Tuesday, May 28, 2024
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsMeerut20 घंटे के सफर के बाद शावक पहुंची योगी के गढ़ में

20 घंटे के सफर के बाद शावक पहुंची योगी के गढ़ में

- Advertisement -
  • एक डाक्टर रहेगा निगरानी में, फिलहाल रहना होगा क्वारंटीन में
  • रास्ते में दूध पिया और मां की याद में बस मासूमियत भरी पुकार निकाली

जनवाणी संवाददाता |

मेरठ: क्रांतिधरा में पांच दिनों तक सुर्खियां बटोरने के बाद मादा शावक बीस घंटों के थकाऊ सफर के बाद गोरखपुर के शहीद अशफाकउल्ला खां प्राणि उद्यान में दाखिल हो गई। शावक को फिलहाल क्वारंटीन में रखा गया है और उसके 24 घंटे की निगरानी के लिये एक डाक्टर रहेंगे जो उसे दूध पिलाया करेंगे और स्वास्थ्य परीक्षण करेंगे। सफर में शावक दूध पीता रहा और मां की याद में आवाज निकालता रहा।

किठौर के भगवानपुर बांगर गांव में एक खेत में ग्रामीणों को तेंदुये का शावक मिला था। अज्ञानतावश ग्रामीण उसे उठाकर ले गए और उसके साथ फोटो खिंचवाने लगे। करीब डेढ़ महीने के शावक के शरीर में इंसानी गंध आ जाने से तीन दिन बाद उसकी मां तेंदुये ने उसको स्वीकारने से इंकार कर दिया था। बाद में वन विभाग की टीम शावक को लेकर आ गई और दो दिन शावक गहन निगरानी में रही। शुक्रवार की अलसुबह चार बजे के करीब शावक को लेकर डाक्टर समेत सात सदस्यीय टीम गोरखपुर के लिये रवाना हुई थी।

जिला वन अधिकारी राजेश कुमार ने बताया कि शावक सकुशल गोरखपुर पहुंच गया। रास्ते में उसने दूध भी पिया और मूत्र भी किया। साथ में चल रहे डाक्टर उसका परीक्षण लगातार करते जा रहे थे। रात 12 बजे के बाद अशफाकउल्ला खान प्राणी उद्यान पहुंचने के बाद शावक को क्वारंटीन में रख दिया गया। फिलहाल वो पूरी तरह से स्वस्थ है। उसके साथ वाइल्ड लाइफ के डा. योगेश भी रहेंगे। चूंकि मादा शावक अभी बहुत छोटी है इसलिये उसके रहने के लिये अलग से बाड़ा नहीं बनाया जाएगा उसे सघन निगरानी में रखा जाएगा। बाद में थोड़ी बड़ी होने पर उसकी व्यवस्था की जाएगी।

भगवानपुर के आसपास तेंदुए की दस्तक बढ़ी

कहने को मादा तेंदुए और उसके शावक के बीच रिश्ता खत्म हो गया, लेकिन मादा तेंदुए का उस गांव से रिश्ता नहीं टूटा है। जहां से उसका शावक छूट गया है। भगवानपुर और उसके आसपास के जंगलों में ग्रामीणों ने तेंदुए को देखा जो किसी खोज में व्याकुल भटक रहा था। माछरा ब्लॉक के ग्रामीणों ने तेंदुए के आतंक की खबर पूर्व विधायक सत्यवीर त्यागी को शनिवार दोपहर माछरा ब्लॉक में दी। पूर्व विधायक सत्यवीर त्यागी ने जिला वन अधिकारी राजेश कुमार को तत्काल टीम बना कर मादा तेंदुए को शीघ्र पकड़ने के लिए कहा।

तेंदुआ रात के समय भगवानपुर बांगर के जंगल, रहदरा मावी ग्राम के बाहर देखा गया है। ग्रामीणों का कहना है कि रात के वक्त जब जंगल मे ईख के खेत मे काम करने जाते हैं। तभी तेज चमकती आंखों वाला जानवर दिख जाता है। ग्रामीणों ने बताया कि तेंदुआ एक जंगल से दूसरे जंगल मे भटकता दिखता है। भगवानपुर के आसपास के जंगलों के अलावा राधना की नहर पर भी तेंदुआ देखा गया है। ग्रामीणों ने पूर्व विधायक को बताया कि तेंदुए ने कई कुत्तों तक को निशाना बनाया हुआ है।

जिला वन अधिकारी ने पूर्व विधायक को आश्वासन दिया कि तेंदुए को रेस्क्यू करने का प्रयास किया जा रहा है। वैसे भी तेंदुआ अपने शावक के कारण हिंसक नहीं होगा अब। ईख के खेत तेंदुए के लिये माफिक होते हैं और उनके छुपने के लिए सुरक्षित बन जाते हैं। जिला वन अधिकारी ने कहा कि ग्रामीणों को अकेले जंगल मे नही जाना चाहिए। वहीं, वन विभाग की टीम फिलहाल कांबिंग कर रही है।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
1
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Recent Comments