Monday, September 20, 2021
- Advertisement -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
- Advertisement -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
HomeUncategorizedसुधा नर्सिंग होम में ड्रग कंट्रोलर का छापा, एक्सपायरी दवाएं सील

सुधा नर्सिंग होम में ड्रग कंट्रोलर का छापा, एक्सपायरी दवाएं सील

- Advertisement -
  • पीएमओ-सीएम योगी और मंडलायुक्त से शिकायत ड्रग इंस्पेक्टर का छापा
    लाखों कीमत की एक्सपायरी डेट की दवाएं मौके से बरामद
    भारी मात्रा में रातों रात कचरे में फेंक दी गयीं लाखों की दवाएं

जनवाणी संवाददाता |

मेरठ: गढ़ रोड स्थित सुधा नर्सिंगहोम में एक्सपायरी दवाएं मरीजों को देकर मौत बांटी जा रही थी। नर्सिंगहोम की कारगुजारियों की शिकायत पीएमओ, सीएम, मंडलायुक्त व अन्य को भी गई है। गुरुवार को ड्रग कंट्रोल अधिकारी ने छापा मारकर नर्सिंग होम से एक्सपायरी डेट की दवाएं बरामद की है। एक्सपायरी डेट की दवाओं को कब्जे में लेकर नर्सिंग होम के ही एक कमरे में सील कर दिया।

इसकी रिपोर्ट सीएमओ को भेजी गयी है। इस हॉस्पिटल में कोविड सेटर भी बना था, जो बाद में खत्म कर दिया गया था। गढ़ रोड पर सुधा अस्पताल हैं, जहां मरीजों से चंद सिक्कों की खातिर मरीजों की जान से खिलवाड़ करने वालों की इस कारगुजारी का पदार्फाश नंदनी सेवा संस्थान ने किया है।

संस्थान के संयोजक राहुल ठाकुर ने ठोस साक्ष्यों के साथ सुधा अस्पताल में अरसे से की जा रही कारगुजारियों की शिकायत पीएमओ, सीएम योगी, मंडलायुक्त, स्वास्थ्य मंत्री व डीएम समेत अन्य से की है। शिकायत में एक्सपायरी डेट की दवाएं मरीजों को दिए जाने के गंभीर आरोप अस्पताल संचालक सुधा शर्मा पर लगाए गए हैं।

उन्होंने अस्पताल में हुई सभी कोविड व नॉन कोविड मौतों की जांच कराए जाने की भी मांग की है। ज्यादातर मौतों के लिए एक्सपायरी दवाओं को जिम्मेदार ठहराया है।

छापे में मिली एक्सपायरी दवाएं

ड्रग कंट्रोल विभाग की सीनियर निरीक्षक पवन शाक्य ने गुरुवार को गढ़ रोड स्थित अस्पताल पर छापा मारा। छापे में भारी मात्रा में एक्सपायरी डेट की दवाएं मिलने का दावा ड्रग निरीक्षक ने किया है, जो दवाएं एक्सपाइयरी बतायी जा रही हैं उनकी कीमत भी लाखों में है। उधर, ड्रग कंट्रोल विभाग के छापे में एक्सपायरी डेट की जो दवाएं मिली हैं, उसमें डीआई पवन शक्य ने बताया कि वो सभी एक कमरे में जमा कर सील कर दी गयी हैं।

उन्होंने माना कि मामला बेहद गंभीर है। किसी भी स्थिति में एक्सपायरी दवाएं नहीं दी जानी चाहिए। इससे मरीज की जान भी जा सकती है। इन दवाओं में जीवन रक्षक दवाएं भी शामिल हैं। इस सवाल पर पवन शाक्य ने बताया कि सुधा अस्पताल में छापे में बरामद की गयी सभी दवाओं की पूरी जांच के बाद ही यह साफ हो सकता है, लेकिन इतना जरूर है कि जो दवाएं बरामद की गयी हैं, उनमें से कई दवाएं काफी महंगी भी हैं। महंगी दवाएं ही जीवन रक्षक दवाओं की श्रेणी में आती हैं।

कहां से खरीदी जा रही थीं दवाएं?

मरीजों की जिदंगी से खिलवाड़ करने वाले इस अस्पताल के संचालक एक्सपायरी डेट की दवाएं कहां से खरीद रहे थे? यह बड़ा सवाल है। दवाओं के कारोबार में कौन ऐसा व्यापारी है, जो जीवन रक्षक दवाओं के नाम पर मौत का कारोबार कर रहा था| सीएमओ डा. अखिलेश मोहन ने बताया कि एक्सपायरी दवाओं का मामला सीधे ड्रग कंट्रोल से जुड़ा है। इस संबंध में उन्हें कार्रवाई के लिए कहा गया है, जो दवाएं मिली हैं उनकी लिस्टिंग की जा रही है। ड्रग कंट्रोलर की रिपोर्ट मिलने के बाद ही कार्रवाई होगी।

ये बोले-ड्रग कंट्रोल अधिकारी

ड्रग कंट्रोल अधिकारी पवन शाक्य ने बताया कि गुरुवार को सुधा अस्पताल में मारे गए छापे में एक्सपायरी डेट की दवाएं बरामद हुई है। इन सभी दवाओं को कब्जे में लेकर एक कमरे में सील कर दिया गया है। अस्पताल के खिलाफ विधिक कार्रवाई की जा रही है। इस प्रकरण की पूरी रिपोर्ट सीएम को सौंपी जाएगी, जिसके बाद ही आगे की कार्रवाई होगी।

What’s your Reaction?
+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

- Advertisement -

Leave a Reply

- Advertisment -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img

Most Popular

- Advertisment -spot_img

Recent Comments