Monday, July 26, 2021
- Advertisement -
- Advertisement -
HomeUttarakhand NewsHaridwarचौबीस लाख से अधिक घरों में औषधीय जड़ी-बूटी के साथ गायत्री यज्ञ...

चौबीस लाख से अधिक घरों में औषधीय जड़ी-बूटी के साथ गायत्री यज्ञ सम्पन्न

- Advertisement -
  • गायत्री परिवार प्रमुखद्वय द्वारा शांतिकुंज से हुआ शुभारंभ

जनवाणी ब्यूरो |

हरिद्वार: कोरोना महामारी के बचाव एवं फ्रंटलाइन कोरोना वारियर्स के उत्साहवर्धन हेतु अखिल विश्व गायत्री परिवार का आध्यात्मिक प्रयोग के अंतर्गत गृहे-गृहे गायत्री महायज्ञ का आयोजन बुधवार को सम्पन्न हुआ। वैश्विक स्तर पर चौबीस लाख से अधिक घरों में औषधीय जड़ी-बूटी के साथ गायत्री यज्ञ सम्पन्न हुआ। यह कार्यक्रम एक साथ-एक समय में प्रातः आठ बजे से शुभारंभ हुआ।

इसका शुभारंभ अखिल विश्व गायत्री परिवार प्रमुखद्वय डॉ. प्रणव पण्ड्या एवं शैलदीदी के दीप प्रज्वलन से हुआ। इसके साथ ही प्रमुखद्वय ने भी अपने कक्ष में गायत्री यज्ञ में भागीदारी की। अपने संदेश में अखिल विश्व गायत्री परिवार प्रमुख डॉ. प्रणव पण्ड्या ने कहा कि विश्व स्तर पर तबाही मचाने वाला कोविड-19 से बचाव, मरीजों के स्वास्थ्य लाभ, कोरोना वॉरियर्स के उत्साहवर्धन, पर्यावरण संरक्षण लिए देश-विदेश के गायत्री साधकों ने अपने-अपने घरों में एक साथ-एक समय में गायत्री महायज्ञ में भाग लिया।

आध्यात्मिक प्रयोग के अंतर्गत यह आयोजन बुद्ध पूर्णिमा के पावन अवसर पर सम्पन्न हुआ। आशा है कि एक उद्देश्य के  साथ सामूहिक रूप से किये गये आध्यात्मिक अनुष्ठान प्राणी मात्र को इस महामारी से बचाने के लिए संजीवनी की तरह होगा। शैलदीदी ने कहा कि भारतीय संस्कृति की मूल आधार यज्ञ पिता (सत्कर्म) और गायत्री माता (सद्ज्ञान) है। युगऋषि पूज्य आचार्य श्री ने इन्हें जीवन जीने की शैली के रूप में स्थापित किया है।

यज्ञ का आनलाइन संचालन करते हुए देवसंस्कृति विश्वविद्यालय के प्रतिकुलपति डॉ. चिन्मय पण्ड्या ने यज्ञीय आयोजन को सर्वश्रेष्ठ कर्म बताया। शांतिकुंज व्यवस्थापक महेन्द्र शर्मा ने बताया कि बुद्ध पूर्णिमा के पावन देश-विदेश के चौबीस लाख से अधिक घरों में एक साथ-एक समय में गायत्री यज्ञ का आयोजन हुआ।

इनमें से बहुसंख्य लोग शांतिकुंज से आनलाइन संचालित हुए यज्ञीय प्रक्रिया से जुड़े। तो वहीं अनेक लोग यज्ञ का संचालन स्वयं तथा स्थानीय कार्यकर्त्ताओं ने किया। शर्मा ने बताया कि इसका सजीव प्रसारण यूट्यूब चैनल-शांतिकुंज वीडियो एवं फेसबुक आईडी- एडल्ब्यूजीपीआफिसियल (awgpofficial) में किया गया। सम्पूर्ण कार्यक्रम प्रशासन द्वारा निर्धारित कोविड-19 के अनुशासनों का पालन करते हुए किया गया। राष्ट्रीय जोनल समन्वयक डॉ. ओपी शर्मा ने बताया कि उत्तरप्रदेश, मप्र, ओडिशा, गुजरात, दिल्ली, जम्मू कश्मीर, दिल्ली, पंजाब, हरियाणा आदि राज्यों सहित आस्ट्रेलिया, अमेरिका, कनाडा, दक्षिण अफ्रीका आदि देशों के गायत्री परिजनों ने अपने-अपने घरों में औषधीय जड़ी-बूटियों से हवन किया। पं. श्याम बिहारी दुबे एवं उदयकिशोर मिश्र ने यज्ञ का संचालन किया। तो वहीं ब्रह्मवादिनी बहिनों द्वारा सायंकाल दीपमहायज्ञ सम्पन्न कराया गया।

What’s your Reaction?
+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

- Advertisement -

Leave a Reply

- Advertisment -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img

Most Popular

- Advertisment -spot_img
- Advertisment -

Recent Comments