Saturday, June 22, 2024
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsBijnorफसल की रखवाली कर रहे दलित किसान का शव मिलने से क्षेत्र...

फसल की रखवाली कर रहे दलित किसान का शव मिलने से क्षेत्र में सनसनी

- Advertisement -

जनवाणी संवाददाता |

बढ़ापुर: फसल की रखवाली कर रहे किसान का शव उसी के खेत में बने मचान से मिलने से क्षेत्र में सनसनी फैल गई। मौके पर पहुंची पुलिस ने शव का पंचनामा भरकर पोस्टमार्टम के लिये भिजवा दिया था।

शुक्रवार को सैकड़ों ग्रामीण पुलिस की कार्यवाही से असंतुष्ट होकर थाने पहुंच गए थे। जहां पर थाना प्रभारी निरीक्षक व सीओ नगीना से वार्ता करने के बाद मृतक की पत्नी ने गांव के ही पांच लोगों पर अपने पति की हत्या का आरोप लगाते हुए तहरीर पुलिस को सौंपी है। सीओ नगीना ने मामले की गहनता से जांच की बात कही है।

थाना क्षेत्र के गांव टांडा साहुवाला निवासी पप्पू (45)वर्ष पुत्र चमन सिंह की गांव से करीब दो किमी की दूरी पर कृषि की भूमि है जहां पर पप्पू ने धान की फसल बो रखी है। खेत आरक्षित वन क्षेत्र की सीमा के करीब होने के कारण जंगली जानवरों द्वारा फसल को नुकसान से बचाने के लिये पप्पू ने खेत पर ही एक मचान बना रखा है जिस पर बैठकर वह रात्रि में फसल की रखवाली करता था।

08 1

रोजमर्रा की तरह बुधवार की रात को भी पप्पू घर से खाना खाकर फसल की रखवाली के लिये मचान पर गया था। सवेरे घर न आने के कारण पप्पू की पुत्री अंजली अपने पिता को खाने के लिये बुलाने खेत पर गई। जब मचान पर पहुंची औऱ पिता को जगाने की कोशिश की परन्तु कोई उत्तर ने मिल पाने उसने देखा की उसके पिता की मृत्यु हो चुकी है जिसकी सूचना उसने अपने परिजनों, ग्रामीणों व पुलिस को दी मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पंचनामा भरकर पोस्टमार्टम के लिये भिजवा दिया।

पुलिस को शव पर कोई चोट के निशान व घाव नही मिले। जबकि ग्रामीणों का कहना है कि शव के गले पर सूजन थी जिससे प्रतीत होता है कि किसी ने उसकी गला घोंटकर हत्या की है। शुक्रवार को पोस्टमार्टम से शव के वापस न आने के कारण तथा पुलिस की कार्यवाही से असंतुष्ट ग्रामीण सैकड़ों की संख्या में थाने पहुंचे और हत्यारों की गिरफ्तारी की मांग की। मामला बढ़ता देख थाना प्रभारी निरीक्षक संजय कुमार धीर ने आला अधिकारियों को मामले से अवगत कराया जिसके चलते हुए सीओ नगीना शुभ सुचित थाना बढ़ापुर पहुंच गए। और पीड़ित परिवार सहित ग्रामीणों से वार्ता की।

जहां पर मृतक पप्पू की पत्नी अपनी व्यथा सुनाते हुए बेहोश हो गई जिसके बाद मृतक पप्पू की पत्नी विद्या देवी ने गांव के ही मुकेश पुत्र गिरवर, जॉनी पुत्र धरमी, टोनी पुत्र धरमी, धरमी पुत्र तुम्मन सिंह, राजेन्द्र पुत्र रूपा सिंह पर उसके पति को पहले हुए एक विवाद के चलते जान से मारने व गम्भीर परिणाम भुगतने की धमकी खुलेआम दी थी। जिस कारण उसको इन लोगों पर ही उसके पति कि हत्या करने का शक है।

सीओ नगीना शुभ सुचित ने बताया कि मृतक पप्पू की पत्नी ने गांव के ही पांच लोगों पर अपने पति की हत्या के शक के चलते तहरीर दी है जिस पर जांच की जायेगी। तथा पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही अग्रिम कार्यवाही अमल में लाई जाएगी।

2 सप्ताह पहले दी थी तहरीर

मृतक ने दो सप्ताह पहले अपनी जान का खतरा बताते हुए पुलिस को तहरीर दी थी। यदि पुलिस मामले की गम्भीरता को समझते हुए कार्यवाही करती तो शायद पप्पू आज जीवित होता।

शुक्रवार को थाने पहुंचे सैकड़ों महिला पुरुषों ने बताया कि पप्पू को बीते करीब दो सप्ताह से गांव के ही कुछ लोग जान से मारने की धमकी दी थी।

जिसकी पप्पू ने थाना बढ़ापुर में लिखित शिकायत की थी परंतु पुलिस ने मामले को हल्के में लेकर ठंडे बस्ते में डाल दिया। जिस कारण पप्पू को मौत का शिकार होना पड़ा। यदि पुलिस समय रहते पप्पू की शिकायत पर संज्ञान लेती तो शायद आज पप्पू जीवित होता।

क्रॉस केस का मामला समझकर उलझी रही पुलिस।

गौरतलब है कि गत चार सितम्बर को मृतक पप्पू के पुत्र आकाश के विरुद्ध थाना बढ़ापुर पर एक रिपोर्ट दर्ज कराई गई थी जिसमे आकाश का गांव की ही एक युवती के साथ अश्लील फोटो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था। जिसमे आकाश के साथ गांव के ही एक अन्य युवक निर्मल भी शामिल था।

पुलिस ने दोनों युवकों को गिरफ्तार जेल भेज दिया था। जिसके एक सप्ताह बाद से ही पप्पू युवती के पिता व भाई पर जान से मारने की धमकी देने का आरोप लगा रहा था। मृतक की पत्नी द्वारा दी गई तहरीर में भी उक्त युवती के पिता व भाई को ही नामजद किया गया है। जिस कारण पुलिस मामले को क्रॉस केस समझ कर चुप्पी साधे बैठी थी।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Recent Comments