Thursday, April 25, 2024
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsMeerutसत्ता की हनक: युवक को मारी गोली

सत्ता की हनक: युवक को मारी गोली

- Advertisement -
  • भाजपा नेता के बाउंसर ने जमीनी विवाद में दिया वारदात को अंजाम
  • पूर्व जिला पंचायत सदस्य पर लगाया आरोप
  • पुलिस भाजपा नेता के दबाव में नहीं कर रही कार्रवाई, हमलावर की गिरफ्तारी नहीं

जनवाणी संवाददाता |

मेरठ: इंचौली के बीटा गांव में जमीनी विवाद के चलते भाजपा नेता के बाउंसर ने एक युवक को गोली मार दी। इंचौली थाना क्षेत्र गांव बीटा निवासी जसवीर गांव में खेती करता है। जसवीर और उसका भाई अंकुर सुबह साढ़े आठ बजे एक बीघा खेत में सरसों बोने के लिए ट्रैक्टर चलाने गये थे। जब जसवीर, अंकुर और दो अन्य ग्रामीण खेत को जोतने लगे तो चाचा राजबीर के परिवार वाले खेत जोतने से मना करने लगे। इस पर दोनों पक्षों के बीच कहासुनी मारपीट हो गई।

मारपीट के चलते राजू खेत से सटे अपने घर गया और तमंचा लेकर खेत पर पहुंच गया। राजू ने जसवीर को गोली मार दी। जसवीर गोली लगते ही नीचे गिर गया। गोली लगते ही हमलावर मौके से फरार हो गया। परिजनों ने 112 नंबर पर पुलिस को सूचना दी। परिजन तत्काल जसवीर को घायलावस्था में लेकर जिला अस्पताल पहुंचे और भर्ती कराया। घायल के भाई अंकुर ने राजू पुत्र राजवीर व राजवीर पुत्र स्व. अमीचन्द के खिलाफ जानलेवा हमले की तहरीर थाना इंचौली पुलिस को दी है।

पुलिस घटना की जांचपड़ताल में जुटी है। इंचौली इंस्पेक्टर का कहना है हमलावर बाप-बेटे के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर ली गई है। अंकुर ने बताया कि राजू भाजपा पूर्व जिला पंचायत सदस्य विक्की तनेजा का बाउंसर है। जिसकी वजह से इंचौली थाना पुलिस सत्ता के दबाव में हमलावर पर कार्रवाई नहीं कर रही है। जबकि राजू हमले के बाद से ही अपने घर पर मौजूद है। पुलिस उल्टा उन पर ही दबाव बनाने में लगी है। पीड़ित का कहना है कार्रवाई न होने पर एसएसपी से मिलेंगे।

 

एमसी सैनी अस्पताल में मरीज की मौत पर हंगामा

मोदीपुरम: पल्लवपुरम फेज-दो स्थित एक अस्पताल में संभलहेड़ा थाना मीरापुर निवासी मरीज महेंद्र की सोमवार को आॅपरेशन के दौरान मौत हो गई। परिजनों ने चिकित्सकों पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए अस्पताल में जमकर हंगामा किया। मौके पर पहुंची पुलिस ने परिजनों को किसी तरह समझा-बुझाकर शांत किया। संभलहेड़ा थाना मीरापुर निवासी महेंद्र (42) विद्युत विभाग में संविदा के पद पर तैनात थे।

चोट लगने के कारण उनके पैरों ने काम करना बंद कर दिया था। जिस पर परिजनों ने उन्हें ऋषिकेश स्थित एम्स में भर्ती कराया। यहां, से चार दिन पहले परिजन महेंद्र को लेकर पल्लवपुरम फेज दो स्थित एमसी सैनी अस्पताल में पहुंचे। चार दिन से महेंद्र का उपचार चल रहा था। परिजनों ने बताया कि चिकित्सकों ने उन्हें बताया कि चोट लगने से रीढ़ की हड्डी के नीचे नसों ने काम करना बंद कर दिया था। सोमवार को चिकित्सकों ने महेंद्र का आॅपरेशन किया। आॅपरेशन के दौरान महेंद्र की मौत हो गई।

महेंद्र की मौत की जानकारी मिलते ही परिजनों में रोष फैल गया। उन्होंने चिकित्सकों पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए हंगामा शुरू कर दिया। जिससे अस्पताल में अफरा तफरी का माहौल उत्पन हो गया। सूचना पर पहुंची पुलिस ने किसी तरह मृतक के परिजनों को आश्वासन देकर शांत कराया। इस मामले में अस्पताल व परिजनों की ओर से कोई शिकायत पत्र थाने पर नहीं दिया गया।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
3
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Recent Comments