Tuesday, October 19, 2021
- Advertisement -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
- Advertisement -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
HomeUttar Pradesh NewsShamliभीम आर्मी चीफ की दस्तक की संभावना से अलर्ट रही फोर्स

भीम आर्मी चीफ की दस्तक की संभावना से अलर्ट रही फोर्स

- Advertisement -
  • अस्थाई जेल में भीम आर्मी कार्यकर्ताओं की पिटाई की जांच

जनवाणी ब्यूरो |

शामली: थानाभवन की अस्थाई जेल में भारत बंद के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, अंबानी तथा अंडानी का पुतला फुंकने वाले 14 कार्यकर्ताओं की बर्बरता पूर्वक पिटाई करने का मामला भीम आर्मी भारत एकता मिशन के संरक्षक चंद्रशेखर तक पहुंच गया।

बुधवार को चंद्रशेखर तथा सहारनपुर के जिलाध्यक्ष के दल-बल के साथ शामली पहुंचने की अटकलों के चलते थानाभवन में एएसपी तथा पुलिस क्षेत्राधिकारी डेरा डाले रहे। दूसरी ओर, एडिशनल एसपी जेल में भीम आर्मी कार्यकर्ताओं की पिटाई की जांच कर रहे हैं। उनके द्वारा रिपोर्ट पुलिस अधीक्षक को भेजी जाएगी।

कस्बा जलालाबाद में मंगलवार को भारत बंद के दौरान सुबह के समय पुलिस चेकपोस्ट के सामने भीम आर्मी के दर्जनभर कार्यकर्ता प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, अंबानी-अडानी का पुतला फूंककर भाग गए थे। सूत्रों के अनुसार, पुतला फुंकने के बाद ये कार्यकर्ता शामली शहर के अजंता चौक पर चल रहे धरने पर पहुंच गए थे, जहां से इनको नजरबंद कर लिया गया था।

उसके बाद इन सभी को कस्बा थानाभवन के अर्पण पब्लिक स्कूल में बनाई अस्थाई जेल में बंद कर दिया गया था। यहां सपा-रालोद के कार्यकर्ता भी नजरबंद थे। रात्रि में भीम आर्मी के कार्यकर्ताओं को अन्य नजरबंदियों से अलग कर कमरे में ले जाकर पुलिस बर्बरतापूर्वक पीटा था।

इसका खुलासा उस समय हुआ था जब रात्रि करीब 8.30 बजे युवा रालोद नेता डा. विक्रांत जावला तथा सपा नेता पूर्व मंत्री किरणपाल कश्यप की वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुई। इन दोनों नेताओं ने भीम आर्मी के कार्यकर्ताओं बर्बरता से पिटाई करने तथा कार्यकर्ताओं की चीखें सुनकर वहां जाने के आरोप लगाए थे। इसके बाद सपा-रालोद नेताओं ने अपने कार्यकर्ताओं से रात्रि में ही थानाभवन में अस्थाई जेल पर पहुंचने का मैसेज भी वायरल कर दिया था।

जिस पर सपा-रालोद नेताओं को तो जेल से रिहा कर दिया गया था लेकिन भीम आर्मी के कार्यकर्ताओं को जेल में ही रखा गया था। इसकी जानकारी थानाभवन से एक कार्यकर्ता ने पूर्व विधायक राव अब्दुल वारिस को दी जिस पर पूर्व विधायक ने एएसपी तथा सीओ सिटी के संज्ञान में मामला लाया गया। साथ ही, मामले से भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर तथा सहारनपुर के जिलाध्यक्ष कमल वालिया को मामले से अवगत कराया।

इसके बाद एएसपी राजेश कुमार श्रीवास्तव तथा सीओ सिटी अस्थाई जेल पहुंचे तथा रात्रि करीब 10 बजे भीम आर्मी के कार्यकर्ताओं को अस्थाई जेल से रिहा कराया। एएसपी ने बताया कि अस्थाई जेल में भीम आर्मी के कार्यकर्ताओं की पिटाई की उनके स्तर से जांच की जा रही है।

पूर्व विधायक राव अब्दुल वारिस ने बताया कि बुधवार को अस्थाई जेल में भीम आर्मी पदाधिकारियों की बर्बरता पूर्वक पिटाई के मामले में भीम आर्मी के सहारनपुर जिलाध्यक्ष कमल वालिया, शामली जिलाध्यक्ष अनुज भारती, जिला प्रभारी रजनीश गौतम आदि के सीओ सिटी प्रदीप सिंह से मिलने का समय तय किया गया था। लेकिन ऐनवक्त पर वार्ता को स्थगित कर दिया।

दूसरी ओर, भीम आर्मी के कार्यकर्ताओं को अस्थाई जेल पिटाई करने के मामले में जहां बुधवार को भीम आर्मी जिलाध्यक्ष अनुज भारती को उसके घर पर नजरबंद कर दिया गया, वहीं भीम आर्मी चीफ चन्द्रशेखर तथा सहारनपुर जिलाध्यक्ष कमल वालिया के जलालाबाद आने की अटकलों के चलते पुलिस-प्रशासन में बेचैनी देखी गई। साथ ही, जलालाबाद को छावनी में तब्दील कर दिया गया। एएसपी राजेश कुमार श्रीवास्तव तथा पुलिस क्षेत्राधिकारी थानाभवन में डेरा डाले रहे।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
1
+1
1
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Leave a Reply

- Advertisment -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img

Most Popular

- Advertisment -spot_img

Recent Comments