Wednesday, September 22, 2021
- Advertisement -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
- Advertisement -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
HomeDelhi NCRनई सोच के साथ नये भारत का निर्माण करें: पीएम मोदी

नई सोच के साथ नये भारत का निर्माण करें: पीएम मोदी

- Advertisement -
  • आईआईटी दिल्ली के दीक्षांत समारोह में छात्रों से बोल रहे थे प्रधानमंत्री

जनवाणी ब्यूरो |

नई दिल्ली: कोरोना काल में सब कुछ बदल गया, देश एक बड़े संकट के दौर से गुजर रहा है। नई पीढ़ी के हाथ में देश एक नए भविष्य का इंतजार कर रहा है। जरूरत सिर्फ और सिर्फ एक नई सोच और एक नए इनोवेशन की है। कई क्षेत्रों में अपार संभावनाएं हैं। आप सभी आगे आएं और भारत के निर्माण में हाथ बंटाएं। देशवासी पलकें बिछाए आपका इस्तकबाल करने की इंतजारी में हैं।

शनिवार को उक्त बातें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आईआईटी दिल्ली के 51वें दीक्षांत समारोह के दौरान बतौर मुख्य अतिथि कही हैं। इस कार्यक्रम में प्रधानमंत्री वर्चुअल तौर पर शामिल होकर छात्रों को संबोधित कर रहे हैं। समारोह फिजिकल इन-पर्सन और हाइब्रिड मोड में आयोजित हो रहा है। पीएम मोदी ने छात्रों को आगे आकर देश के लिए नए नए इनोवेशन करने का आह्वान किया है।

मुख्य बातें

  • कोरोना काल ने बहुत कुछ बदल दिया है, इस सकंट के काल में हमें नई सोच की जरूरत है।
  • छात्रों के पास आज तकनीक सीखने का मौका है। कृषि और स्पेस क्षेत्र में भी नई संभावनाएं सामने आ रही हैं।
  • पीएम ने छात्रों से कहा कि आपका मकसद समाज को आगे ले जाना और उसकी भलाई होनी चाहिए।
  • नई शताब्दी में नए संकल्प और नए कानून होने चाहिए।
  • बीपीओ सेक्टर में कई बदलाव हुए हैं जिससे नई संभावनाएं सामने आई हैं।
  • आज स्टार्टअप को अनेक प्रकार की मदद दी जा रही है। 3 साल के लिए डेब्ट एक्सेंपशन दिया जा रहा है।

आप जब यहां से जाएंगे तो आपको भी नए मंत्र को लेकर काम करना होगा। आप यहां से जाएंगे तो आपका एक मंत्र होना चाहिए- फोकस ऑन क्वालिटी, नेवर कॉम्प्रोमाइज, एंस्योर स्केलेबिलिटी मेक योर इनोवेशन वर्क एट ए मास स्केल, एंस्योर रियाबिलिटी, बिल्ट लॉन्ग टर्म ट्रस्ट इन द मार्केट, ब्रिंग इन एडाप्टेबिलिटी, बी ओपन टू चेंज एंड एक्सपेक्ट अनसर्टेनिटी वे ऑफ लाइफ। अगर, आप इन मूलमंत्रों पर काम करेंगे तो इसकी चमक ब्रांड इंडिया में भी छलकेगी।

कैंपस में पारंपरिक तरीके से कार्यक्रम में छात्र और परेंट्स ऑनलाइन जुड़े। दीक्षांत समारोह में शैक्षणिक सत्र 2019-20 से पासआउट होने वाले बीटेक, एमटेक और पीएचडी प्रोग्राम के छात्रों को डिग्री मिली। प्रधानमंत्री वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से समारोह में शामिल होंगे।

कार्यक्रम में बीटेक के 744, एमटेक के 522, पीएचडी के 298, मॉस्टर ऑफ साइंस रिसर्च के 13, मॉस्टर ऑफ डिजाइन के 20, एमबीए के 116, मॉस्टर ऑफ साइंस के 151 समेत अन्य प्रोग्राम के छात्रों को डिग्री मिलेगी। समारोह में राष्ट्रपति स्वर्ण पदक, डायरेक्टर स्वर्ण पदक, डॉ. शंकर दयाल शर्मा गोल्ड मेडल समेत अन्य अवार्ड दिए जाएंगे। इसमें स्नातक विषयों में टॉपर छात्रों को राष्ट्रपति स्वर्ण पदक दिया गए।

What’s your Reaction?
+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

- Advertisement -

Leave a Reply

- Advertisment -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img

Most Popular

- Advertisment -spot_img

Recent Comments