Wednesday, October 27, 2021
- Advertisement -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
- Advertisement -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
HomeUttar Pradesh NewsShamliडीएम जसजीत कौर बोलीं, विकास कार्यक्रमों में शिथिलता बर्दाश्त नहीं

डीएम जसजीत कौर बोलीं, विकास कार्यक्रमों में शिथिलता बर्दाश्त नहीं

- Advertisement -
  • लक्ष्य के सापेक्ष अपेक्षित प्रगति न होने पर चेतावनी

जनवाणी ब्यूरो |

शामली: जिलाधिकारी जनपद में होने वाले निर्माण कार्यों को प्राथमिकता के आधार पर पूर्ण करने के निर्देश संबंधित अधिकारियों को दिये। उन्होंने कहा कि विकास कार्यों में किसी भी तरह की शिथिलता बर्दाश्त नहीं की जाएगी।

मंगलवार को जिलाधिकारी जसजीत कौर ने कलक्ट्रेट सभागार में जनपद में होने वाले विकास कार्यों की समीक्षा की। इस दौरान सीडीओ शंभूनाथ तिवारी द्वारा जिलाधिकारी को जनपद में विधानसभा वार पर्यटन स्थल, नए इंटर कालेज का निर्माण, स्टेडियम, गन्ना भुगतान, जिला मुख्यालय पर मॉडल पार्क, श्रम विभाग में पंजीकृत श्रमिकों के आयुष्मान कार्ड आदि होने वाले विकास कार्यों के संबंध में बताया। साथ ही, कार्यों में प्रभावी कार्रवाई सुनिश्चित करने के लिए संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिए गए।

जिलाधिकारी ने विकास कार्यक्रमों की समीक्षा करते हुए अधिशासी अभियंता लघु सिंचाई से नहरों की साफ-सफाई चेक डैम आदि के संबंध में जानकारी की। इस दौरान अधिशासी अभियंता ने बताया कि नहरों की सफाई का कार्य पूर्ण हो गया है। ट्यूबवेल तक पानी देने का कार्य शुरू कर दिया गया है।

डीएम ने विद्युत विभाग के कार्यों की समीक्षा करते हुए संबंधित विभाग के अधिकारियों को विद्युत बकायके निर्देश दिए। सरकारी विभागों पर बिजली बकाया भुगतान के लिए डीएम ने कहा कि यदि किसी विभाग के पास बजट उपलब्ध नहीं है तो वह बजट की मांग कर बकाया भुगतान करना सुनिश्चित करें।

लोक निर्माण विभाग के अधीक्षण अभियंता ने बताया कि नई सड़कों में कुछ सड़कें बन गई है और कुछ पर कार्य चल रहा है। गड्ढा मुक्ति का कार्य कर दिया गया। समीक्षा के दौरान उप निदेशक कृषि डा. शिवकुमार केसरी ने बताया कि किसान सम्मान निधि में डाटा सुधार में जनपद प्रथम स्थान पर है।

मुख्य पशु चिकित्साधिकारी ने जिलाधिकारी को अवगत कराया कि सहभागिता में लक्ष्य के सापेक्ष अधिक पशु दिए गए टीकाकरण, ईयर टैगिंग का कार्य चल रहा है। डीएम ने गो आश्रय स्थलों पर सर्दी के दृष्टिगत पशुओं के लिए समुचित व्यवस्था करने के भी निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि इस कार्य में किसी भी प्रकार की लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी।

स्वास्थ्य विभाग की समीक्षा के दौरान बताय गया कि हैंडपंप रिबोर आदि का कार्य पूर्ण करा दिया गया है। बाल विकास एवं पुष्टाहार विभाग द्वारा चलाये जा रहे पोषण मिशन कार्यक्रमों एवं मनरेगा के तहत मानव दिवस सृजित किए जाने के संबंध में जानकारी की। जिलाधिकारी ने समाज कल्याण विभाग की समीक्षा करते हुए समाज कल्याण अधिकारी को निर्देश दिए कि मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना के तहत जो लक्ष्य प्राप्त हुआ है, उसमें तिथि निर्धारित कर विवाह आयोजन का कार्यक्रम कराया जाए। पेंशन के संबंध में जिसमें समाज कल्याण अधिकारी ने बताया कि वृद्धावस्था, विधवा एवं दिव्यांग के लाभार्थियों को दूसरी किस्त मिल गई है।

विभिन्न पेंशनों में नए आवेदन प्राप्त किए गए हैं जिन पर त्वरित कार्रवाई की जा रही है। जिलधिकारी ने अन्य विभागों के अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहां कि लक्ष्य के सापेक्ष कार्यों को गति देते हुए समय से पूर्ण करना सुनिश्चित करें ताकि जनपद की रैंकिंग अच्छी रहे। इस कार्य में किसी भी प्रकार की लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी।

इसके अलावा जिलाधिकारी ने बैठक में 50 लाख धनराशि की अधिक लागत से परियोजनाओं की समीक्षा की गई। जिसमें मुख्य विकास अधिकारी ने जिलाधिकारी को अवगत कराया कि ज्यादातर परियोजना धनराशि पर्याप्त न होने के कारण पूर्ण नहीं हो पाई है। धनराशि की मांग के लिए शासन को पत्र भेजा गया है। उन्होंने निर्देश दिए कि धन आवंटन होते ही परियोजनाओं को पूर्ण करने की कार्रवाई सुनिश्चित की जाए।

समीक्षा बैठक में सीडीओ शंभूनाथ तिवारी, कृषि उप निदेशक शिव कुमार केसरी सहित संबंधित विभाग के जिला स्तरीय अधिकारी उपस्थित रहे।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Leave a Reply

- Advertisment -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img

Most Popular

- Advertisment -spot_img

Recent Comments