Tuesday, June 25, 2024
- Advertisement -
Homeसंवादअच्छी आदतें

अच्छी आदतें

- Advertisement -

Amritvani


एक छोटे से गांव में राजू नाम का लड़का रहता था। राजू का परिवार गरीब था, लेकिन उसके दिल में अच्छाई और ईमानदारी की अमूल्य दौलत थी। वह हमेशा आपसी मदद करने के लिए तैयार रहता था। एक दिन, गांव में एक अमीर व्यापारी आया। वह गांव के लोगों के पास एक बड़ा व्यापार करने का प्रस्ताव लेकर आया। उसने कहा, मैं तुम्हारे गांव में एक बड़ा होटल खोलने का इरादा रखता हूं। इसके लिए मुझे कुछ कामकाज करने वाले लोग चाहिए। जो भी मेरे साथ काम करेगा, उसे भरपूर उपहार और पैसे मिलेंगे। सभी गाँव वाले खुश हो गए और व्यापारी के साथ काम करने के लिए तैयार हो गए। लेकिन राजू ने खुद को व्यापारी के साथ काम करने की बजाय गांव के गरीबों की मदद करने का निर्णय लिया। वह जानता था कि गरीब लोगो को उसकी मदद की जरूरत थी। राजू ने मेहनत की और कुछ पैसे जमा करके गांव के गरीबों के लिए खाना बांटने का काम किया। व्यापारी ने खुद को अमीर समझते हुए उसका मजाक उड़ाने की कोशिश की, पर राजू ने खुद को सच्चाई के साथ जोड़ दिया। कुछ महीनों बाद, व्यापारी का होटल खुल गया, पर वह खुश नहीं था। उसका होटल अच्छा खाना बनाने की बजाय बिगड़ता जा रहा था। वह समझ गया कि असली दौलत वह नहीं है जो उसके पैसे में थी, बल्कि वह दौलत है जो उसकी आदतों में थी। असली दौलत वह है जो हमें दूसरों के साथ बढ़ने और साझा करने की भावना देती है, और यही हमारे जीवन को सच्चे संतोष और सुख की ओर ले जाती है। इसलिए, यह सच है कि अच्छी आदतों की महत्वपूर्ण दौलत को हमें कभी भी खोने नहीं देना चाहिए। यह हमारे जीवन को संवारने और खुशियों से भर देने में मदद करता है, और यह भी दिखाता है कि सच्ची दौलत हमारे दिल में छिपी होती है।


janwani address 1

What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Recent Comments