Tuesday, May 21, 2024
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsMeerutघनी आबादी में विस्फोटक धमाका, दहशत

घनी आबादी में विस्फोटक धमाका, दहशत

- Advertisement -
  • पुलिसकर्मियों ने मोटी रकम वसूल कर दबाया मामला, सिलेंडर फटने की रची कहानी
  • दीपावली से पहले शुरू हुआ नगर क्षेत्र में अवैध पटाखा बनाने का धंधा

जनवाणी संवाददाता |

मवाना: पुलिस की सांठगांठ के चलते दीपावली से पहले अवैध पटाखा बनाने का गोरखधंधा घनी आबादी के बीच शुरू हो गया है। देर शाम नगर स्थित घनी आबादी के बीच बने मकान में पटाखे बनाते वक्त जबरदस्त विस्फोट का धमाका होने से परिवार के सदस्य एवं आसपास लोगों के घरों में दहल उठने से काफी सामान क्षतिग्रस्त हो गया। विस्फोट का धमाका होने की सूचना पर पहुंची पुलिस ने पटाखा तस्करों पर कार्रवाई करने के बजाय उनसे मोटी रकम वसूल कर मामला रफा-दफा कर सिलेंडर फटने की कहानी रच मामला शांत कर दिया।

थाना क्षेत्र में दीपावली आने से पहले एक बार फिर से अवैध पटाखा बनाने का गोरखधंधा घनी आबादी के बीच शुरू हो गया है। मामले की कड़ी उस समय खुलकर सामने आ गयी। जब मवाना-परीक्षितगढ़ रोड स्थित एक बैंक के समीप बराबर की गली में जबरदस्त धमाके की आवाज गूंज उठी। जिसे सुनकर परिवार के सदस्यों के साथ आसपास के पड़ोसियों में भी अफरातफरी मच गयी। लोगों ने बताया कि विस्फोट होने पर पटाखा तस्कर के घर का स्टोर रूम की छत नीचे गिर पड़ी तो वही पड़ोसियों का सामान भी जमीन पर गिरकर टूट गया।

विस्फोट का धमाका होने की सूचना पर मौके पर पहुंची पुलिस ने घटनास्थल का मुआयना किया, लेकिन बस स्टैंड चौकी पर तैनात पुलिसकर्मियों ने पटाखा तस्कर से कार्रवाई के नाम पर मोटी रकम वसूलते हुए मामला शांत कर दिया। इतना ही नहीं पुलिसकर्मियों ने अपने ही स्थानीय पुलिस अधिकारियों को विस्फोटक सामग्री का धमाका होने से इंकार करते हुए सिलेंडर फटने की पटकथा रचने में कोई कसर नहीं छोड़ी।

लोगों का कहना है कि घनी आबादी के बीच दीपावली से पहले नगर क्षेत्र में पटाखे बनाने का धंधा एक बार फिर से शुरू हो गया है। देर शाम नगर में जबरदस्त धमाका होने से लोगों में दहशत का माहौल व्याप्त हो गया। सूत्रों ने बताया कि मिलीभगत करने वाले पुलिसकर्मियों की शह पर पटाखा विस्फोट होने के बाद तस्कर ने धमाके की आवाज से टूटी स्टोर रूम आदि की छत का रातोंरात निर्माण कराकर घटनास्थल से साक्ष्यो को भी मिटादिया है। गनीमत यह रही कि धमाका होने के दौरान कोई जनहानि नही हो सकी।

कोई मरे या जिये…हमको तो पैसा कमाना

जिले के कप्तान प्रभाकर चौधरी भले ही एक ईमानदार और अपने कर्तव्य निष्ठा छवि के रूप में जाने जाते हो, लेकिन भ्रष्टाचारी पुलिसकर्मियों पर उनका हंटर चलने के बाद भी कुछ पुलिसकर्मी भ्रष्टाचार फैलाने में पीछे नहीं है। ऐसा ही मामला थाना मवाना में तैनात सिपाहियों का सामने आया है। बुधवार शाम घनी आबादी के बीच पटाखा तस्कर के घर में हुए जबरदस्त बारूद के धमाके ने हर किसी को दहलाकर रख दिया।

सूचना के बाद घटनास्थल पर पहुंचे सिपाहियों ने पटाखा तस्करो पर कार्रवाई करने की एवज में वसूली कर मामला शांत कर दिया। जबकि लोगों ने उक्त अवैध पटाखा बनाने के धंधे को बंद करने की मांग उठाई। पुलिसकर्मियो को इस बात से क्या लेना-देना। उनको तो अपनी पगार चाहिए। चाहे कोई मरे या फिर जिये। वहीं, दूसरी ओर लोगों ने मामले की शिकायत उच्चाधिकारियों से करने की बात कही है।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
3
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Recent Comments