Saturday, June 22, 2024
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsMeerutनिष्पक्ष मतगणना सामूहिक जिम्मेदारी: डीएम

निष्पक्ष मतगणना सामूहिक जिम्मेदारी: डीएम

- Advertisement -
  • किसान ही नहीं, किसी भी राजनीतिक दलों के कार्यकर्ता को नहीं मिलेगी एंट्री

जनवाणी संवाददाता |

मेरठ: कृषि यूनिवर्सिटी और लोहिया नगर सब्जी मंडी में मतगणना स्थल बनाये गए हैं। ईवीएम और स्ट्रांग रूम की सुरक्षा के लिए प्रेक्षक की तैनाती हैं। मतगणना में सात प्रेक्षक लगाये गए हैं, जो अन्य प्रदेशों से तैनाती हुई हैं। निश्चित दूरी मतगणना स्थल से तय की गई, उस दायरे में किसी को भी एंट्री नहीं मिलेगी। कड़ी सुरक्षा व्यवस्था इस बीच की गई हैं। किसान ही नहीं, किसी भी राजनीतिक दलों के कार्यकर्ता निर्धारित स्थल से आगे नहीं बढ़ पाएंगे। बढ़े तो कठौर कार्रवाई की जाएगी। यह कहना है डीएम के. बालाजी और एसएसपी प्रभाकर चौधरी का।

डीएम और एसएसपी ने संयुक्त रूप से विकास भवन के सभागार में पत्रकारों से बातचीत की तथा कहा कि मतगणना की तमाम तैयारियां पूर्ण कर ली गई हैं। सुबह 8 बजे से 8.30 बजे तक डाम मतपत्रों की गिनती का काम चलेगा, इसके बाद ईवीएम से मतों की गिनती का काम आरंभ किया जाएगा। निष्पक्ष मतों की गिनती सामूहिक जिम्मेदारी हैं, जिसमें किसानों को भी प्रशासन का सहयोग करना चाहिए, तभी लोकतंत्र की व्यवस्था बनी रहेगी। चौदह टेबल मतगणना स्थल पर लगाए गए हैं, जिसमें एक साथ मतगणना का कार्य चलेगा। प्रत्येक राउंड खत्म होने के बाद अगला राउंड चालू होगा, इसमें पूरी तरह से पारदर्शिता बरती जाएगी। माइक्रो आॅबजर्वर और आरओ की पूरी निगाहें इस पर होगी।

टैÑफिक सुधार प्लान तैयार

दो दिन शहर में ट्रैफिक सुधार का प्लान तैयार किया हैं। एक तो कोई भी राजनीतिक दल जुलूस नहीं निकाल पाएगा तथा दूसरा ट्रैफिक जाम से जनता को परेशानी नहीं हो, इसको देखते हुए विशेष ट्रैफिक पुलिस कर्मियों की तैनाती की गई हैं, जिसमें कहीं भी जाम नहीं लगने दिया जाएगा। व्यापक स्तर पर ट्रैफिक पुलिस कर्मियों की तैनाती ट्रैफिक व्यवस्था को संभालने के लिए लगाई गयी हैं।

किसानों से चल रही बातचीत: डीएम

डीएम के.बालाजी ने कहा कि प्रशासन और किसानों के बीच मतगणना के दौरान किसी तरह का टकराव पैदा नहीं हो, इसके लिए किसानों से बातचीत चल रही है। किसानों को समझाया जा रहा है कि लोकतंत्र में सभी अपनी जिम्मेदारी निभाये, लेकिन कहीं भी कानून व्यवस्था को हाथ में नहीं ले। निर्धारित स्थल से आगे नहीं जाए, इसमें प्रशासन का सहयोग करें। इसको लेकर किसान नेताओं से बातचीत चल रही हैं, उन्हें उम्मीद है कि इसमें किसान नेता सहयोग करेंगे।
किस विधानसभा की कितने राउंड में होगी मतों की गिनती?

विधानसभा का नाम राउंड

  • सिवालखास                             29
  • सरधना                                  29
  • हस्तिनापुर                              29
  • मेरठ कैंट                               34
  • मेरठ शहर                             26
  • मेरठ दक्षिण                            38
  • किठौर                                  29

डेढ़ हजार पुलिसकर्मियों की सुरक्षा रहेगी मतगणना केन्द्रों में

विधानसभा चुनाव की 10 मार्च को होने वाली मतगणना को लेकर कड़ी सुरक्षा व्यवस्था की गई है। डेढ़ हजार पुलिसकर्मी सरदार बल्लभ भाई पटेल कृषि विवि और लोहिया नगर स्थित मंडी में सुरक्षा के लिये 1500 पुलिसकर्मियों को लगाया गया है। चार कंपनी अर्द्धसैन्य बलों के अलावा एक कंपनी पीएसी लगाई गई है।

नोडल अधिकारी एसपी ट्रैफिक जितेन्द्र श्रीवास्तव ने बताया कि 1500 पुलिसकर्मियों के अलावा 4 एएसपी, 12 सीओ, 21 इंस्पेक्टर और 150 दारोगाओं को लगाया गया है। इसके अलावा 300 महिला पुलिसकर्मी लगाई गई है। उन्होंने बताया कि त्रिस्तरीय सुरक्षा व्यवस्था की गई है। 10 मार्च को हापुड़ रोड स्थित मंडी समिति और कृषि विवि में मतगणना स्थल बनाए गए हैं।

दोनों मतगणना स्थल को पांच जोन और 12 सेक्टर में बांट दिया है। प्रत्येक सेक्टर की जिम्मेदारी सीओ और एक प्रशासनिक अफसर तथा जोन में एएसपी को लगाया गया। चार कंपनी पैरा मिलिट्री फोर्स और तीन कंपनी पीएसी के जवान भी तैनात रहेंगे। अगर कोई प्रत्याशी विजय जुलूस निकालेगा तो उनके और समर्थकों पर भी मुकदमा दर्ज किया जाएगा। हर्ष फायरिंग की तो लाइसेंस निरस्तीकरण की कार्रवाई भी की जाएगी।

मतगणना के पांच मीटर दायरे में एजेंट और ड्यूटी करने वाले कर्मचारियों को ही प्रवेश दिया जाएगा। उनके लिए ही पार्किंग की व्यवस्था भी की गई है। प्रत्याशियों को पुलिस सुरक्षा में उनके घर तक पहुंचाया जाएगा। शहर और देहात के सभी संवेदनशील प्वाइंट पर भी पुलिस बल लगा दिया है। एसएसपी प्रभाकर चौधरी ने बताया कि प्रत्याशियों के समर्थक जीत या हार को लेकर अशांति न फैलाएं। मतगणना स्थल के बाहर भी हुड़दंग मचाने वालों का वीडियो बनाया जाएगा। प्रत्याशियों के समर्थकों की भीड़ को मतगणना केंद्रों से 200 से 500 मीटर तक दूर रखा जाएगा।

इसके लिए दोनों मतगणना स्थलों पर बैरिकेडिंग का काम शुरू कर दिया गया है। मतगणना स्थल के भीतर केवल पास धारक ही प्रवेश कर सकेंगे। आम जनता अपने घर रहकर ही मीडिया माध्यमों से तथा चुनाव आयोग की वेबसाइट से पल-पल का चुनाव परिणाम जान सकेगी। प्रत्येक चरण का परिणाम तत्काल वेबसाइट पर अपलोड किया जाएगा। एसएसपी ने बताया कि जीत के बाद बाइक स्टंट एवं हर्ष फायरिंग नहीं करने दी जाएगी। पुलिस की चार टीमें इसके लिए भी गठित की गई हैं, जो शहर की सड़कों पर स्टंट करने वालों पर कार्रवाई करेंगी।

कमिश्नर, आईजी ने वीडियो कांफ्रेंसिंग कर डीएम और कप्तानों को दिये निर्देश

वीडियो कांफ्रेंस के दौरान मंडलायुक्त सुरेन्द्र सिंह एवं पुलिस महानिरीक्षक प्रवीण कुमार ने मंडल भर के सभी जिलाधिकारियों एवं पुलिस कप्तानों से उनके जनपद में मतगणना को लेकर की गई तैयारियों की स्थिति की जानकारी ली। मतगणना स्थल पर आने वाले वाहनों के लिए ट्रैफिक प्लान/डायवर्जन इत्यादि सुनिश्चित कराया गया है। मतगणना कार्मिकों तथा सभी सुरक्षा कार्मिकों की ड्यूटी लगा दी गई है तथा वरिष्ठ अधिकारियों को प्रभारी नामित किया गया है।

मंडलायुक्त एवं पुलिस महानिरीक्षक ने मतगणना का कार्य पूर्ण सावधानी के साथ, पारदर्शी तथा सुगमतापूर्वक पूर्ण कराया जाए। निर्वाचन आयोग के निर्देशों का कड़ाई से पालन किया जाए। कोई भी अवांछनीय गतिविधि न हो। किसी प्रकार का वाद-विवाद होने पर नियमों के आलोक में प्रकरणों को निपटाया जाए। इस दौरान प्राय: उड़ने वाली अफवाहों की रोकथाम के लिए कंट्रोल रूम का प्रभावी संचालन किया जाए।

मीडिया प्रेस की ब्रीफिंग समय से और सही तरीके से की जाए। मतगणना केंद्रों पर बनाए गए मीडिया सेंटरों की व्यवस्था को भी दुरुस्त रखा जाए। अनावश्यक रूप से व्यवधान/विवाद उत्पन्न करने वाले तत्वों से सख्ती से निपटा जाए। मतदान मतगणना केंद्र तथा उसकी परिधि के भीतर किसी अवांछित तत्व को प्रवेश ना दिया जाए। सुसंगत नियमों के आलोक में मतगणना को पूर्ण पारदर्शी, निष्पक्ष, सुरक्षित एवं सकुशल ढंग से पूर्ण कराया जाए।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
2
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Recent Comments