Sunday, February 25, 2024
HomeUttar Pradesh NewsMeerutनिराश्रित गोवंश संरक्षण को चलाया जाए जागरूकता अभियान: धर्मपाल

निराश्रित गोवंश संरक्षण को चलाया जाए जागरूकता अभियान: धर्मपाल

- Advertisement -
  • प्रभारी मंत्री ने सर्किट हाउस में अधिकारियों के साथ की बैठक, जनप्रतिनिधियों से भी की मुलाकात

जनवाणी संवाददाता |

मेरठ: शुक्रवार को सर्किट हाउस में जनपद के प्रभारी मंत्री धर्मपाल सिंह ने अधिकारियों के साथ बैठक की। जिसमें प्रभारी मंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री को देश के किसान, महिला, युवा और गरीब का विशेष ध्यान रहता है। इस बात को ध्यान में रखते हुए ही नीतियां बनाई गई है, जिसका लाभ समाज को हो रहा है। उन्होंने निराश्रित गोवंश, पशु टीकाकरण सहभागिता योजना की समीक्षा की। निराश्रित गोवंश के संरक्षण के लिए ज्यादा से ज्यादा लोगों को जागरूक किया जाए, ताकि लोग गोवंश को सड़कों पर न छोड़ें।

पशुपालन विभाग के माध्यम से भेड़ पालन, बकरी पालन, सूअर पालन, मत्स्य पालन जैसी लाभकारी योजनाएं चलाई जा रही हैं। इन योजनाओं का व्यापक प्रचार प्रचार किया जाए। प्रभारी मंत्री ने एसपी ट्रैफिक को नगर निगम के साथ मिलकर सड़क पर अतिक्रमण को हटाने के लिए अभियान चलाने के निर्देश दिए गए। उन्होंने संबंधित अधिकारी को बंबा पुल के पास पुलिया व सड़क निर्माण तथा भूमिया पुल के पास बन रहे नाले के निर्माण कार्य में तेजी लाए जाने के निर्देश दिए।

इस अवसर पर भाजपा जिलाध्यक्ष शिवकुमार राणा, महानगर अध्यक्ष सुरेश जैन ऋतुराज, पूर्व दर्जा प्राप्त राज्य मंत्री सुनील भराला समेत विभिन्न पार्टी पदाधिकारी और जनप्रतिनिधि मौजूद रहे। अधिकारियों में जिलाधिकारी दीपक मीणा, एसएसपी रोहित सिंह सजवाण, मेडा उपाध्यक्ष अभिषेक पांडे, एसपी ट्रैफिक राघवेंद्र मिश्रा सहित अन्य संबंधित अधिकारीगण उपस्थित रहे।

प्रभारी मंत्री ने सुनी पार्टी नेताओं की समस्या, दिया निस्तारण का आश्वासन

06

शुक्रवार को प्रभारी मंत्री धर्मपाल सिंह ने सर्किट हाउस में जनप्रतिनिधियों व महानगर पदाधिकारियों के साथ बैठक की। इस अवसर पर महानगर अध्यक्ष सुरेश जैन ऋतुराज के नेतृत्व में महानगर पदाधिकारियों ने प्रभारी मंत्री का जोरदार स्वागत किया। धर्मपाल सिंह ने कार्यकर्ताओं को सम्बोधित करते हुए कहा कि भारतीय जनता पार्टी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में भारत को विकसित करने व देश की संस्कृति को विश्व पटल पर स्थापित करने में निरंतर आगे बढ़ रही है। अयोध्या में श्री राम मंदिर की स्थापना करना इसका जीता जागता उदाहरण है।

महानगर के विकास को लेकर चर्चा

इसके बाद प्रभारी मंत्री धर्मपाल सिंह ने प्रशासनिक अधिकारियों डीएम दीपक मीणा, एसएसपी रोहित सजवाण, मेडा उपाध्यक्ष अभिषेक पांडे, महानगर अध्यक्ष सुरेश ऋतुराज जैन व जिलाध्यक्ष शिवकुमार राणा के साथ जनपद के विकास को लेकर विस्तार से चर्चा की, जिसमें एलिवेटेड रोड, ज्वेलरी के लिए वेदव्यासपुरी में स्थान, इंडस्ट्रियल लैंड, मेरठ की स्वच्छता व्यवस्था, मुख्य रूप से नलों की सफाई, अपराध मुक्त शहर, ट्रैफिक जाम से छुटकारा, जिला

और भाजपा कार्यकर्ताओं के लिए प्रशासनिक अधिकारियों को निर्देशित किया कि भाजपा का कार्यकर्ता पार्टी की रीढ़ है। उसको तबज्जो दी जाये, उसकी समस्या का तत्काल निवारण किया जाये। इस मौके पर महानगर नगर अध्यक्ष सुरेश जैन ऋतुराज, जिलाध्यक्ष शिवकुमार राणा, व्यापार प्रकोष्ठ प्रदेश अध्यक्ष विनीत अग्रवाल शारदा, राज्यमंत्री सुनील भराला, चिकित्सा प्रकोष्ठ महानगर अध्यक्ष आशु मित्तल, विवेक रस्तोगी, मीडिया प्रभारी अमित शर्मा, सुनील भराला, राजकुमार कौशिक आदि मौजूद रहे।

ज्वेलरी पार्क के लिए उचित मूल्य और आसान किस्तों पर मिले जमीन

मेरठ बुलियन ट्रेडर्स एसोसिएशन की ओर से मेरठ के प्रभारी मंत्री धर्मपाल सिंह को एक पत्र प्रेषित किया गया। जिसमें वेदव्यास पुरी में प्रस्तावित ज्वेलरी पार्क के निर्माण के दौरान तय की गई दरों में कटौती करने और सात साल के लिए किस्त का प्रावधान करने की मांग उठाई गई है। अध्यक्ष प्रदीप अग्रवाल और महामंत्री विजय आनंद अग्रवाल की ओर से दिए गए पत्र में अवगत कराया गया कि इससे पहले भी ज्वेलरी पार्क के निर्माण के संबंध में हुए पत्र लिख चुके हैं। कहा गया कि मेरठ में ज्वेलरी पार्क के निर्माण के लिए मेरठ विकास प्राधिकरण की ओर से वेदव्यास पुरी में एक भूखंड 40 हजार वर्ग मीटर (लगभग 10 एकड़ भूखंड) ज्वेलर्स के लिए प्रस्तावित किया गया है

। अग्रवाल का कहना है कि इसकी वर्तमान दर काफी अधिक है। ज्वेलरी पार्क की स्थापना के लिए इन दरों पर भूमि क्रय करना उनके लिए अत्यंत ही कठिन कार्य है। प्रभारी मंत्री के माध्यम से उन्होंने प्रदेश सरकार से मांग की, कि प्रस्तावित भूखंड को रियायती दरों पर कम से कम सात वर्षों की आसान किस्तों में भुगतान सुविधा के साथ ज्वेलर्स को उपलब्ध कराई जाए। ताकि वे इस भूखंड पर ज्वेलरी पार्क, फ्लैटेड फैक्ट्री काम्प्लेक्स का निर्माण कर सकें। एवं इसके द्वारा मेरठ के हस्तशिल्प ज्वेलरी उद्योग को संरक्षित करते हुए, मेरठ में कार्यरत लगभग 50000 स्वर्णकारों को, इस उद्योग से पलायन करने से रोक सकें। साथ ही इस बहुउद्देशीय ज्वेलरी पार्क, फ्लैटेड फैक्ट्री कांप्लेक्स से प्रदेश सरकार के राजस्व में भी जीएसटी के माध्यम से अभिवृद्धि कर सकें।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Recent Comments