Tuesday, April 23, 2024
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsMeerutखुफिया एजेंसी फेल, एजेंटों का खेल!

खुफिया एजेंसी फेल, एजेंटों का खेल!

- Advertisement -
  • फर्जी पासपोर्ट बनवाने में स्थानीय एलआईयू दारोगा की मिलीभगत
  • पांच साल से मठाधीश दारोगा कर रहा जांच के नाम पर एजेंट से वसूली

जनवाणी संवाददाता |

मेरठ: मवाना क्षेत्र में फर्जी पासपोर्ट बनवाने वाले संचालकों से सांठगांठ कर उल्टा पहाड़ा पढाने वाले स्थानीय तोर पर तैनात एलआईयू दारोगा ऐजेंट के साथ दलालों के सहारे अपनी डयूटी को अंजाम देने में कामयाब हो रहा है। तहसील मवाना में करीब पांच साल से मठाधीश दारोगा ने नगर में कई एजेंट बनाकर अवैध वसूली की पुष्टि जनता कर चुकी है, लेकिन विभाग के अधिकारियों ने संज्ञान लेते हुए भी कोई समाधान नहीं कर सके हैं।

एटीएस की टीम ने फर्जी पासपोर्ट बनवाने एवं रिपोर्ट देने वाले दारोगा संचालकों में शामिल है। अवैध वसूली करने के नाम पर एजेंट से वसूली कर स्वयं हस्तक्षेप कर पासपोर्ट के साथ अन्य जांच में इनकी वसूली कार मे चलती दिखाई देखी जा सकती है। किसी भी शरारती तत्वों को विदेशी भेजने के लिए स्थानीय खुफिया एजेंसी से जुडेÞ दारोगा एवं एजेंट के लिए पासपोर्ट बनवाने वाले संचालकों की अहम् भूमिका जुड़ी हुई हैं। नगर के मोहल्ला कल्याण सिंह अटोरा रोड निवासी मुंशी पुत्र सिराजुद्दीन ने अपनी अलग-अलग दस्तावेज के आधार पर दो फर्जी पासपोर्ट बनवाने में कामयाब हो गया है

05 9

तो वही इसकी वजह एटीएस की टीम ने स्थानीय खुफिया एजेंसी से जुडेÞ दारोगा जितेन्द्र कुमार एवं एजेंट की मिलीभगत सामने आने की बात उच्चाधिकारियों को बताई है। इसी क्रम में स्थानीय एलआईयो एसआई अधिकारियों के साथ स्थानीय नगर के भाजपा सत्ताधारियों के साथ कुछ पत्रकार को अपना शिकार बनाकर रोब गालिब कर अवैध वसूली करने का आरोप है।

छह साल से मठाधीश है खुफिया एजेंसी दारोगा

तहसील में छह साल से मठाधीश दारोगा जितेन्द्र कुमार ने फर्जी दस्तावेज पर एजेंट के सहारे अपनी रिपोर्ट बिना जांच लगातार ऐसी ही लगातार बढ़ रही है। दलालों से सांठगांठ कर फर्जी पासपोर्ट के साथ अवैध लाइसेंस आदि खुफिया एजेंसी से जुडेÞ होने वाली रिपोर्ट पर एजेंट खुद मुहर एवं साइन कर रहे हैं।

काले शीशे एवं लग्जरी कार में होती है जांच

फर्जी पासपोर्ट बनवाने वाले आरोपी मुंशी पुत्र सिराजुद्दीन ने पुलिस टीम को बताया कि स्थानीय खुफिया एजेंसी से जुड़े दारोगा एवं एजेंट ने मिलकर हजारों रुपये की उगाही की। ऐजेंट ने खुफिया अधिकारी को लेकर निश्चित रूप से कोई कार्रवाई नहीं होने की बात कहते हुए हजारों रुपये की वसूली की। सूत्रों के अनुसार गत दिनों पहले नगर निवासी एक व्यक्ति से नेटवर्किंग साइट चलाने के मामले में एलआईओ दारोगा एवं एजेंट के माध्यम से लाखों रुपये की लूट की थी।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
2
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Recent Comments