Tuesday, May 21, 2024
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh Newsनिर्माणाधीन बाढ़ परियोजनाओं को आगामी 15 जून तक कराने के निर्देश

निर्माणाधीन बाढ़ परियोजनाओं को आगामी 15 जून तक कराने के निर्देश

- Advertisement -

जनवाणी ब्यूरो |

लखनऊ: प्रदेश सरकार के जलशक्ति मंत्री स्वतंत्र देव सिंह ने बुधवार को तेलीबाग स्थित डा राम मनोहर लोहिया परिकल्प भवन स्थित सभागार में बाढ़ पर चिंतन विषय पर विभागीय अधिकारियों के साथ बैठक की। इस अवसर पर बाढ़ से बचाव के संबंधी कार्य करने वाले विभिन्न संगठनों द्वारा बाढ़ प्रबंधन के लिए किए गए कार्य एवं महत्वपूर्ण सुझाव भी दिया गया। इसके साथ ही विभिन्न संगठनों द्वारा बाढ़ बचाव संबंधी अब तक पूर्ण की गयी परियोजनाओं की सक्सेस स्टोरी, वर्तमान में निर्माणाधीन तथा भविष्य की परियोजनाओं के बारे में प्रशतुतिकरण भी दिया गया।

जल शक्ति मंत्री ने इस अवसर पर कहा कि निर्माणाधीन बाढ़ परियोजनाओं के समस्त कार्य किसी भी स्थिति में रुकने ना पाए तथा आगामी 15 जून तक अवश्य पूर्ण करा लिए जाएं जिससे जनता को उनका अधिकतम लाभ प्राप्त हो सके। निर्माणाधीन परियोनाओं से संबंधित समस्त अवर अभियंताओं का एक व्हाट्सऐप ग्रूप बनाया जाय जिस पर किसी भी निर्माणाधीन परियोजना के कार्य रुकने की स्थिति में तसमय सूचित किया जाय एवं तत्काल उच्च अधिकारियों द्वारा उसका समाधान कराया जाय।

जल शक्ति मंत्री ने कहा कि विगत वर्षों की भाँति वर्ष 2023 में भी प्रदेश में बाढ़ कार्यों की परियोजनाओं को अभियान चलाकर पूर्ण करायें। उत्तर प्रदेश राज्य बाढ़ नियंत्रण परिषद की स्थायी संचालन समिति के द्वारा कुल 288 बाढ़ परियोजनाएं अनुमोदित की गयी, जिन्हें आगामी वर्षाकाल के पूर्व युद्ध स्तर पर कार्य कराकर पूर्ण करा लिया जाय।

परियोजनाओं के गठन में नवीन तकनीकी विधियों का समावेश किया जाए। बाढ़ परियोजनाओं के क्रियान्वयन धरातल पर पूर्ण पारदशिर्ता से एवं गुणवत्तापूर्ण ढंग से सुनिश्चित कराएं। परियोजना के पूर्ण हो जाने पर क्षेत्रीय जनता को अत्यधिक लाभ होगा एवं बाढ़ कार्य के समय जान-माल की सुरक्षा हो सकेगी।

जल शक्ति मंत्री ने कहा कि मुख्यमंत्री के कुशल नेतृत्व में सम्पूर्ण प्रदेश, विशेषकर सिंचाई विभाग चहुँमुखी प्रगति पर है। बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में विभाग के अधिकारियों द्वारा दिन-रात सजग रहकर बाढ़ कार्यों का सम्पादन कर संवेदनशील स्थलों को सुरक्षित किया गया एवं जनधन की हानि होने नहीं दी गयी।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
1
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Recent Comments