Friday, May 31, 2024
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsMeerutजानलेवा चाइनीज मांझा: फिर पड़ी जिंदगी खतरे में

जानलेवा चाइनीज मांझा: फिर पड़ी जिंदगी खतरे में

- Advertisement -
  • चाइनीज मांझे से स्कूटी सवार बुजुर्ग का चेहरा हुआ लहूलुहान
  • पुलिस-प्रशासन की लापरवाही से धड़ल्ले से बिक रहा बाजारों में चाइनीज मांझा

जनवाणी संवाददाता |

मेरठ: चाइनीज मांझे से फिर से एक जिंदगी खतरे में पड़ गई। एक 70 साल के बुजुर्ग पर मौत बनकर टूटा। सड़क पर खून से लथपथ होकर गिरे बुजुर्ग को बाइक सवारों ने समय पर अस्पताल पहुंचाया जिसके बाद डाक्टरों ने उनकी सर्जरी कर जान बचाई। बुजुर्ग के चेहरे पर 25 टांके लगे हैं। पुलिस के लाख दावे चाइनीज मांझे की बिक्री नहीं रोक पा रहे हैं। चाइनीज़ मांझे से दो सालों में तीन लोगों की मौत हो चुकी है और 40 से अधिक लोग घायल हो चुके हैं।

पीएल शर्मा रोड पर रहने वाले 70 साल के बुजुर्ग विजय कुमार सोमवार को स्कूटी से अपने घर लौट रहे थे। इसी बीच चाइनीज़ मांझे की चपेट में आ गए और उनके चेहरा किसी धारदार हथियार के हमले की तरह कट गया। गंभीर रूप से घायल होने के बाद विजय कुमार जमीन पर गिर पड़े। उसी समय घटना स्थल से गुजर रहे दो युवकों ने उन्हें अपनी बाइक पर बिठाया और अस्पताल में भर्ती कराया। इसी बीच बुजुर्ग ने अपने भांजे को फोन कर घटना की जानकारी दी

जिसके बाद डाक्टरों ने उनकी सर्जरी कर 25 टांके लगाए। विजय कुमार का चेहरा ठोड़ी पर से कट गया था। डाक्टरों का कहना है कि मांझा यदि थोड़ा-सा भी नीचे गले पर लगता तो विजय कुमार की जान नहीं बचाई जा सकती थी। चाइनीज मांझे की चपेट में आ चुके रणवीर खुल्लर का कहना है कि 15 दिन पहले वह भी इसकी चपेट में आ चुके हैं। बड़ी मुश्किल से वह इस हादसे में घायल होने से बचे थे। उन्होंने पुलिस-प्रशासन पर आरोप लगाते हुए कहा कि बिना उनकी शह के चाइनीज़ मांझा बाजार में नहीं बिक सकता।

14 16

व्यापारी नेता अंकुर बंसल का कहना है शहर के खैरनगर, सदर, हापुड़ अड्डा, शास्त्रीनगर, जागृति विहार, रोहटा रोड, कंकरखेड़ा, बेगमबाग व गंगानगर जैसे इलाकों में आज भी खुलेआम चाइनीज़ मांझे की बिक्री हो रही है जिस पर तुरंत रोक लगनी चाहिए। उन्होंने कहा कि बाजार में लगी पतंगों की दुकानों के पास ही इस मांझे को छिपाकर रखा जाता है। दुकान पर जाकर यदि कहा चाइनीज़ मांझे की मांग की जाए तो वह आसानी से उपलब्ध हो जाता है। दुकानदार इसके बदले आम मांझे से तीन गुना कीमत वसूल रहे हैं।

कब-कब हुए हादसे

  • 15 अगस्त 2022-मेट्रो प्लाजा के पास एमडीए के चतुर्थ कर्मचारी की गर्दन जख्मी हुई।
  • 15 अगस्त 2022-टीपीनगर थाने के पास बच्ची चीनी मांझे की चपेट में आने से जख्मी।
  • 15 अगस्त 2022-लिसाड़ी गेट क्षेत्र में चीनी मांझे में करंट आने से एक बच्चे का हाथ झुलसा।
  • 23 सितंबर 2021-पल्हैड़ा फ्लाईओवर पर चीनी मांझे से बीफार्मा के छात्र का गला कटा।
  • 29 सितंबर 2020-गढ़ रोड पर शाहजहांपुर में बाइक सवार की चीनी मांझे से गर्दन कटी।
  • 22 जनवरी 2020-गढ़ रोड पर सीमेंट व्यापारी की चीनी मांझे से गर्दन कटी।
  • 27 नवंबर 2019-मलियाना पुल पर मांझे से युवक की गर्दन कटी।

चाइनीज मांझा बेचते पकड़ा

शहर में चीनी मांझा बेचने वाले के खिलाफ पुलिस ने अभियान चला रखा है। मंगलवार को लिसाड़ीगेट पुलिस ने आजाद रोड गोला कुआं पर देहली काईट शॉप पर मुखबिर की सूचना पर छापेमारी कर श्यामनगर निवासी मुनीर को चीनी मांझे के साथ गिरफ्तार किया है। पुलिस ने मौके से हजारों रुपये की कीमत का चीनी मांझा बरामद किया है। आरोपी के खिलाफ केस दर्ज कर कार्रवाई की जा रही है।

श्यामनगर गली नंबर चार निवासी मुनीर ने आजाद रोड पर पतंग की दुकान खोल रखी है। बसंत पंचमी के चलते शहर में धड़ल्ले से चीनी मांझा बेचा जा रहा है। मंगलवार को लिसाड़ीगेट थाना प्रभारी कुलदीप सिंह ने दुकान पर छापेमारी चीनी मांझा बेचते पकड़ा लिया। पुलिस टीम आरोपी को हिरासत में लेकर थाने ले आए। आरोपी के पास 12 चरखी चीनी मांझे के बरामद किए है। सीओ कोतवाली अमित राय का कहना है कि आरोपी के खिलाफ केस दर्ज कर लिया गया है।

चीनी मांझा बेचते अगर कोई पकड़ा गया तो उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। सभी थानेदारों को सख्त निर्देश दिये गए हैं कि लापरवाही की गई तो दंडात्मक कार्रवाई की जाएगी।

15 15

देहलीगेट और लिसाड़ीगेट में ज्यादा पतंगे बिकती हैं और उन पर नजर रखी जा रही है। -रोहित सिंह सजवाण, एसएसपी मेरठ

What’s your Reaction?
+1
0
+1
3
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Recent Comments