Tuesday, June 18, 2024
- Advertisement -
Homeसंवादसिनेवाणीकौन कहता है कि मेरा कैरियर डांवाडोल है- पायल घोष

कौन कहता है कि मेरा कैरियर डांवाडोल है- पायल घोष

- Advertisement -

CINEWANI


एसएस |

13 नवंबर, 1989 को जन्मी, हिंदी बंगाली और तेलुगु फिल्मों की एक्ट्रेस पायल घोष, ने अपनी शुरुआती पढ़ाई सेंटपाल मिशन कोलकाता में की। उसके बाद स्कॉटिश चर्च कॉलेज कोलकाता में राजनीति विज्ञान आनर्स में स्नातक किया। 19 साल की उम्र में, पायल ने बीबीसी के लिए बनाई गई अंग्रेजी टेलीफिल्म ‘शेपर्स पेरिल’ (2008) के साथ अपने अभिनय कैरियर की शुरुआत की थी। इसमें उन्होंने एक कॉलेज गर्ल का किरदार निभाया था।

‘शेपर्स पेरिल’ के बाद उन्हें, तेलुगु फिल्म ‘प्रयाणम’ (2009) में काम करने का अवसर मिला। उसके बाद वो कन्नड़ फिल्म ‘वषार्धारे’ (2010) में नजर आईं। 2011 में उन्होंने दो तेलुगु फिल्में ‘ऊसरवेली’ और ‘मिस्टर रॉस्कल’ कीं। एक बंगाली फिल्म में पायल ने एक स्वतंत्रता सेनानी की बेटी का किरदार निभाया था। 2016 में पायल टेलीविजन सीरियल ‘साथ निभाना साथिया’ में नजर आईं।

इसके बाद 2017 में प्रदर्शित ऋषि कपूर और परेश रावल स्टारर ‘पटेल की पंजाबी शादी’ के जरिए पायल ने बॉलीवुड में एंट्री की। उसी दरमियान, पायल घोष ने रामदास अठावले की पार्टी रिपब्लिकन पार्टी आॅफ इंडिया जाइन करते हुए राजनीति में भी हाथ आजमाई की। वो कुछ वक्त के लिए पार्टी महिला मोर्चा की उपाध्यक्ष पद पर रहीं। प्रस्तुत हैं पायल घोष के साथ की गई बातचीत के मुख्य अंश:

जाने माने फिल्म मेकर अनुराग कश्यप के विरूद्ध यौन शोषण का आरोप लगाने के बाद आप अचानक सुर्खियों में आ गई थीं। उसके बारे में क्या कहना चाहेंगी?

-उस केस का निराकरण हो चुका है। इसलिए अब उसके बारे में कुछ भी कहना फिजूल होगा।
आखिर क्या वजह रही कि आपको, उस केस में अदालत के निर्देश पर अनुराग से बिना शर्त माफी मांगनी पड़ी?
-इस देश का कानून और न्यायालय सर्वोच्च हैं। न्यायालय के आदेश को मानना देश के हर व्यक्ति का कर्तव्य है। मुझे लगता है कि न्यायालय को मैं अपनी बात से संतुष्ट नहीं कर सकी और उसके बाद उन्होंने मुझे जो आदेश दिया, बस मैंने उसका पालन किया।

अनुराग कश्यप के बाद आपको ऋचा चड्डा मामले में भी मुुंह की खानी पड़ी थी। आखिर वह केस क्या था?

-ऋचा के बारे में शायद मैंने कुछ कह दिया था। मेरी वह बात उन्हें आधारहीन, अभद्र और अपमानजनक लगी थी। उन्होंने मेरे विरूद्ध उसे लेकर मानहानि का केस दर्ज किया था। लेकिन न्यायालय को मेरी बात में कुछ भी मानहानि जैसा नहीं लगा। इसलिए न्यायालय ने आदेश दिया कि ऋचा और मैं इस मामले को न्यायालय के बाहर सुलझा लें। और हमने ऐसा ही किया।

लोगों का कहना है कि आपका कैरियर काफी डांवाडोल चल रहा है। आज जहां साउथ में आपके पास कोई फिल्म नहीं है, वहीं बॉलीवुड में आपके पास सिर्फ एक ही फिल्म ‘कोई जाने ना’ है। इस वजह से आप अपना कैरियर बचाने के उद्देश्य से, लगातार इस तरह के स्टंट का सहारा लेकर सुर्खियां बटोरती रही हैं?

-स्टंट का सहारा लेकर सुर्खियां तो बन सकती हैं, लेकिन आपके कैरियर को उससे कोई फायदा नहीं हो सकता। और फिर कौन कहता है कि मेरा कैरियर डांवाडोल है। इस वक्त मैं साउथ की दो फिल्मों के अलावा यहां भी दो फिल्में कर रही हूं। ‘कोई जाने ना’ के अलावा मैंने हाल ही में राजीव चौधरी के निर्देशन में बन रही फिल्म ‘रेड’ साइन की है। इसमें मैं मशहूर कॉमेडियन कृष्णा अभिषेक के साथ अहम भूमिका निभा रही हूं।


SAMVAD

What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Recent Comments