Saturday, January 29, 2022
- Advertisement -
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsMeerutहोट मिक्स प्लांट बंद, फिर भी बन रहीं सड़कें

होट मिक्स प्लांट बंद, फिर भी बन रहीं सड़कें

- Advertisement -

जनवाणी संवाददाता |

मेरठ: एनसीआर क्षेत्र में वायु प्रदूषण दिन पर दिन बढ़ता जा रहा है। वायु प्रदूषण के कारण लोगों का यहां रहना मुश्किल हो गया है। एनसीआर क्षेत्र में आपातकाल घोषित हो चुका है, लेकिन यहां मेरठ में लोग सुधरने को तैयार नहीं है। मेरठ और आसपास के क्षेत्र में होट मिक्स प्लांट बंद करन के निर्देश दिये गये, लेकिन यहां सड़कों के निर्माण के लिये जगह-जगह रोड़ी, डस्ट मिक्स करने के लिये भट्ठियां लगाई जा रही है।

जिससे वायु प्रदूषण बढ़ता जा रहा है और इनके खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है।
बढ़ते प्रदूषण से वायु प्रदूषण के कारण लोग बीमार होते जा रहे हैं। दिल्ली समेत कई जगहों पर स्कूल कालेजों को भी बंद कर दिया गया है और वर्क फ्रॉम होम तक के आर्डर जारी हो चुके हैं।

 

मेरठ में एक्यूआई 400 के पास पहुंच चुका है। जिससे हालात बदतर होते जा रहे हैं। मेरठ आसपास के शहरों में टॉप पर पहुंच चुका है। विशेषज्ञों की माने तो हवा की रफ्तार तेज होने पर ही प्रदूषण के स्तर में गिरावट आएगी, लेकिन पिछले कई दिनों से हवा भी शांत है। जिसका असर यहां दिखाई दे रहा है। एक्यूआई बढ़ रहा है। जिस कारण मुश्किलें और बढ़ सकती है।

भट्ठियों से सड़कों पर खूब उड़ रहा धुआं

बता दें कि यहां वायु प्रदूषण रोकने के लिये हॉट मिक्स प्लांट बंद करने के निर्देश दिये गये थे। प्लांट तो बंद हो गये, लेकिन कई जगहों पर खुलेआम सड़कों पर निर्माण हो रहा है और ठेकेदारों ने अपनी मर्जी के आधार पर सड़क पर ही भट्ठियां लगाकर हॉट मिक्स प्लांट तैयार कर दिये हैं। सड़कों पर भट्ठियां लगाकर वहां रोड़ी को तारकोल में मिक्स किया जा रहा है।

जिस कारण यहां चारों ओर धुआं ही धुआं फैला हुआ है। इस धुएं के कारण आसपास के लोग परेशान है। हॉट मिक्स प्लांट बंद हो चुके हैं, लेकिन ठेकेदारों ने प्रशासन की आंखों में धूल झोंककर इस प्रकार छोटे-छोटे प्लांट बना लिये हैं। इन भट्ठियों से निकलने वाला धुआं वायु प्रदूषण को और अधिक बढ़ा रहा है।

जगह-जगह लगे कूड़े के ढेर में लग रही आग

इसे नगर निगम की ही लापरवाही कहा जायेगा कि शहर में जगह-जगह कूड़े के ढेर लगे हैं और लोग उन कूड़े के ढेरों में खुलेआम आग लगाकर छोड़ रहे हैं। शहर में सोमवार को भी कई स्थानों पर कूड़े के ढेर में आग लगा दी गई। नगर निगम की ही लापरवाही है कि शहर में सड़कों से कूड़ा नहीं उठ पाता और लोग उसे जला देते हैं।

ऐसे में शहरवासियों को भी समझना होगा कि जो हाल वर्तमान में दिल्ली व अन्य आसपास के जिलों में मेरठ में भी अब वह स्थिति दूर नहीं है। अगर यही हालात रहे तो यहां वायु प्रदूषण का स्तर और भी तेजी से बढ़ेगा, जिसके परिणाम सभी को भुगतने होंगे।

300 पार चल रहा एक्यूआई का स्तर

मोदीपुरम: मेरठ समेत एनसीआर क्षेत्र में एक्यूआई का स्तर 300 पार चल रहा है। सोमवार को एक्यूआई स्तर में थोड़ी गिरावट दर्ज की गई। मेरठ में दिल्ली रोड का एक्यूआई सबसे अधिक 340 दर्ज किया गया। पल्लवपुरम में थोड़ी राहत रही।

परंतु, लगातार कूड़ा जलाएं जाने से पल्लवपुरम के लोगों को राहत नहीं मिल पा रही है। वहीं, लोग जागरूक होने का नाम नहीं ले रहे हैं। सोमवार को बागपत का एक्यूआई स्तर 355, गाजियाबाद का एक्यूआई 340, मुजफ्फरनगर का एक्यूआई 345 व शामली का एक्यूआई 335 दर्ज किया गया।

शहर के मुख्य स्थानों का प्रदूषण

  • गंगानगर 319
  • जयभीमनगर 325
  • पल्लवपुरम 268

जलता मिला कूड़ा, तीन पर लगा जुर्माना

 मोदीपुरम: एनसीआर में बढ़ रहे प्रदूषण को देखते हुए प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड की टीम ने सोमवार को कई जगह पर निरीक्षण किया। इस दौरान कई जगह कूड़ा जलता हुआ मिला। जिस पर कड़ी कार्रवाई करते हुए तीन पर जुर्माना भी लगाया गया है।

क्षेत्रीय प्रदूषण नियंत्रण अधिकारी डा. योगेंद्र कुमार ने बताया कि जहां पर भी कूड़ा जलाया जाएगा। वहां पर सख्त कार्रवाई की जाएगी। टीम लगातार मॉनिटरिंग कर रही है और जहां पर भी कूड़ा जलाया जा रहा है, उसे रोक रही है।

सोमवार को गढ़ रोड पर कैंट बोर्ड के डंपिंग ग्राउंड में कूड़ा जलता मिला और शोभित विश्वविद्यालय के परिसर में भी कूड़ा जलता हुआ मिला। इसके अलावा शोभित विश्वविद्यालय पर पांच हजार रुपये जुर्माना और कैंट बोर्ड और नगर निगम पर 25 हजार रुपये का जुर्माना लगाया है। अगर कोई आगे भी कूड़ा जलाता मिला तो उस पर भी कार्रवाई की जाएगी।

टंचिंग ग्राउंड में लगी आग बुझाने में जुटा कैंट बोर्ड

मेरठ: कैंट क्षेत्र का सारा कूड़ा कैंट के टंचिंग गाउंड पर डाला जाता है। यहां कैंट बोर्ड की ओर से एक प्लांट भी तैयार किया जा रहा है जिसमें कूड़े से बिजली बनाये जाने का कार्य किया जाना है। कैंट बोर्ड अधिकारियों को सूचना मिली कि किसी शरारती तत्व की ओर से यहां कूड़े में आग लगा दी गई है। जिस कारण यहां वायु प्रदूषण बढ़ रहा है।

सूचना मिलने पर कैंट बोर्ड की ओर से यहां तत्काल पानी के टैंकर भेजे गये और आग पर काबू पाने का प्रयास किया गया। कैंट बोर्ड कार्यालय अधीक्षक जयपाल सिंह तोमर ने बताया कि बोर्ड की ओर से अब यहां पर एक सबमर्सिबल कनेक्शन भी लगवाया जायेगा। जिससे इस प्रकार की घटनाओं पर काबू पाया जा सके।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
1
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Leave a Reply

- Advertisment -spot_img
- Advertisment -
- Advertisment -

Most Popular

- Advertisment -
- Advertisment -spot_img
- Advertisment -

Recent Comments