Thursday, April 25, 2024
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsMeerutआते मंत्री तो क्या जवाब देते अधिकारी?

आते मंत्री तो क्या जवाब देते अधिकारी?

- Advertisement -
  • पीडब्ल्यूडी मिनिस्टर जब तक पड़ोसी जनपद में रहे, अधिकारियों पर खौफ जारी रहा
  • मेरठ में पीडब्ल्यूडी अधिकारियों और भाजपा कार्यकर्ताओं ने किया मंत्री का स्वागत

जनवाणी संवाददाता |

मेरठ: उत्तर प्रदेश के लोक निर्माण विभाग के कैबिनेट मंत्री जितिन प्रसाद शनिवार को मुजफ्फरनगर जिले में आयोजित विभिन्न कार्यक्रमों में शामिल हुए। इससे पूर्व मेरठ बाइपास के पास टोल प्लाजा पर पीडब्ल्यूडी अधिकारियों व कुछ भाजपा नेताओं ने उनका स्वागत किया। मुजफ्फरनगर दौरे के दौरान लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों को यह चिंता सता रही थी कि कहीं मंत्री जी कुछ समय के लिए मेरठ का रुख न कर लें।

सूत्रों के अनुसार विभागीय अधिकारियों को इस बात का भी डर था कि कहीं मंत्री जितिन प्रसाद अपनी गाड़ी का रुख मेरठ की ओर न करवा लें और गड्ढा मुक्त सड़कों के अभियान की हकीकत न जान लें। दरअसल, मेरठ में सड़कों का बुरा हाल है। यहां सड़कों में गड्ढों की भरमार है। अधिकारी इसी को लेकर सहमे हुए थे। भले ही शासन स्तर से लोेक निर्माण विभाग को 30 नवम्बर तक का समय मिल गया हो, लेकिन काम की प्रगति अभी भी कम है।

इसको लेकर अधिकारी डरे हुए थे। मुजफ्फरनगर के खतौली में मंत्री जी ने सबसे पहले वहां की-वोटर्स से सम्पर्क किया और उसके बाद उन्होंने मुजफ्फरनगर के अम्बर पैलेस में आयोजित प्रबुद्ध नागरिक सम्मेलन में भागेदारी की। लोक निर्माण विभाग के मंत्री मुजफ्फरनगर के नावला गांव भी गए और यहां ग्राम चौपाल में शामिल हुए। पार्टी सूत्रों के अनुसार मुजफ्फरनगर में विभिन्न कार्यक्रमों में शामिल होने के बाद पीडब्ल्यूडी मिनिस्टर अमरोहा के लिए रवाना हो गए।

इस बीच जब तक मंत्री मुजफ्फरनगर में रहे तब तक पीडब्ल्यूडी अधिकारी बिल्कुल अलर्ट मोड पर रहे। मंत्री के मुजफ्फरनगर और खतौली के कार्यक्रम समाप्त होने के बाद ही मेरठ में पीडब्ल्यूडी अधिकारियों ने राहत की सांस ली। मंत्री जितिन प्रसाद जब भी कहीं दौरे पर जा रहे हैं तो

वो वहीं और उसके आस पास के जिलों में गड्ढा मुक्त सड़कों पर कितना काम हुआ इसकी समीक्षा कर रहे हैं। खुद विभिन्न मार्गों का निरीक्षण तक कर रहे हैं। इसी को लेकर अधिकारियों को इस बात का डर था कि यदि मंत्री जी मेरठ में कुछ देर के लिए रुक गए और गड्ढा मुक्त अभियान की समीक्षा कर ली गई तो अधिकारी क्या जवाब देंगे।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
2
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Recent Comments