Saturday, June 19, 2021
- Advertisement -
HomeसंवादCareerक्रिकेट में एंट्री और कामयाबी की राहें आसान नहीं

क्रिकेट में एंट्री और कामयाबी की राहें आसान नहीं

- Advertisement -
0


एस प्रकाश शर्मा |

प्राय: 140 करोड़ आबादी वाले देश भारत में क्रिकेट महज एक खेल नहीं है-यह जुनून है, यह धर्म है, यह सेल्फ-एस्टीम है, यह भक्तिभाव है और सबसे बढ़कर खेल के शौकीन हर किशोर का अपने देश के लिए इस खेल को खेलने और इसे अपना करियर बनाने का सबसे सुंदर सपना है। किंतु इंडियन क्रिकेट टीम के लिए खेलने, इसे करियर बनाने और इस डोमेन में कामयाब होने की राहें आसान नहीं हैं। यह मुश्किलों और चुनौतियों से भरी हुई है।

क्रिकेट मैचों के सभी फॉरर्मेट्स के लिए प्लेयर्स का सिलेक्शन बीसीसीआई (बोर्ड आॅफ कंट्रोल फॉर क्रिकेट इन इंडिया) के द्वारा किया जाता है। इसके अतिरिक्त बीसीसीआई कोच, फिजियोथेरेपिस्ट और क्रिकेट टीम के अन्य मेंबर्स का भी सिलेक्शन करती है।

शुरुआत यहां से करें                                                                  

क्रिकेट के किसी भी फॉर्मेट में करियर बनाने के इच्छुक उम्मीदवारों के लिए दो रास्ते होते हैं, जिनमें पहला स्कूल से शुरू होता है। स्कूल और इंटर-स्कूल मैचों में पार्टिसिपेशन और परफॉरमेंस के आधार पर प्लेयर्स का इंटर-कॉलेज और इंटर-यूनिवर्सिटी लेवल के मैचों के लिए सिलेक्शन होता है। इस रास्ते से आप रणजी ट्राफी के लिए अपने सिलेक्शन को पक्का कर सकते हैं। भारत में रणजी ट्राफी के मैचों में परफॉरमेंस के आधार पर इंटरनेशनल मैचों के लिए खिलाड़ियों का सिलेक्शन किया जाता है।

क्रिकेट की दुनिया में प्रवेश का दूसरा रास्ता ‘ओपन क्रिकेट’ के नाम से जाना जाता है। भारत में प्रत्येक डिस्ट्रिक्ट में ‘डिस्ट्रिक्ट क्रिकेट एसोसिएशन’ (डीएसए) होता है। इन सभी डिस्ट्रिक्ट एसोसिएशंस से स्टेट क्रिकेट एसोसिएशन का निर्माण होता है। डिस्ट्रिक्ट लेवल के टीम के प्लेयर्स अपने एक्सीलेंट परफॉरमेंस के आधार पर स्टेट एसोसिएशन के लेवल पर खेलने के लिए चुने जाते हैं। स्टेट लेवल के मैचों में प्रदर्शन के आधार पर प्लेयर्स का राष्ट्रीय स्तर पर रणजी ट्राफी, दिलीप ट्राफी और विजय हजारे ट्राफी के मैचों में खेलने के लिए चयन किया जाता है। इन मैचों में खिलाड़ियों के परफॉरमेंस के आधार पर अंतत: उनका अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर चयन किया जाता है।

रणजी ट्राफी                                                                        

रणजी ट्राफी का इंडिया के नेशनल क्रिकेट टीम में प्रवेश के लिए गोल्डन पासपोर्ट के रूप में शुमार किया जाता है। यह भारत का फर्स्ट क्लास डोमेस्टिक क्रिकेट चैंपियनशिप होता है। इस ट्राफी में सभी राज्यों की क्रिकेट टीम का रिप्रजेंटेशन होता है। कुछ रणजी टीम एक से अधिक राज्यों को रिप्रेजेंट करती है। वर्तमान में रणजी ट्राफी में 28 राज्यों और 4 केंद्रशासित प्रदेशों की 38 टीमें हैं।

जीवन के अन्य क्षेत्रों की तरह क्रिकेट में भी कामयाबी नियमित अभ्यास और कठिन मेहनत पर निर्भर करती है। डिस्ट्रिक्ट लेवल और स्टेट लेवल पर अधिक-से-अधिक क्रिकेट मैच खेलकर आप रणजी ट्राफी के लिए सेलेक्ट हो सकते हैं। इन सभी मैचों में परफॉरमेंस के आधार पर आप राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय लेवल पर इंडिया टीम के लिए खेलने के अपने चांस को बेहतर और सुनिश्चित कर सकते हैं।

आईपीएल मैचों में एंट्री, शुरूआत कहां से और कैसे करें                      

यदि आप उपर्युक्त तरीकों से भी भारत के लिए क्रिकेट खेलने के अपने सपने को पूरा नहीं कर पाते हैं तो ऐसी स्थिति में भी यह आपके सपनों की दुनिया का अंत नहीं है। वर्तमान में क्रिकेट के लेटेस्ट एडिशन के रूप में आईपीएल (इंडियन प्रीमियर लीग) सबसे चर्चित है। आठ टीमों वाली आईपीएल टूर्नामेंट में टी-20-लिमिटेड एडिशन मैच खेले जाते हैं, जिसकी शुरुआत बीसीसीआई के द्वारा 2007 में की गई थी। इसमें खिलाड़ियों का चयन टीम के फ्रेंचाइजी के द्वारा मुख्य रूप से रणजी ट्राफी के टीमों से आॅक्शन के आधार पर किया जाता है।
आईपीएल मैचों में किसी टीम में प्लेयर्स के कंपोजिशन निम्न शर्तों के आधार पर निर्धारित होता है-

  • टीम में प्लेयर्स की कुल संख्या 18 से 25 के मध्य होता है। इसमें विदेशी प्लेयर्स की संख्या अधिक-से-अधिक 8 हो सकती है।
  • टीम की पूरी सैलरी पैकेज 85 करोड़ से अधिक नहीं होती है।
  • कोई टीम अपने 11 प्लेयर्स में अधिकतम 4 विदेशी प्लेयर्स के साथ ही मैदान में उतर सकती है।
  • आईपीएल में अंडर-19 के प्लेयर्स का सिलेक्शन नहीं होता है। वैसे खिलाड़ी जो पहले फर्स्ट क्लास मैच खेल चुके होते हैं तो वे आईपीएल में सेलेक्ट हो सकते हैं।

फ्रेंचाइजी टीमों के द्वारा बिडिंग के माध्यम से चुने गए प्लेयर्स का कॉन्ट्रैक्ट प्राय: एक वर्ष के लिए होता है। कॉन्ट्रैक्ट के इस पीरियड को बढ़ाया भी जा सकता है। भारत में 6 विभिन्न शहरों में 9 अप्रैल से 30 मई 202। तक आठ टीमों के मध्य खेला जानेवाला आईपीएल टूर्नामेंट का 14 वां संस्करण है।

पुरस्कार राशि                                                 

आईपीएल के वर्तमान एडिशन में कुल प्राइज मनी 25 करोड़ रुपए की है। इसमें प्रथम स्थान दर्ज करनेवाली क्रिकेट टीम को 10 करोड़ रुपए और सेकंड और थर्ड पोजीशन हासिल करनेवाली क्रिकेट टीमों को क्रमश: 6.250 और 4.375 करोड़ पुरस्कार राशि के रूप में प्रदान किये जाएंगे।

अन्य पुरस्कार                                                          

आईपीएल मैचों में क्रिकेट में विभिन्न प्रकार के परफॉरमेंस के आधार पर निम्न पुरस्कार भी प्रदान किए जाते हैं-

  • आॅरेंज कैप : यह कैप आईपीएल के संपूर्ण सीजन में सबसे अधिक रन बनाने वाले बैट्समैन को प्रदान किया जाता है।
  • पर्पल कैप : आईपीएल के किसी विशेष संस्करण में सबसे अधिक विकेट लेने वाले बॉलर को यह पुरस्कार दिया जाता है।
  • मोस्ट वैल्युएबल प्लेयर : यह प्राइज मैन आॅफ दि टूर्नामेंट जैसा ही होता है।
  • इमर्जिंग प्लेयर अवार्ड : यह अवार्ड सबसे अच्छे उभरते युवा प्लेयर को प्रदान किया जाता है।
  • फेयरप्ले अवार्ड : यह पुरस्कार साफ-सुथरे और सही तरीके से खेल खेलने के लिए अंपायर के द्वारा प्रदान किए गए स्कोर के आधार पर दिया जाता है।
  • सर्वाधिक छक्के लगाने का अवार्ड : इसके अंतर्गत आईपीएल के किसी विशेष संस्करण में सबसे अधिक छक्के लगानेवाले बैट्समैन को भी सम्मानित किया जाता है।
What’s your Reaction?
+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

- Advertisement -

Leave a Reply

- Advertisment -spot_img

Most Popular

- Advertisment -

Recent Comments