Friday, May 31, 2024
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsMeerutइमाम-ए-हरम रखेंगे अयोध्या में मस्जिद की नींव

इमाम-ए-हरम रखेंगे अयोध्या में मस्जिद की नींव

- Advertisement -
  • मुसलमानों में उत्साह, मेरठ के मुसलमान जाएंगे अयोध्या
  • ताज महल से ज्यादा खूबसूरत होगी मस्जिद
  • दुनिया की सबसे बड़ी कुरान रखी जाएगी यहां

जनवाणी संवाददाता |

मेरठ: अयोध्या से 25 किलोमीटर दूर धन्नीपुर में बनने वाली मस्जिद की नींव इमाम-ए-हरम अब्दुल रहमान अल सुदैस रखेंगे। मस्जिद ताज महल से ज्यादा खूबसूरत होगी और यहां दुनिया की सबसे बड़ी कुरान भी रखी जाएगी। इसको लेकर खबरें सोशल मीडिया पर भी वायरल हो रही हैं। मेरठ के कई मुस्लिम बाहुल्य इलाकों के मुसलमानों में अब मस्जिद के निर्माण और संग ए बुनियाद (शिलंयास) को लेकर जिज्ञासा है। खैरनगर, इस्लामाबाद, रशीद नगर, श्याम नगर व किदवईनगर के कई लोगों का कहना है कि वो मस्जिद की संग ए बुनियाद में शामिल होने अयोध्या जाएंगे।

दरअसल जो मस्जिद का नक्शा डिजाइन किया गया है वो बेहद खूबसूरत है। इस मस्जिद की नींव रखने के लिए इमाम ए हरम (सऊदी अरब) भारत आएंगे। हालांकि इस बात की भी सुगबुगाहट है कि इस शिलंयास कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी भी पहुंच सकते हैं। उधर, जमीयत उलेमा-ए-हिन्द के मौलाना महमूद मदनी पूर्व में ही यह फरमान जारी कर चुके हैं कि यदि पीएम इस कार्यक्रम में शामिल होंगे तो जमीयत से जुड़े उलेमाओं को कार्यक्रम से दूरी बनानी होगी। मस्जिद कमेटी के हाजी अराफात शेख के अनुसार यह मस्जिद ताज महल से ज्यादा खूबसूरत होगी

तथा इसमें रखे जाने वाले कुरान की ऊंचाई 21 फीट एवं चौड़ाई 36 फीट होगी। मस्जिद का नाम मुहम्मद बिन अब्दुल्लाह रखा गया है। मस्जिद परिसर में कैंसर हॉस्पिटल के अलावा स्कूल, म्यूजियम व लाइब्रेरी भी प्रस्तावित हैं। मस्जिद परिसर में ही एक होटल भी होगा जिसमें शाकाहारी खाना परोसा जाएगा और यहां आने वाले लोगोें को खाना मुफ्त दिया जाएगा। बताया जाता है कि इस मस्जिद परिसर में मौलाना अहमद उल्ला शाह के नाम पर एक रिसर्च सेंटर भी स्थापित किया जाएगा।

प्रधानमंत्री ही रखें मस्जिद की संग-ए-बुनियाद

अयोध्या के धन्नीपुर में मस्जिद की नींव (संग ए बुनियाद) रखने भारत आ रहे इमाम-ए-हरम के दौरे का विरोध भी शुरु हो गया है। यह विरोध बरेलवी उलेमा मौलाना शाहबुद्दीन रजवी ने किया है। उन्होंने कहा कि मस्जिद की नींव रखने के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को आमंत्रित किया जाना चाहिए। उन्होंने अभी तक मस्जिद के निर्माण का काम शुरु न होने पर नाराजगी जताते हुए कहा कि मन्दिर बनकर तैयार है, लेकिन मस्जिद का निर्माण अभी शुरु भी नहीं हुआ है। उन्होंने यह भी कहा कि 22 जनवरी को जब पीएम अयोध्या में होंगे उसी दिन उनसे मस्जिद की नींव भी रखवानी चाहिए।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Recent Comments