Friday, April 23, 2021
- Advertisement -
HomeINDIA NEWSटोक्यो में पहली बार उतरेंगे चार भारतीय सेलर

टोक्यो में पहली बार उतरेंगे चार भारतीय सेलर

- Advertisement -
0
  • विष्णु और गणपति-वरूण की जोड़ी ने भी किया क्वालीफाई

जनवाणी ब्यूरो |

नई दिल्ली: विष्णु सरवनन के अलावा गणपति चेंगप्पा और वरूण ठक्कर की जोड़ी ओमान में एशियाई क्वालीफायर के जरिए ओलंपिक के लिए क्वालीफाई करके भारतीय खेलों के इतिहास में नया अध्याय जोड़ने में सफल रहे क्योंकि पहली बार ऐसा होगा जबकि टोक्यो में होने वाले खेलों में देश के चार सेलर हिस्सा लेंगे।
बुधवार को नेत्रा कुमानन टोक्यो खेलों के लिए क्वालीफाई करने वाली पहली भारतीय महिला सेलर बनी थी।

उन्होंने मुसानाह ओपन चैंपियनशिप के जरिए लेजर रेडियल स्पर्धा में क्वालीफाई किया। यह प्रतियोगिता एशियाई ओलंपिक क्वालीफाइंग टूर्नामेंट था। भारत पहली बार ओलंपिक में तीन स्पर्धाओं में चुनौती पेश करेगा। अब तक भारत ने ओलंपिक की सिर्फ एक ही स्पर्धा में चुनौती पेश की थी लेकिन चार मौकों पर उसके दो सेलर खेलों के महाकुंभ में जगह बनाने में सफल रहे हैं।

भारतीय याचिंग संघ के संयुक्त सचिव कैप्टन जितेंद्र दीक्षित ने कहा कि हां, इतिहास रचा गया है। चार भारतीय सेलर ने ओलंपिक की तीन स्पर्धाओं के लिए क्वालीफाई किया है। यह क्वालीफाई करने वाले सेलर की अधिकतम संख्या है और साथ ही स्पर्धाओं की भी। उन्होंने कहा कि नेत्रा ने बुधवार को ही क्वालीफाई कर लिया था और आज विष्णु और फिर गणपति और वरूण की जोड़ी ने क्वालीफाई किया।

भारतीय कोच टॉमस जानुजेवस्की ने कहा कि ये नतीजे सेलर, उनके माता-पिता और कोचों की वर्षों की कड़ी मेहनत का नतीजा हैं। टॉमस ने ओमान से कहा कि इस एतिहासिक दिन और भारतीय सेलिंग को नए स्तर पर ले जाने के लिए हमारे चैंपियन खिलाड़ियों को बधाइयां। कोच ने खेल मंत्रालय, भारतीय खेल प्राधिकरण और भारतीय याचिंग संघ को भी लगातार सहयोग के लिए धन्यवाद दिया।

टॉमस ने कहा कि निजी तौर पर मुझे उम्मीद है कि यह भारतीय सेलिंग में नए युग की शुरुआत होगी। सेलर और उनके पीछे का समुदाय शानदार है। समय आ गया है कि वे अपनी पहचान बनाएं और स्थानीय तथा अंतरराष्ट्रीय स्तर पर चमकें। गुरुवार को सरवनन लेजर स्टैंडर्ड क्लास में क्वालीफाई करने वाले पहले भारतीय रहे। उन्होंने थाईलैंड के कीराती बुआलोंग को पछाड़कर ओवरआल दूसरे स्थान पर रहते हुए ओलंपिक कोटा हासिल किया।

सरवनन के 53 जबकि बुआलोंग के 57 अंक रहे। सिंगापुर के रेयान लो जुन हान 31 अंक के साथ शीर्ष पर रहे। बाद में चेंगप्पा और ठक्कर की जोड़ी 49ईआर क्लास में अंक तालिका में शीर्ष पर रहते हुए टोक्यो खेलों में जगह बनाने में सफल रही। इन दोनों ने इंडोनेशिया में 2018 एशियाई खेलों मे कांस्य पदक जीता था।

खेल मंत्री किरेन रीजीजू ने ट्वीट किया कि मैं भारतीय खिलाड़ियों नेत्रा कुमानन, केसी गणपति और वरूण ठक्कर को बधाई देता हूं जिन्होंने टोक्यो ओलंपिक की सेलिंग प्रतियोगिता के लिए क्वालीफाई किया। मैं विशेष रूप से नेत्रा के कोटा हासिल करने से गौरवांवित हूं जो ओलंपिक में क्वालीफाई करने वाली पहली भारतीय महिला सेलर हैं। रीजीजू ने इससे पहले सरवनन को बधाई देते हुए ट्वीट किया था कि मैं विष्णु सरवनन को बधाई देता हूं।

जिन्होंने मुसानाह चैंपियनशिप के जरिए टोक्यो ओलंपिक की लेजर स्टैंडर्ड क्लास सेलिंग स्पर्धा में क्वालीफाई किया। हमारे खिलाड़ी सभी खेलों में छाप छोड़ रहे हैं। सेलिंग की 49ईआर क्लास स्पर्धा में दो खिलाड़ी जोड़ी बनाते हैं जबकि लेजर क्लास एकल स्पर्धा है।

लेजर क्लास की स्पर्धा में दो सेलर टोक्यो ओलंपिक में जगह बना सकते हैं जबकि 49ईआर वर्ग में एक टीम क्वालीफाई कर सकती है। बुधवार तक तीसरे स्थान पर चल रहे सरवनन ने गुरुवार को पदक रेस जीतकर कुल दूसरे स्थान के साथ ओलंपिक कोटा हासिल किया।

What’s your Reaction?
+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -spot_img

Most Popular

- Advertisment -

Recent Comments