Sunday, April 21, 2024
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsMeerutअजब-गजब: 10वीं पास बना दिए अवर अभियंता

अजब-गजब: 10वीं पास बना दिए अवर अभियंता

- Advertisement -
  • टीजी-टू (टेक्नीशियन ग्रेड दो) से जेई के प्रमोशन की लिस्ट में बड़ी संख्या नॉन टेक्निकल की
  • राज्य विद्युत परिषद प्राविधिक कर्मचारी संघ के विरोध के चलते प्रमोशन में फंसा पेंच

जनवाणी संवाददाता |

मेरठ: पावर कारपोरेशन में करीबियों व चहेतों के प्रमोशन की आपाधापी में अवर अभियंता बनने वालों में कई नाम ऐसे भी हैं जिनकी तालीमी काबलियत महज दसवीं है। इतना ही नहीं टीजी-टू से जई का प्रमोशन पाने वालों में कई नाम ऐसे भी हैं जो नॉन टेक्निकल थे उनके नाम भी प्रमोशन सूची में नजर आ रहे हैं।

इस मामले का खुलासा होने के बाद अब राज्य विद्युत परिषद प्राविधिक कर्मचारी संघ ने इसका जब विरोध किया तो पेंच फंस गया। जानकारों का कहना है कि सबसे ज्यादा परेशान वो हैं जिन्होंने तमाम हथकंडेÞ अपनाकर प्रमोशन पाया है और दूसरे परेशान वो हैं जिन्होंने ऐसों का प्रमोशन कर दिया जो डिजर्व नहीं करते थे।

शुरू से रहा है विवाद

उत्तर प्रदेश पावर कारपोरेशन में टीजी-टू से अवर अभियंता के प्रमोशन का मामला पहले दिन से ही विवादों में रहा है। इस विवाद की शुरुआत तब हुई तब प्रमोशन के लिए भेजी गयी सूची में ऐसे लोगों के नाम शामिल कर दिए गए जो इस दुनिया में ही नहीं है। इसके अलावा ऐसे भी नाम थे जो अरसे से लापता हैं और सबसे चौकाने वाले नाम उनके थे जिन्होंने प्रमोशन लेने से ही मना कर दिया था। अब नया खुलासा 10वीं पास को अवर अभियंता बनाए जाने को लेकर हुआ है।

हो-हल्ला शुरू

राज्य विद्युत परिषद प्राविधिक कर्मचारी संघ का आरोप है कि जिस प्रकार से टीजी-टू को प्रमोशन देकर अवर अभियंता बनाया गया है उनको स्वीकार्यता नहीं दी जा सकती। एक पदाधिकारी राजीव गुप्ता पहले ही कह चुके हैं कि जो साल 2013 में भर्ती हुए थे नियमानुसार उनका सेवा काल देखते हुए स्वत: ही उन्हें अवर अभियंता का प्रमोशन दे दिया जाना चाहिए था, लेकिन ऐसा नहीं किया गया। वहीं दूसरी ओर इस संबंध में प्रदेश अध्यक्ष सीबी उपाध्याय ने ऊर्जा मंत्री को भेजे गए पत्र में टीजी-टू से अवर अभियंता के प्रमोशन में खेल के आरोप लगाते हुए जांच की मांग की है।

कुछ पदाधिकारियों का आरोप है कि वर्तमान में 40 फीसदी कोटे में 451 पद के सापेक्ष तीन गुना यानि 1353 की पात्रता सूची बनायी गयी है, लेकिन इस सूची में कई ऐसे नाम शामिल कर लिए गए हैं। नियमानुसार जो शामिल किए ही नहीं जा सकते थे। इसको लेकर कर्मचारियों में जबरदस्त आक्रोश है। उल्लेखनीय है कि इसी प्रकार का फसाद तब हुआ था जब जनवाणी से सबसे पहले मृतक कर्मचारियों के नाम पात्रता सूची में शामिल करने की खबर को प्रमुखता से प्रकाशित किया था। जनवाणी के उस खुलासे के बाद मेरठ से लेकर लखनऊ तक के अफसरों में हड़कंप मच गया था।

मेरठ में यहां विक्टोरिया पार्क स्थित ऊर्जा भवन में बैठने वाले उच्च पदस्थ अधिकारियों को आनन-फानन में सफाई देनी पड़ गयी थी और कहा था कि लिपिक गलती के चलते जिन मृतक कर्मचारियों के नाम पात्रता सूची में शामिल कर लिए गए हैं उनकों बाहर किया जाएगा, लेकिन उत्तर प्रदेश पावर कारपोरेशन में अब टीजी-टू से अवर अभियंता के प्रमोशन की पात्रता सूची को लेकर ताजा फसाद 10वीं पास के नामों को लेकर सामने आ गया है।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Recent Comments