Wednesday, December 8, 2021
- Advertisement -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
- Advertisement -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
HomeUttar Pradesh NewsMeerutधड़ल्ले से फल-फूल रहा अवैध मिट्टी खनन का कारोबार

धड़ल्ले से फल-फूल रहा अवैध मिट्टी खनन का कारोबार

- Advertisement -
  • जनपद में अवैध मिट्टी खनन के कारोबारी हुए सक्रिय

जनवाणी संवाददाता |

मोदीपुरम: शासन व प्रशासन के लाख प्रयास के बावजूद जनपद मे अवैध खनन पर रोक नहीं लग पा रही है। खनन माफिया द्वारा धड़ल्ले से अवैध मिट्टी का काला करोबार किया जा रहा है और खनन विभाग को इसकी भनक तक भी नहीं है या यह कहे कि उनकी सरपरस्ती में ही यह खेल खेला जा रहा है। इस अवैध कारोबार से जहां खनन माफिया मालामाल हो रहे हैं, वहीं हर महीने सरकार को करोड़ों के राजस्व की भी हानि हो रही है।

उत्तर प्रदेश में अवैध खनन का खेल थमने का नाम नहीं ले रहा है। चाहे बालू, मिट्टी खनन का गोरखधंधा बेरोकटोक चल रहा है। कानून महज कागजों में दर्ज हैं। जमीनी हकीकत कुछ और ही है। मिट्टी खनन के खेल में लिप्त माफियाओं और दबंगों से लेकर सफेदपोश हस्तियों के हाथ में है। कोई इसका विरोध नहीं कर सकता।

प्रशासन और पुलिस महकमा इस धंधे में हिस्सेदार है और खामोशी से धंधा होने दे रहें हैं। छुटभैयों को पकड़-धकड़ कर कभी-कभार औपचारिकता निभा लेते है। अवैध खनन जोर-शोर से चल रहा है। राजनीति के रंगमंच पर कोई भी दूध का धुला नहीं है। कल तक ईमानदारी और स्वच्छ राजनीति का ढिंढोरा पीटने वाले भाजपाई सत्ता आते ही खुद मलाई काटने में लग गए हैं। रात के अंधेरे में और सुबह भी अवैध खनन होते और ट्रैक्टरों व ट्रकों के जरिए होने वाली सिलसिलेवार ढुलाई खुलेआम देखी जा सकती है।

अवैध खनन में इलाके के माफियाओं और नेताओं का नाम और धन दोनों कमा आ रह हैं। देहात क्षेत्र की सड़कों पर मिट्टी लेकर दौड़ रहे डंपर मौत का सबब बने हुए हैं। इन डंपरों के अंधाधुंध चलने से कही भी हादसे हो जाते हैं। देहात क्षेत्र की सड़कों में भी जगह-जगह गड्ढे होने लगे हैं, लेकिन जनपद के प्रशासनिक अधिकारी आखिरकार इनके खिलाफ क्यों कार्रवाई नहीं कर रहे हैं।

आखिर ऐसा कौन-सा दबाव है। जो अधिकारी कार्रवाई करने से अंजान बने हुए है। हम जनपद की बात करे तो यहां पिछले कई वर्षों की तुलना में इस बार कई गुना अधिक खनन का कारोबार बढ़ा है। अगर हम देहात क्षेत्र की बात करे तो दौराला के भराला, धंजू, इकलौता, अझौता समेत आधा दर्जन से अधिक ऐसे गांव है। जिनके जंगलों में जहां धड़ल्ले से स्थानीय प्रशासन की मिलीभगत के चलते अवैध मिट्टी खनन हो रहा है।

वहीं, इन खनन माफियाओं के हौसले इतने बुलंद हो रहे हैं कि ये रात भर मिट्टी के डंपर देहात के रास्तों पर दौड़ा रहे हैं। जिनके चलते यहां हादसों का ग्राफ बढ़ रहा है। ये डंपर चालक अंधाधुंध गति से डंपरों को दौड़ाते हैं। जिनके चलते इन डंपरों के आगे आने से हादसे बढ़ रहे हैं।

इसके अलावा हाल ही में लोक निर्माण विभाग उत्तर प्रदेश की निधि से बने मार्गों पर डंपरों के चलने से यह मार्ग जगह-जगह से क्षतिग्रस्त हो गए हैं। इनके क्षतिग्रस्त होने से जहां स्थानीय लोगों को परेशानी हो रही है। वहीं, लोगों को हादसों का शिकार होना पड़ रहा है।

सरधना तहसील में जहां-जहां अवैध मिट्टी खनन हो रहा है। उन स्थानों के साथ-साथ उन माफियाओं को भी चिह्नित किया जा रहा है। जल्द ही माफियाओं के खिलाफ अभियान छेड़कर कार्रवाई की जाएगी।                    -अमित कुमार भारतीय, एसडीएम 

जनपद में इन क्षेत्रों में जहां अवैध मिट्टी खनन हो रहा है। उन पर छापेमार कार्रवाई की प्रक्रिया को अंजाम दिया जाएगा। ऐसे माफियाओं को चिह्नित कर उनके खिलाफ कार्रवाई कराई जाएगी।
                                                                -शैलेंद्र कुमार मौर्य, जिला खनन अधिकारी

What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Leave a Reply

- Advertisment -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img

Most Popular

- Advertisment -spot_img

Recent Comments