Sunday, May 26, 2024
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsMeerutबिगड़ा मौसम: जिले में गेहूं फसल कटाई में आई तेजी

बिगड़ा मौसम: जिले में गेहूं फसल कटाई में आई तेजी

- Advertisement -
  • मौसम खराब होते ही किसानों ने खेतों में रखी फसलों को समेटा
  • एकदम बदले मौसम से किसानों की पेशानी पर बल

जनवाणी संवाददाता |

मेरठ: पूरवा हवा चलने के संग मौसम बिगड़ने के अंदेशे से किसानों ने गेहूं कटाई के लिए दरांती की रफ्तार बढ़ा दी है। इतनी ही नहीं गेहूं कटाई के फौरन बाद काश्तकार निकासी को तवज्जो दे रहे हैं। बहुत से किसान तो ऐसे हैं जो भूसा भी साथ के साथ ढो रहे हैं। क्योंकि अक्सर अप्रैल माह में मौसम पलटी मारता रहा है, इसलिए किसानों को डर है कि अगर बरसात हुई तो मेहनत पर पानी फिर जाएगा। कटी हुई फसल में बरसात से काफी नुकसान होता है। दाने की चमक फीकी पड़ जाती है। मंडी में गेहूं के खरीदार नहीं मिलते। कृषि विभाग के अधिकारियों के मुताबिक जिले में गेहूं कटाई का कार्य तेजी पर है।

किसान गेहूं की फसल को सहेजने में जुटे

वर्तमान में गेहूं की कटाई का कार्य जोरों पर चल रहा है। किसान परिवार के साथ दिन-रात फसल को सहेजने में जुट गए हैं। जिससे मौसम के खराब होने से पहले ही अनाज को घर लाया जा सके। पिछले कुछ दिनों से मौसम में लगातार उतार-चढ़ाव देखने को मिल रहा है। इतना ही नहीं पिछले कुछ दिनों से चल रही पुरवईया हवा के कारण अधिकांश गेहूं की फसल पक गई है।

फसल के पकने के बाद किसानों ने भी कटाई का कार्य जोरों से शुरू कर दिया है। किसान परिवार फसल को सहेजने दिन-रात खेत पर ही गुजार रहे हैं। वहीं काफी किसान मजदूरों के सहारे अपनी फसल की कटाई करा रहे हैं। मजदूरों के साथ-साथ कुछ किसान तो आधुनिक तरीकों से गेहूं की कटाई का कार्य करा रहे हैं। उनके द्वारा मशीनों का प्रयोग किया जा रहा है। यह मशीनें गेहूं की कटाई के साथ-साथ पूले भी बांध रही है।

ऐसे में किसानों का कार्य जहां आसान हो रहा है। हालांकि क्षेत्र के किसान कंबाइन का सहारा नहीं ले रहे हैं। क्योंकि कंबाइन से कटाई कराने के बाद भूसा बनने में दिक्कत आती है। ऐसे में पशुपालन करने वाले अधिकांश किसान हाथों या फिर पूले बांधने वाली मशीन का सहारा ही गेहूं की कटाई के लिए ले रहे हैं।

किसानों की बढ़ी चिंता

मौसम में हुए परिवर्तन ने किसानों की चिंता बढ़ा दी है। मंगलवार को दिन भर छाए रहे बादल के कारण किसान परेशान हैं। क्षेत्र में अधिकांश किसानो की गेहूं चना की फसलें पूरी तरह से पककर तैयार है और कटाई कार्य तेजी से चल रहा है। वहीं कई किसानों ने गेहूं, चना, लहसुन की कटाई कर निकल कर अनाज को धूप में सुखाने के लिए अभी तक खलिहानों में रखा है।

वही एकदम मंगलवार को बदले मौसम के चलते किसानों की चिंता और बढ़ा दी है। ग्रामीण अंचलों व गांव में किसानों के खेतों में इन दिनों फसल कटाई का कार्य चल रहा है। एकदम बदले मौसम के बाद किसानों ने फसल कटाई कार्य में तेजी ला दी। खेत खलियान में हार्वेस्टर मशीन से बड़ी तेजी से गेहूं की फसल कटाई कार्य चल रहा है। किसान चिंतित है कि यदि बारिश हुई तो फसल प्रभावित होगी। बदलते मौसम को देखते हुए किसानों ने बताया कि बारिश होने पर गेहूं की फसल में कलर खराब होने की चिंता व उत्पादन पर भी असर पड़ेगा।

अचानक खराब हुए मौसम को देखते हुए मंगलवार को दिन भर खलियानों में हलचल बढ़ी रही। जहां मंगलवार को बारिश जैसे मौसम को देखते हुए खुले में पड़ी उपज को किसानों ने तिरपाल से ढका और खुले में पड़ी फसलों को समेटने का काम दिनभर किया। गांव में कई जगह खलियानों में रखी फसल को किसान घर लाए तो कोई मंडी की ओर ले गए। मंगलवार को दिन भर तेज हवा चलती रही और बादल छाए रहे।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
2
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Recent Comments