Wednesday, February 28, 2024
HomeUttar Pradesh NewsMeerutफिल्मी स्टाइल में बदमाशों के पीछे दौड़ते रहे दारोगा

फिल्मी स्टाइल में बदमाशों के पीछे दौड़ते रहे दारोगा

- Advertisement -
  • सैंट्रो कार लूटकर भाग रहे बदमाशों ने मुठभेड़ में चौकी इंचार्ज मुनेश कसाना को मारी गोली
  • हालत गंभीर, पुलिस कस्टडी से छुड़ा ले गए साथी बदमाश को

जनवाणी संवाददाता |

मेरठ: बाइपास स्थित विवाह मंडप के बाहर से कार लूट कर भाग रहे बदमाशों ने मंगलवार तड़के कंकरखेड़ा इलाके में ने घेर लिए जाने पर दुस्साहस दिखाते हुए चौकी इंचार्ज मुनेश सिंह कसाना के सीने में गाली मार दी और फरार हो गए। घायल दारोगा को गाजियाबाद के मैक्स हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया।

तड़के तीन बजे

कंकरखेड़ा के हाइवे चौकी क्षेत्र स्थित एचआर गार्डन मंडप में सोमवार की शाम शादी समारोह था। मंगलवार तड़के करीब तीन बजे शादी समारोह से ज्यादातर मेहमान जा चुके थे। जो परिवार के लोग थे तथा कुछ नजदीकी रिश्तेदार थे, वो विवाह मंडप में मौजूद थे। मौसम बेहद सर्द था। विवाह मंडप के भीतर ही आग जलाकर सर्दी से निजात पाने की कोशिश थी। सर्दी की वजह से बाहर कोई नजर नहीं आ रहा था।

खुर्जा निवासी सोनू को जगाया

इस विवाह समारोह में खुर्जा निवासी सोनू सैनी भी शामिल होने के लिए आया था। सर्दी अधिक होने की वजह से वह रात को वापस नहीं लौटा और ठंड से बचने के लिए गाड़ी में ही सो गया। लगभग तीन बजे अचानक उसकी कार की खिड़की पर किसी ने दस्तक दी। उसने विंडो का शीशा नीचे किया।

14 21

शीशा नीचे होते ही बदमाशों में एक ने उस पर पिस्टल तान दी। वह बुरी तरह घबरा गया। इशारे से बदमाशों ने उसको बाहर निकलने का इशारा किया। जैसे ही वह बाहर आया। उसको धक्का देकर तीन बदमाश उसकी गाड़ी में समा गए। अगले ही पल गाड़ी रोड पर हवा से बातें करती नजर आयी।

लूट के शोर पर गार्ड भागे

गन प्वांइट पर गाड़ी लूट लिए जाने से बदहवास सोनू ने विवाह मंड़प के बाहर खडेÞ होकर लूट लिया-लूट लिया, चींखना चिल्लाना शुरू कर दिया। उसकी आवाज सुनकर गार्ड दौड़े। इस बीच लूट की जानकारी मिलने पर विवाह मंडप के भीतर से भी कुछ रिश्तेदार बदहवासी की हालत में दौड़ते हुए बाहर आए। विवाह मंडप के गार्डों ने पुलिस को सूचना दी तो हाइवे चौकी इंचार्ज मुनेश कसाना मौके पर जा पहुंचे। सोनू ने उन्हें बताया कि केवल कार ही नहीं बल्कि मोबाइल व हजारों की नकदी भी बदमाश लूटकर ले गए।

गाड़ी के जीपीएस से ट्रेस

जिस गाड़ी को लूटा गया उसमें जीपीएस सिस्टम लगा था। गाड़ी की लोकेशन लिसाड़ीगेट क्षेत्र में मिल रही थी। बगैर वक्त गंवाए पुलिस ने गाड़ी को ट्रेस करते हुए पीछा करना शुरू किया। शायद पुलिस के आने की भनक बदमाशों को लग गयी थी। पुलिस से बचने के लिए बदमाश भागने लगे,

लेकिन कंकरखेड़ा क्षेत्र में आकर पुलिस और बदमाशों का फासला मिट गया। बताया गया कि कंकरखेड़ा चौकी इंचार्ज ने एक बदमाश को पकड़ भी लिया, लेकिन साथी को छुड़ाने के लिए बदमाश ने दारोगा पर गोली चला दी। गोली चौकी इंचार्ज मुनेश सिंह के सीने में जा गली। गोली लगते ही वह पीछे की ओर लुढ़क गए। इसके बाद छुड़ाए गए साथी समेत फरार होने में कामयाब हो गए।

ये पुलिस कर्मी थे मौके पर मौजूद

कंकरखेड़ा में बदमाशों द्वारा चलाई गोली के दौरान दारोगा मुनेश कुमार के साथ हेड कांस्टेबल परविंदर मलिक, हेड कांस्टेबल सचिन खिवाल व कांस्टेबल रविंद्र मौजूद था। वहीं, अन्य दारोगा वह पुलिस फोर्स भी घटनास्थल पर पहुंच रहे थे। दारोगा सुनील कुमार की तहरीर पर पुलिस ने आरोपी के खिलाफ अज्ञात में मुकदमा दर्ज कर दिया।

अफसरों में हड़कंप

चौकी इंचार्ज को बदमाशों के गोली मारने की खबर मिलते ही आला अफसरों में हड़कंप मच गया। दारोगा को गंभीर हालत में कैलाशी हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया, जहां से उन्हें हायर सेंटर रेफर कर दिया गया है। बाद में उन्हें गाजियाबाद के मैक्स में भर्ती कराया गया।

मुनेश कसाना का प्रोफाइल

चौकी प्रभारी मुनेश सिंह कसाना पुत्र दीवान सिंह ग्राम बलिकापुरा, थाना चिरहाट आगरा के रहने वाले हैं। एक साल पहले गाजियाबाद से मेरठ आए। गाजियाबाद में एसओ भोजपुर रहे हैं। मेरठ में बिजली बंबा चौकी इंचार्ज भी रहे हैं। जुलाई से कंकरखेड़ा की हाइवे चौकी के इंचार्ज हैं। वह पहलवानी के भी शौकीन बताए जाते भी हैं।

बदल दी नंबर प्लेट

दारोगा पर गोली चलाने वाले बदमाशों ने लिसाड़ी गेट में जाकर गाड़ी की नंबर प्लेट को बदल दिया था। गाड़ी पर ओरिजिनल नंबर दिल्ली का था, बदमाशों ने यूपी 15 नंबर डाल दिया। जीपीएस की मदद से पुलिस ने इन्हें ट्रैक कर लिया, घिरते ही बदमाशों ने फायरिंग कर दी। वारदात की जानकारी पर एसएसपी रोहित सिंह सजवाण समेत कई पुलिस अफसर व थानेदार मौके पर पहुंचे। बदमाशों को पकड़ने के लिए पुलिस की चार चार टीम लगाई गई हैं।

मुनेश आईसीयू में, परिजन चिंतित

बदमाशों की गोली से घायल चौकी मुनेश कसाना का गाजियाबाद के मैक्स अस्पताल में चार घंटे आपरेशन चला। फिलहाल उनकी हालत गंभीर बनी हुई है। गोली लगने की बुरी खबर जब कंकरखेड़ा के यूरोपियन स्टेट में रह रहे परिजनों को मिली तो कोहराम मच गया। पत्नी व बच्चे बदहवास हो गए। उनके लिए परेशान होकर अधिकारियों को फोन काल्स करने लगे। उन्हें भी मैक्स ले जाया गया। इस घटना के बाद से उनका परिवार काफी डरा हुआ हैं। परिजन तथा पुलिस वाले यही प्रार्थना कर रहे हैं कि मुनेश जल्द से जल्द ठीक हो जाएं।

  • तीन बदमाश थे

वारदात को अंजाम देने वाले कार में तीन बदमाश सवार थे। उन्होंने कार के अंदर से गोली चलाई। उसके बाद कार को छोड़कर भाग गए। चार टीमें लगाकर बदमाशों की तलाश की जा रही है। घायल दारोगा का बेहतर इलाज कराया जा रहा है। -रोहित सिंह सजवाण, एसएसपी

What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Recent Comments