Wednesday, February 21, 2024
Homeसंवादरविवाणीमां का होना मुकम्मल कर देता है

मां का होना मुकम्मल कर देता है

- Advertisement -

RAVIWANI


26 5कौन सी है वो चीज जो यहां नहीं मिलती/सब कुछ मिल जाता है पर मां नहीं मिलती। मां दुनिया का सबसे प्यारा शब्द है। मां शब्द उस भाव का परिचायक है जो नि:स्वार्थ भाव से प्रेम लुटाती है। मां से ही इस संसार का अस्तित्व है। मां का प्यार एक सफेद रोशनी है, जिसमे बच्चों की किलकारियां एक संगीत बनकर गूंजती है। एक मां ही है जो हमारे लिए ईश्वर का सबसे कीमती और नायाब तोहफा होती है। बारबरा किंगसोलवर ने कहा है-‘कभी-कभी मातृत्व की ताकत, इस प्रकृति के कानूनों से अधिक होती है।’

मां हमें हर तरह की मुश्किलों से उबार लेती है। मां हमें जीने की नई राह सिखाती है। अपने बच्चों के लिए भयंकर से भयंकर तूफान से भी टकरा जाती है। मां होती है तब हमें किसी बात की कोई चिंता नहीं रहती है। एक बच्चे के लिए मां से बढ़कर और कोई प्रिय नहीं होता है। मिच ऐल्बम ने कहा है-‘जब आप अपनी मां की आंखों में देखते हैं, तो आपको पता चलेगा कि यह इस धरती पर मिलने वाला सबसे शुद्ध प्रेम है।’

मां से ही हमें प्यार की अनुभूति प्राप्त होती है। जो प्यार हमें मां से प्राप्त होता है वह और कहीं से भी नहीं हो सकता है। माता हम सभी को बिना कुछ पाने के बदले में ताउम्र अपना प्रेम लुटाती रहती है। इस दौरान वह हर तरह की पीड़ा को सहन कर लेती है। वह एक शब्द भी अपने बच्चे के खिलाफ नहीं बोलती है। मैरियन सी गैरेटी ने कहा है-‘मां का प्यार वह ईंधन है, जो एक सामान्य इंसान को असंभव काम करने में सक्षम बनाता है।’

लोगों के जीवन में सबसे अहम किरदार सिर्फ़ मां का ही होता है। मां का रिश्ता केवल मां ही निभा सकती है। मां के बिना जीवन की उम्मीद नहीं की जा सकती। अगर मां न होती तो हमारा अस्तित्व ही न होता। इस दुनिया में मां दुनिया का सबसे आसान शब्द है मगर इस नाम में भगवान खुद वास करते हैं। रुडयार्ड किपलिंग ने कहा है-‘भगवान हर जगह नहीं हो सकता है, और इसलिए उसने मां को बनाया।’

मां, खुदा का दिया वह अनमोल तोहफा है, जो बिना हमारे कुछ बताए भी हमारी मन की सारी बातें जान लेती है, जिसने परवरिश देने का कोई प्रशिक्षण नहीं लिया, लेकिन उसकी परवरिश का तरीका सबसे बेहतर है। वो दुनिया की हर तकलीफ से हमें दूर रखती है। कई बार खुद आधा पेट खाकर हमारा पेट भरती है तो कई बार खुद गीले बिस्तर पर सोकर हमारी नींद पूरी करवाती है। हमेशा, दिन-रात की परवाह किये बिना, घड़ी के काँटों की तरह अनवरत चलती रहती है। फिर भी, उसके लबों पर कोई शिकायत नहीं होती।

बिना चेहरे पर कोई शिकन लाए वह सबकी फरमाइशें पूरी करती रहती है। एक शायर ने लिखा है-मेरी हर कोशिश को खुदा सफल कर देता है/मेरी मां का होना मुझे मुकम्मल कर देता है।

हमारे जीवन की पहली शिक्षिका मां ही होती है। हमारे अंदर सुसंस्कार का बीज सर्वप्रथम परिवार में पड़ता है और इसमें मां की भूमिका सबसे अहम होती है। वो हमें सही-गलत में भेद करना सिखाती है। वह हमारी सबसे बड़ी हमदर्द और सबसे अच्छी साथी होती है। उसका साथ हमें बड़े से बड़े तूफान का सामना करने के योग्य बनाता है। मां एक सच्ची मार्गदर्शक के रूप में हमेशा हमारे साथ रहती है।

वह हमें सही और गलत में अंतर करना सिखाती है। वह त्याग की प्रतिमूर्ति होती है। अपने बच्चों के लिए वह अपनी बड़ी से बड़ी खुशियां भी कुर्बान कर देती है। अपने औलाद की बेहतरी के लिए वह खुशी-खुशी सारे त्याग कर जाती है। जब भी कभी कोई मुसीबत पड़ती है उस वक़्त हमारी रक्षा को वह ढाल बनकर हमारे सामने खड़ी हो जाती है।

कई बार सबकी खुशियों और फरमाइशों को पूरा करते-करते वह खुद के स्वास्थ्य के साथ भी समझौता कर जाती है, जो कि गलत बात है। इसलिए हमें भी चाहिए कि उनका खयाल रखें। चाहे कितनी भी व्यस्त दिनचर्या हो, वक़्त निकाल कर उनसे बाते करें, उनकी पसंद-नापसंद को जाने। उनके साथ वक़्त बिताएं। उन्हें कभी भी अकेला महसूस न होने दें। बीच-बीच मे उनके लिए कुछ ऐसा भी करे कि उन्हें खास महसूस हो।

कुछ भी करके उनके त्याग और ममता का कर्ज नही उतारा जा सकता मगर अपने छोटे-छोटे प्रयासों से हम उनकी जिंदगी मे खुशियाँ बना कर जरूर रख सकते हैं। मुनव्वर राणा ने कहा है-चलती फिरती हुई आंखों से अजां देखी है/मैंने जन्नत तो नहीं देखी है पर मां देखी है।


janwani address 5

What’s your Reaction?
+1
0
+1
1
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Recent Comments