Tuesday, March 2, 2021
Advertisment Booking
Home Uttar Pradesh News Shamli उर्जा प्रबंधन की तानाशाही, हठधर्मिता की कड़े शब्दों में निंदा

उर्जा प्रबंधन की तानाशाही, हठधर्मिता की कड़े शब्दों में निंदा

- Advertisement -
0
  • नाकामी छुपाने को शीर्ष नेतृत्व के पदाधिकारियों को धमकाने का आरोप

जनवाणी ब्यूरो |

शामली: राज्य विद्युत परिषद प्राविधिक कर्मचारी संघ के पदाधिकारियों ने अपनी विभिन्न मांगों के समर्थन में एक दिवसीय विरोध प्रदर्शन किया। जिसमें ऊर्जा प्रबंधन पर शीर्ष नेतृत्व के पदाधिकारियों को डराने , धमकाने का आरोप लगाते हुए निंदा की।

सोमवार को राज्य विद्युत परिषद प्राविधिक कर्मचारी के पदाधिकारियों ने अधीक्षण अभियंता कार्यालय पर एक दिवसीय धरना प्रदर्शन किया। धरने में वक्ताओं ने कहा कि यांत्रिक संवर्ग की तमाम समस्याओं के समाधान के लि गत 5 फरवरी से प्रदेश में टैक्नशियन कर्मी आन्दोलन कर रहे है।

जिसके तीसरे चरण में आज प्रदेश के समस्त जिला एवं परियोजना मुख्यालयों पर विरोध प्रदर्शन किया गया। उन्होने कहा कि संघ कभी भी आन्दोलन के बजाय शांतिपूर्ण वार्ता के माध्यम से समाधान कराने का पक्षधर है। लेकिन ऊर्जा प्रबंधन द्वारा लगातार हठधर्मिता और तानाशाही का रूख अपनाया जा रहा है।

जिस कारण कर्मी आन्दोलन करने को मजबूर है। उन्होने कहा कि ऊर्जा प्रबंधन अपनी नाकामी को छुपाने के लिए संघ के शीर्ष नेतृत्व को डराने तथा धमकाने के उददेश्य से नोटिस दे रहा है, जिसकी कडे शब्दों में निंदा की जाती है। उन्होंने कहा कि आन्दोलन के समस्त चरणों के दौरान पड़ने वाले साप्ताहिक अवकाश एवं सर्वजनिक अवकाशों के दिनों में टैक्नीशियन कर्मियों द्वारा अति आवश्यक सेवाओं को छोड़कर राजस्व वसूली, विद्युत विच्छेदन, कैश काउंटर समेत अन्य किसी प्रकार के विभागी कार्य नहीं करेंगे।

इस अवसर पर अवधेश कुमार, कुलदीप शर्मा, राकेश कुमार, सचिन गर्ग, आलोक कुमार, गोविन्द, मनमोहन गौड, देवेन्द्र सैनी, आदेश, शिवकुमार, राजेश आदि मौजूद रहे।

What’s your Reaction?
+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments