Thursday, April 25, 2024
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsMeerutस्पोर्ट्स फैक्ट्री में भीषण आग, कई मकानों में दरारें

स्पोर्ट्स फैक्ट्री में भीषण आग, कई मकानों में दरारें

- Advertisement -
  • आग बुझाने में तीन जिलों की 14 गाड़ियां लगी
  • करीब साढ़े 11 लाख लीटर पानी का किया गया प्रयोग
  • सीएफओ समेत साठ कर्मचारी पूरी रात लगे रहे आग बुझाने में

जनवाणी संवाददाता |

मेरठ/कंकरखेड़ा: रोहटा रोड स्थित जवाहर नगर में मंगलवार रात करीब 12 बजे स्पोर्ट्स फैक्ट्री में आग लगने से पूरे क्षेत्र में हड़कंप मच गया। करीब 500 गज में मार्शल स्पोर्ट्स नाम से बल्ले की फैक्ट्री है। आग से अफरा-तफरी मचने पर अग्निशमन दल की 3 जिलों से 14 गाड़ियां मंगाई गई। जिस पर 60 कर्मचारी आग बुझाने में जुटे। करीब 10 घंटे के कड़ी मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया जा सका।

इस दौरान करीब ढाई करोड़ का नुकसान हो गया और फैक्ट्री की बिल्डिंग सहित आसपास के कई मकानों में दरारे पड़ गई। आग ने इतना विकराल रूप धारण कर लिया था कि पड़ोसी लोगों को अपने मकान छोड़कर बाहर की तरफ भागना पड़ गया। बुधवार सुबह 10 बजे तक आग पर पूरी तरह बुझाया जा सका था।

06 21

जवाहर नगर में मुरारीलाल की मार्शल स्पोर्ट्स नाम से बल्ले बनाने की फैक्ट्री है। मुरारीलाल के तीन बेटे गोल्डी, भारत और विक्की भी साथ में बल्ले बनाने का ही कार्य करते हैं। यहां पर कच्चे माल से लेकर निर्यात करने के लिए बल्ले तैयार किए जाते थे। इसके लिए बल्ले की सफाई करने, पेंट करने और उसे तैयार करने का पूरा काम किया जाता था। फैक्ट्री में कर्मचारी दिन के समय काम करते हैं।

07 19

रात्रि करीब 7 बजे के आसपास फैक्ट्री बंद कर दी जाती थी। यह फैक्ट्री करीब 500 गज में है। मुरारीलाल ने बताया की फैक्ट्री मंगलवार शाम को 7 बजे बंद कर दी गई थी। अंदर कच्चा सामान बल्ले पेंट और अन्य सामान के अलावा एक छोटा हाथी भी फैक्ट्री के अंदर ही खड़ा था। रात्रि करीब 12 बजे अचानक से फैक्ट्री से धुआं निकला। लोगों ने इसकी सूचना फैक्ट्री मालिक को दी। आग बुझाने के लिए जवाहर नगर के करीब 100 लोग बाल्टी लेकर समरसेबल से पानी भरते रहे और डालते रहे।

उधर सूचना मिलने पर मेरठ अग्निशमन दल से गाड़ियां मंगाई गई, लेकिन आग पर काबू नहीं पाया जा सका। इसके बाद हापुड़ और मोदीनगर सहित कई अन्य स्टेशनों से अग्निशमन दल की गाड़ी मंगाई गई। बुधवार सुबह करीब 10 बजे तक आग पर काबू पाया जा सका। इस दौरान फैक्ट्री मालिक का करीब ढाई करोड़ का सामान जलकर राख हो गया। बिल्डिंग क्षतिग्रस्त हो गई आसपास के मकानों में भी दरारें पड़ गई।

अग्निशमन दल के 14 गाड़ियों के 60 कर्मचारियों ने पाया काबू

आग की सूचना पर मेरठ पुलिस लाइन से अग्निशमन दल की 5 गाड़ियां मौके पर पहुंची थी। साथ ही दो गाड़ी में मुख्य अग्निशमन दल अधिकारी सही अन्य अधिकारी पहुंच गए थे। लेकिन आप का विकराल रूप देखते हुए इसके बाद एक गाड़ी मवाना से, एक गाड़ी सरधना से, दो गाड़ी घंटाघर से, दो प्रतापपुर से दो गाड़ी हापुड़ से और एक गाड़ी मोदीनगर से बुलाई गई।

09 21

सभी 14 गाड़ियों का पानी खत्म होने के बाद सभी गाड़ियों को कैलाशी हॉस्पिटल और सुभारती हॉस्पिटल से पानी लाने के लिए लगाया गया। करीब डेढ़ सौ चक्कर में साढ़े 11 लाख लीटर पानी खर्च हो गया। तब जाकर आग पर नियंत्रण पाया जा सका।

आग के मुहाने पर है जवाहर नगर

जवाहर नगर में स्पोर्ट्स फैक्ट्री के 75 रजिस्ट्रेशन है। यहां पर अधिकतर घरों में बल्ले और चिड़िया बनाने का कार्य होता है। पहले भी आग लगने की कई घटनाएं हो चुकी है। लकड़ी और प्लास्टिक का सामान होने के कारण आग पर काबू पाना मुश्किल हो जाता है। गर्मियों के दिनों में शॉर्ट सर्किट या अन्य कई कारणों से आग लगने का खतरा बना रहता है।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
3
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Recent Comments