Friday, March 5, 2021
Advertisment Booking
Home Uttar Pradesh News Meerut यूपीपीएससी: प्रशांत बने विधि अधिकारी, अमन नायाब तहसीलदार

यूपीपीएससी: प्रशांत बने विधि अधिकारी, अमन नायाब तहसीलदार

- Advertisement -
0
  • गढ़मुक्तेश्वर के अमन ने नायब तहसीलदार के पद पर किया कब्जा

जनवाणी संवाददाता |

मेरठ: उत्तर प्रदेश को नए पीसीएस अफसरों की सौगात मिल गई है। उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग यूपीपीएससी ने बुधवार को पीसीएस 2019 का अंतिम परिणाम घोषित कर दिया है। पीसीएस के 453 पदों के सापेक्ष 434 अभ्यर्थी अंतिम रूप से चयनित हुए हैं। वहीं जिले में दो अभ्यर्थियों ने परचम लहराया है। बता दें कि यूपीपीएससी ने पीसीएस 2019 के तहत 453 पद की भर्ती निकाली थी।

इसमें 388 पद के लिए 28 जनवरी से चार फरवरी तक साक्षात्कार लिया गया था। साक्षात्कार के लिए 811 अभ्यर्थी सफल हुए थे, जबकि सात दिन हुए साक्षात्कार में 808 अभ्यर्थी शामिल हुए थे। साक्षात्कार खत्म होते ही आयोग में अंतिम परिणाम तैयार करने की प्रक्रिया शुरू कर दी गई थी। पीसीएस 2020 का अंतिम परिणाम भी इसी माह जारी कर दिया जाएगा।

इसकी कॉपियों का मूल्यांकन जारी है। पीसीएस 2020 मेंस मुख्य परीक्षा 21 से 25 जनवरी तक प्रयागराज, लखनऊ और गाजियाबाद के 11 केंद्रों पर आयोजित की गई थी। इस भर्ती में 487 पद के सापेक्ष 5139 अभ्यर्थी पंजीकृत थे। अभ्यर्थियों की संख्या कम होने के कारण मूल्यांकन अंतिम दौर पर है।

कुछ दिनों में मूल्यांकन पूरा होने पर उसका भी परिणाम जारी कर दिया जाएगा। मेरठ में दो अभ्यर्थियों अमन और प्रशांत कुमार ने यूपीपीएससी में सफलता हासिल की है। अमन ने नायाब तहसीलदार और प्रशांत ने विधि अधिकारी का पद हासिल किया है।

उधर, वैभव त्यागी उत्तर प्रदेश लोक निर्माण विभाग में विधि अधिकारी बने हैं। इंदिरा नगर ब्रह्मपुरी निवासी वैभव त्यागी के पिता वीरेंद्र रत्नम आर्य प्रतिनिधि सभा उत्तर प्रदेश के प्रधान हैं। वैभव त्यागी ने वर्ष 2012 में चौधरी चरण विवि से रसायन शास्त्र में पीएचडी की उपाधि प्राप्त की है।

यूपीएससी की करनी है तैयारी

शास्त्रीनगर निवासी प्रशांत कुमार ने यूपीपीएसी में परचम लहराया और पीडब्ल्यूडी में विधि अधिकारी की पोस्ट हासिल की है। प्रशांत ने सिविल एकेडमी से कोचिंग की थी और उसके बाद घर में पांच से छह घंटे तक पढ़ाई की। प्रशांत के परिवार में माता-पिता और तीन भाई बहन है। प्रशांत के पिता प्रकाश चंद सेवानिवृत्त अधिकारी है। प्रशांत आगे यूपीएससी की परीक्षा देना चाहते हैं, जिसकी तैयारी में वह लग गए है।

आईएएस बनना है सपना

गढ़मुक्तेश्वर निवासी अमन कुमार ने यूपीपीएसी परीक्षा परिणाम में सफलता हासिल कर नायाब तहसीलदार की पोस्ट हासिल की है। अमन ने बताया कि उन्होंने यह मुकाम परिवार की सर्पोट से हासिल किया है और अमन ने आमात्य से कोचिंग भी की है। घर में रहकर आठ घंटे पढ़ाई की है। उनके पिता मदनपाल बैंक में कार्यरत है। परिवार में चार बहनें और एक भाई है। आगे मेरा आईएएस बनने का लक्ष्य है।

What’s your Reaction?
+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments