Tuesday, April 23, 2024
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsMeerutकृषि कानून कर देंगे किसानों को बर्बाद: अखिलेश यादव

कृषि कानून कर देंगे किसानों को बर्बाद: अखिलेश यादव

- Advertisement -
  • शहीद धनसिंह कोतवाल की प्रतिमा का अनावरण करने पहुंचे पूर्व सीएम
  • बोले-कुछ कम्पनियों का गुलाम बन जाएगा अन्नदाता

जनवाणी संवाददाता |

मेरठ: समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं प्रदेश के पूर्व सीएम अखिलेश यादव ने मंगलवार को महाभारत कालीन ऐतिहासिक हस्तिनापुर की धरती पर भाजपा की घेराबंदी की। कहा कि कृषि कानून लागू होता है तो किसान कुछ कंपनियों का गुलाम बन जाएगा। उद्योगपतियों के हाथों किसानों को गुलाम बनाकर बर्बाद करना चाहते हैं प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी।

कभी ईस्ट इंडिया कंपनी ने देश में एंट्री कर देश को गुलाम बना लिया था, ठीक वैसे ही कृषि कानून का दुरुपयोग कंपनी करेगी। लाल टोपी पर सीएम योगी आदित्यनाथ द्वारा की गई टिप्पणी को लेकर भी खूब कटाक्ष करते हुए कहा कि लाल टोपी आंदोलन का प्रतीक है।

हस्तिनापुर की पवित्र धरती हैं। यहीं से महाभारत हुई थी। गीता का पवित्र ग्रंथ भी इसी महाभारत से निकला है। फिर भी हस्तिनापुर की उपेक्षा की जा रही है। कहा हस्तिनापुर की जनता ने सपा को प्रतिनिधित्व दिया तो हस्तिनापुर के विकास के लिए विशेष पैकेज दिया जाएगा। गन्ना किसान भुगतान का इंतजार ही कर रहे हैं।

04 33

इस सरकार ने एक रुपया गन्ने का मूल्य नहीं बढ़ाया। सर्वाधिक गन्ना मूल्य सपा सरकार में बढ़ा हैं। सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव मंगलवार को मवाना (मेरठ) के नवजीवन डिग्री कॉलेज के मैदान में विशाल जनसभा को संबोधित कर रहे थे।

इससे पूर्व उन्होंने शहीद दिवस पर शहीद धनसिंह कोतवाल की प्रतिमा का अनावरण किया तथा शहीदों को श्रद्धाजंलि दी। उन्होंने कहा कि 1857 की लड़ाई में यदि क्रांतिकारियों को कामयाबी मिल जाती तो शहीद भगत सिंह की शहादत्त को बचाया जा सकता था।

राममनोहर लोहिया को याद कर रहे हैं। भगत सिंह को याद कर रहे हैं। आजादी दिलाने वाले धर्म-जाति में नहीं बटे थे, बल्कि एकजुट थे, जिसके बाद ही आजादी मिली थी। जो भी देश आजादी के लिए शहीद हुए थे, वो सभी गरीब-व किसान के बेटे थे। कोतवाल धन सिंह क्या किसान के बेटे नहीं थे? सरदार भगत सिंह क्या किसान के बेटे नहीं थे? दिल्ली में चल रहे किसानों के आंदोलन में किसानों का सपा ने समर्थन किया।

05 32

भाजपा ऐसे कानूनों को ला रही है, ठीक ऐसे ही ईस्ट इंडिया कंपनी भी कानून लेकर आयी थी। कृषि कानून किसान को बर्बाद कर देंगे। दिल्ली की तीन सीमाओं पर किसान बैठे हैं, लेकिन भाजपा ने कान व आंखें बंद कर रखी है। भाजपा बंगाल में हारी तो तीनों कृषि कानूनों का पता नहीं चलेगा, कहां गए?

किसानों को आतंकवादी बताया जा रहा है। किसानों को चीन व पाकिस्तान का समर्थक बता दिया। किसानों के आंदोलन को बदनाम कर रहे हैं, मैं उन्हें कहना चाहता हूं कि वो एंट्री शोसल लोग है। धान का एमएसपी नहीं मिला। गन्ने का भुगतान नहीं मिला। 14 दिन में भुगतान का वायदा किया था, मैं पूछना चाहता हूं कि कहां है भुगतान? पेट्रोल-डीजल के दाम बढ़ा दिये।

व्यापारियों व सत्ता में बैठे लोगों का आपस में तालमेल है। ऐसा तालमेल कहीं नहीं देखा, तभी तो मंहगाई बढ़ रही है। पेट्रोल व डीजल का मुनाफा किसके पास जा रहा है? किसान रो रहा है। बेरोजगारों को रोजगार नही मिल रहा, तो ऐसे में देश कैसे खुशहाल रह सकता है? सपना विश्व गुरु का दिखाया जाता है।

बेरोजगारोें को रोजगार नहीं, किसान बर्बाद हो गया, ऐसे तो देश विश्वगुरु नहीं बन पाएगा। नोटबंदी के बाद क्या काला धन मिला? भ्रष्टाचार इसके बाद बढ़ा है। जनसभा को पूर्व मंत्री स्वामी ओमवेश व अतुल प्रधान ने भी संबोधित किया। मंच पर पूर्व विधायक योगेश वर्मा ने अखिलेश यादव को गदा भेंट की।

ये रहे मंच पर मौजूद

पूर्व एमपी अक्षय यादव, शाहिद मंजूर, रफीक अंसारी, जयवीर सिंह, पूर्व विधायक गुलाम मोहम्मद, प्रभुदयाल वाल्मीकि, शहर उपाध्यक्ष विपिन मनोठिया, अमद गुड्डू बुलंदशहर, गौरव स्वरूप मुजफ्फरनगर, पूर्व एमपी बिजेन्द्र सिंह, पूर्व मंत्री स्वामी ओमवेश, चंदन चौहान, पूर्व मंत्री अय्यूब अंसारी, आदिल चौधरी, राजपाल चौधरी, इसरार सैफी, फारुख अंसारी, सुमित चौधरी, पूर्व विधायक योगेश वर्मा, मेयर सुनीता वर्मा, पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष सीमा प्रधान, संजय विकल, राजदीप विकल, मंगल आदि मौजूद रहे।

ये बोले-अखिलेश यादव

  • लाल टोपी का लाल रंग भावना-स्वाभिमान, मान-सम्मान और बलिदान का प्रतीक है।
  • अखिलेश यादव के हेलीकॉप्टर ने 1.30 बजे किया डिग्री कॉलेज के मैदान में लैंड।
  • पूर्व सीएम अखिलेश यादव सपा नेता अतुल प्रधान व योगेश वर्मा की थपथपा गए पीठ।
  • पूर्व मंत्री स्वामी ओमवेश को अखिलेश यादव ने योगी आदित्यनाथ के मुकाबले कह दिया ये हमारे सुंदर सीएम।
  • शहीद दिवस पर रैली के मंच पर सपा के दिग्गजों से अखिलेश यादव मिले तो अवश्य, मगर किसी का मंच से नाम नहीं लिया।

सपा की सरकार बनी तो होगा हस्तिनापुर का कायाकल्प

मवाना के नवजीवन डिग्री कालेज में क्रांतिकारी शहीद धनसिंह कोतवाल की प्रतिमा का अनावरण करने पहुंचे पूर्व मुख्यमंत्री एवं सपा राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने जनता को संबोधित करते हुए कहा कि हस्तिनापुर विधानसभा से जो विधायक बनता है। उसकी प्रदेश में सरकार बनती है। दोनों को रख देना तो पता चल जाएगा कि झूठा कौन है और समाजवादी कौन है?

इसी क्रम में हस्तिनापुर की जनता को भरोसा दिलाते हुए कहा कि सपा सरकार आने पर हस्तिनापुर के लिए विशेष पैकेज और बड़े फैसले लिए जाएंगे। हस्तिनापुर में भरपूर विकास की गंगा बहेगी। इस दौरान पूर्व मुख्यमंत्री एवं सपा राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने सपा नेता अतुल और पूर्व विधायक योगेश वर्मा का हाथ उठाकर जनसभा में आई अपार भीड़ के साथ आभार प्रकट किया।

कहा कि नवजीवन डिग्री कालेज में पढ़ने वाले छात्र-छात्राओं के लिए नये कोर्स लाएंगे। समय बदल रहा है। आज की पढ़ाई भी बदल गई है। इंटरनेट का जमाना है और दूसरी तरह की पढ़ाई आ गई है। शिक्षकों और कालेज कमेटी के पदाधिकारियों से बच्चों के भविष्य को बेहतर करें। कहा कि प्रदेश की जनता इंतजार कर रही है समाजवादियों का। सपा ने प्रदेश में भरपूर विकास की गंगा बही है, लेकिन भाजपा ने धरातल पर कोई विकास नहीं किया। भाजपा सरकार नाम बदल रही है।

मंगलवार को नवजीवन डिग्री कॉलेज मवाना में शहीद धनसिंह कोतवाल की मूर्ति का अनावरण राष्ट्रीय अध्यक्ष समाजवादी पार्टी व पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव द्वारा किया गया। इस अवसर पर समाजवादी पार्टी पिछड़ा प्रकोष्ठ मेरठ व सहारनपुर मंडल प्रभारी जितेंद्र गुर्जर, आशीष सिंह प्रजापति, मनीष शर्मा आदि मौजूद रहे।

07 32

अखिलेश ने हेलीकॉप्टर में योगेश वर्मा, अतुल से की मंत्रणा

मवाना की सभा के बाद पूर्व सीएम अखिलेश यादव अपने हेलीकॉप्टर में अतुल प्रधान व पूर्व विधायक योगेश वर्मा को भी साथ ले गए। दोनों सपा नेताओं से अखिलेश यादव ने हस्तिनापुर को लेकर मंत्रणा की। हस्तिनापुर बेहद महत्वपूर्ण सीट हैं। कहा जाता है जिस भी पार्टी का प्रत्याशी हस्तिनापुर से जीत दर्ज करता है, उसी पार्टी की प्रदेश में सरकार बनती है। इस वजह से भी अखिलेश यादव ने हस्तिनापुर पर पूरा फोकस कर दिया है।

यह बात उन्होंने मंच से भी कहीं तथा सपा सरकार बनने के बाद हस्तिनापुर के विकास के लिए विशेष पैकेज देने का भी वायदा कर दिया। मंच पर सपा नेताओं से बातचीत करने का मौका नहीं मिला, जिसके बाद अखिलेश यादव अतुल प्रधान व पूर्व विधायक योगेश वर्मा को अपने साथ हेलीकॉप्टर में बैठाकर ले गए।

कहा जा रहा है कि इस दौरान अखिलेश यादव ने वेस्ट यूपी के कई राजनीतिक मुद्दों को लेकर भी चर्चा की। अखिलेश यादव जब मवाना पहुंचे तो उनके साथ हेलीकॉप्टर से पूर्व कैबिनेट मंत्री शाहिद मंजूर व यूपी के डिप्टी सीएम रहे नारायण सिंह के पौत्र चंदन चौहान भी उतरे। ये दोनों नेता उनके साथ ही हेलीकॉप्टर से आये।

कृषि कानून किसानों के हित में नहीं: अक्षय यादव

06 33

पूर्व सांसद अक्षय यादव ने कहा कि कृषि कानून किसानों के हित में नहीं हैं। ये तीनों कानून किसानों को बर्बादी की तरफ ले जाएंगे। अक्षय यादव ने गॉडविन होटल में जनवाणी के साथ बातचीत में कहा कि सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव पूरे प्रदेश में किसान महापंचायत भी कर रहे हैं। किसानों में भाजपा के खिलाफ आक्रोश है। उन्होंने कहा कि सपा छोटे दलों के साथ विधानसभा चुनाव में गठबंधन करेगा।

बड़ी पार्टियों से किसी तरह का गठबंधन नहीं किया जाएगा। उन्होंने कहा कि अखिलेश यादव ने सीएम रहते हुए 100 डायल को लागू किया था। इससे क्राइम कंट्रोल हुआ है। सपा ने पहले भी प्रदेश में विकास कराये हैं तथा भविष्य में सपा की सरकार यूपी में बनेगी। फिर से प्रदेश को विकास के रास्ते पर लाया जाएगा।

भाजपा सरकार में कोई विकास नहीं हो रहा है। सपा विधानसभा चुनाव और पंचायत चुनाव की तैयारी में जुटी हुई है। पूर्व एमपी अक्षय यादव मंगलवार की शाम को पूर्व सांसद हरीशपाल के घर पहुंचे। यहां हरीशपाल की भाभी की मृत्यु पर शोक व्यक्त किया तथा उनके परिजनों को ढांढस बढ़ाया।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Recent Comments