्रवास पर थे। इस दौरान स्वास्थ्य विभाग ने आरएसएस प्रमुख और उनके दल में शामिल 20 लोगों की कोविड जांच की थी। सभी की रिपोर्ट निगेटिव आई थी।

पंजीकरण कराने से बच रहे श्रद्धालु 

कुंभ मेला पुलिस ने कुंभनगरी आने वाले श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए यात्रा पंजीकरण पोर्टल बनाया है। श्रद्धालुओं को हरिद्वार आने से पहले पोर्टल पर 72 घंटे पूर्व की कोविड निगेटिव रिपोर्ट, फिटनेस सर्टिफिकेट के साथ अपनी जानकारी दर्ज करनी है।

श्रद्धालु यह सब करने से बच रहे हैं। बिना पंजीकरण कराए आ रहे हैं और बाॅर्डर पर परेशान हो रहे हैं। 7 से 15 अप्रैल तक मात्र 4656 आवेदन हुए हैं और इनमें 10109 लोगों को हरिद्वार आना है। जबकि औसतन प्रतिदिन बॉर्डर से 23 हजार से अधिक श्रद्धालु हरिद्वार पहुंच रहे हैं।

कुंभ मेला पुलिस ने बृहस्पतिवार को यात्रा रजिस्ट्रेशन पोर्टल के आंकड़े जारी किए हैं। आंकड़े बताते हैं, रजिस्ट्रेशन के लिए श्रद्धालुओं में रूचि नहीं है। पंजीकरण के सापेक्ष सात अप्रैल को जिले में 11 जगहों से बॉर्डर क्रास करने वाले श्रद्धालुओं की संख्या 23862 रही है। ये श्रद्धालु 3703 वाहनों में सवार थे। 12422 की कोविड जांच हुई और इनमें नौ पॉजिटिव मिले। निगेटिव रिपोर्ट आने पर उनको प्रवेश दिया गया।

नारसन बॉर्डर पर एक, काली नदी भगवानपुर में तीन, मंडावर में एक, चिड़ियापुर में एक और वीरपुर में तीन पॉजिटिव केस मिले हैं। पुलिस ने पॉजिटिव और जांच नहीं कराने वाले 987 वाहनों में सवार 4552 यात्रियों को वापस भेजा।

यह है आवेदन पत्रों की संख्या 

तारीख          आवेदन       व्यक्ति
सात अप्रैल-      285            582
आठ अप्रैल-     266             556
नौ अप्रैल-        126            263
10 अप्रैल-       143            285
11 अप्रैल-       143            255
12 अप्रैल        134             236
13 अप्रैल-      144             272
14 अप्रैल-      108             183
15 अप्रैल        79               139
कुल आवेदन-  4556   कुल व्यक्ति- 10109

What’s your Reaction?
+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -spot_img

Most Popular

- Advertisment -

Recent Comments