Thursday, April 25, 2024
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsMeerutएएनआई के पत्रकार को जमीन पर गिराकर पीटा

एएनआई के पत्रकार को जमीन पर गिराकर पीटा

- Advertisement -
  • मेडा कर्मियों ने की अराजकता की सारी हदें पार

जनवाणी संवाददाता |

मेरठ: एएनआई के पत्रकार रवि गुप्ता को मेरठ विकास प्राधिकरण (मेडा) कर्मियों ने जमीन पर गिराकर खूब लात-घूसों से पीटा। अमर उजाला के फोटोजर्नलिस्ट नीटू का कैमरा भी इस दौरान टूट गया। ये सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गया। मेडा कर्मियों की गुंडई साफ दिखाई दी। ऐसा पहली बार नहीं हुआ, बल्कि इससे पहले तत्कालीन वीसी योगेन्द्र यादव के सामने भी इन्हीं प्राधिकरण कर्मियों ने अराजकता पेश की थी, जिन्होंने एएनआई के पत्रकार को पीटा।

दरअसल, एक तथाकथित पत्रकार साकिब से मेडा कर्मी भिड़ गए थे। उसे मेडा के मुख्य गेट से खींचकर भीतर की तरफ कर्मचारी ले जा रहे थे और उसकी पिटाई कर रहे थे। एएनआई के वरिष्ठ पत्रकार रवि गुप्ता और अमर उजाला के फोटोजर्नलिस्ट नीटू भी उस दौरान सड़क से होकर जा रहे थे, तभी भीड़ देखकर उन्होंने अपनी बाइक रोक ली तथा जो मारपीट मेडा कर्मी कर रहे थे, उसको कैमरे में कैद करने लगे।

भीड़ ने साकिब को तो छोड़ दिया एएनआई के पत्रकार रवि को दबोच लिया और उसे जमीन पर गिरा लिया तथा लात-घूसों से उस पर हमला बोल दिया। इस दौरान नीटू का कैमरा भी टूट गया। ये सब कैमरे में कैद हो गया। मेरठ विकास प्राधिकरण में एक तरह से ये अराजकता का माहौल था, सीनियर पत्रकार को जमीन पर गिराकर पीटा गया। इससे स्पष्ट है कि किस तरह से मेडा कर्मचारी बेलगाम हो गए हैं।

पत्रकार पर हमला करने वाले मेडा कर्मचारी पहले भी जेल जा चुके हैं तथा फिर से हमला कर दिया। ये कर्मचारियों का दुस्साहस ही कहा जाएगा, जिससे सरकार की छवि भी खराब हो रही हैं। रवि गुप्ता ने सिविल लाइन थाने में हमलावर मेडा कर्मियों के खिलाफ तहरीर देकर मुकदमा दर्ज करने की मांग की हैं। साकिब नामक व्यक्ति ने भी सिविल लाइन थाने में तहरीर दी हैं। उधर, मेडा के क्लर्क महेश महतो की तरफ से भी एक तहरीर दी गई,

जिसमें कहा है कि साकिब ने उनकी फाइल फाड़ी और वहां से भाग निकला। सरकारी कार्य में बाधा उत्पन्न की। प्राधिकरण उपाध्यक्ष अभिषेक पांडेय ने एएनआई के पत्रकार रवि पर हुए हमले की घटना पर खेद जताया हैं तथा कहा कि इस मामले में हमला करने वाले मेडा कर्मियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। साथ ही उन्होंने बताया कि साकिब नामक व्यक्ति पर रंगदारी समेत कई मुकदमें पहले भी दर्ज हैं। उसके खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया जा रहा हैं।

संघ प्रचारक का हमलावर पुलिस ने दबोचा

मेरठ: गाजियाबाद के संघ प्रचारक शुभम गोयल व उनके दो अन्य साथियों पर जानलेवा हमला करने के आरोपी को लिसाड़ीगेट पुलिस ने देर रात दबोच लिया है। हालांकि उसके कई अन्य फरार चल रहे साथियों की सरगर्मी से तलाश की जा रही है। बताया गया है कि सीसीटीवी फुटेज के आधार पर इस युवक को पकड़ा है। थाने में पुलिस इससे सख्ती से पूछताछ कर रही है। उम्मीद की जा रही है कि इसके बाकि फरार साथियों को भी शीघ्र पकड़ लिया जाएगा। यह पूरा मामला चार दिन पुराना है। ज

ब गाजियाबाद नगर के संघ प्रचारक शुभम गोयल व उनके दो अन्य साथी एक विवाह समारोह में शामिल होने के लिए मेरठ आ रहे थे। जब वो लिसाड़ीगेट थाना के कांच का पुल के पास से गुजर रहे थे, उसी दौरान आगे निकलने के प्रयास में स्कूटी सवार कुछ युवकों से उनकी कहासुनी हो गयी थी। कहासुनी के बाद युवकों ने अपने कुछ अन्य साथी भी बुला लिया। उन्होंने संघ प्रचारक पर हमला बोल दिया। उनकी गाड़ी भी क्षतिग्रस्त कर दी।

संघ प्रचारक ने मेरठ स्थित आरएसएस के पदाधिकारियों को घटना की जानकारी दी। उन्होंने सीधे एसएसपी से बात की। एसएसपी के निर्देश पर तीन थानों की पुलिस मौके पर पहुंच गयी। हालांकि तब तक हमलावर फरार हो चुके थे। लिसाडीगेट पुलिस शुभम से मारपीट करने वालों की तलाश में लगी थी। हालांकि अभी एक ही हत्थे पर चढ़ा है।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Recent Comments