Monday, March 1, 2021
Advertisment Booking
Home Uttar Pradesh News Meerut पांच लाख से अधिक ने कराया पंजीकरण

पांच लाख से अधिक ने कराया पंजीकरण

- Advertisement -
0
  • 50 हजार से अधिक हुये कोचिंग के लिए चयनित

जनवाणी संवाददाता |

मेरठ: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आज वीडियो कान्फ्रेन्सिंग के माध्यम से मुख्यमंत्री अभ्युदय योजना का शुभारम्भ किया। वीडियो कान्फ्रेन्सिंग के माध्यम से उन्होने विभिन्न मंडल मुख्यालयो के युवाओ से संवाद भी किया व उनकी जिज्ञासाओ पर विस्तार से विचार रखें।

मुख्यमंत्री ने कहा कि 16 फरवरी से अभ्युदय योजना के अंतर्गत प्रदेश के सभी मंडल मुख्यालयो पर निर्धारित केन्द्रो पर चयनित छात्र-छात्राओ का पठन-पाठन प्रारंभ हो जायेगा। उन्होने कहा कि योजनान्तर्गत वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारियों को जोडा गया है ताकि उनके अनुभव को भी साझा किया जा सके।

मुख्यमंत्री ने कहा कि आने वाले समय में प्रत्येक क्षेत्र में प्रदेश छाया हुआ दिखाई देगा। उन्होने कहा कि कायाकल्प योजना एक आईएएस अधिकारी के द्वारा दिये गये प्रस्तुतीकरण के उपरांत लान्च की गयी जिससे पूरे प्रदेश में 90 हजार बेसिक शिक्षा के विद्यालयो का कायाकल्प किया गया।

मुख्यमंत्री ने कहा कि वरिष्ठ पुलिस व प्रशासनिक अधिकारियों ने उनके सामने प्रस्तुतीकरण दिया। जिसके उपरांत अभ्युदय योजना प्रारंभ की गयी। उन्होने कहा कि योजना में साक्षात कोचिंग की व्यवस्था है साथ ही अनेको छात्र-छात्राएं आनलाईन भी कोचिंग का लाभ लें सकेंगे। उन्होने कहा कि प्रत्येक क्षेत्र में हमेशा कुछ न कुछ अच्छा करने की संभावना रहती है।

उन्होने कहा कि योजनान्तर्गत प्रत्येक मंडल मुख्यालय में मंडलायुक्त को नोडल अधिकारी नामित किया गया है। उन्होने बताया कि प्रदेश में 50 लाख से अधिक युवक व युवतियो ने योजना में अपनी रूचि दिखायी हैं तथा 05 लाख से अधिक युवक व युवतियो ने फार्म भरकर पंजीकरण किया।

चयन की प्रक्रिया के उपरान्त 50 हजार से अधिक युवक व युवतियो को साक्षात नि:शुल्क कोचिंग के लिए चुना गया है। मुख्यमंत्री ने बताया कि प्रदेश में मंडी शुल्क को 2.5 प्रतिशत से 01 प्रतिशत किया गया तथा मंडी के बाहर कोई भी मंडी शुल्क न लगे इसकी व्यवस्था की गयी।

उन्होने कहा कि मेरठ का किसान दिल्ली में जाकर भी अपना उत्पाद बेच सकता है। मुख्यमंत्री ने कहा कि जहां छोटी जोत के किसान है उनको कान्ट्रेक्ट फार्मिंग से फायदा होगा। उन्होने कहा कि किसानो को नई तकनीक से फायदा हुआ है। आयुक्त अनीता सी मेश्राम ने बताया कि मुख्यमंत्री अभ्युदय योजना के अंतर्गत मेरठ मंडल में 1382 युवक व युवतियों को साक्षात (फिजिकल) नि:शुल्क कोचिंग के लिए चुना गया है।

जिसके लिए 115 से अधिक अध्यापकों की सूची को भी पढ़ाने के लिए अंतिम रूप दिया गया है। उन्होंने बताया कि मेरठ मंडल में निशुल्क कोचिंग के लिए जनपद मेरठ के सनातन धर्म इंटर कॉलेज सदर, राजकीय इंटर कॉलेज व मेरठ कॉलेज मेरठ को चिन्हित किया गया है।

उन्होने बताया कि 16 फरवरी 2021 से इन तीनो कोचिंग सैन्टर में अपरान्ह 3.30 बजे से कोचिंग प्रारंभ होगी। जिलाधिकारी के बालाजी ने बताया कि मेरठ मंडल में 1382 छात्र छात्राओं को निशुल्क कोचिंग के लिए चुना गया है जिसमें एनडीए व सीडीएस के लिए 55, यूपीएससी के लिए 943, जेईई के लिए 185 तथा एन ईईटी के लिए 199 युवक व युवतियों को चुना गया है।

उन्होंने बताया कि सनातन धर्म इंटर कॉलेज मेरठ में एनडीए व सीडीएस व अन्य अर्धसैनिक बलों सहित अन्य परीक्षाओं की तैयारी कराई जाएगी, राजकीय इंटर कॉलेज में मेडिकल व इंजीनियरिंग के कोचिंग दी जाएगी तथा मेरठ कॉलेज मेरठ में सिविल सेवाओं जैसे आईएएस पीसीएस आदि की कोचिंग निशुल्क दी जाएगी।

What’s your Reaction?
+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments