Monday, April 22, 2024
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsBijnorजंदरपुर-गजरौला मार्ग की हालत बद से बदतर, चलना हुआ मुश्किल

जंदरपुर-गजरौला मार्ग की हालत बद से बदतर, चलना हुआ मुश्किल

- Advertisement -
  • डेढ़ वर्ष पूर्व ग्रामीणों ने मुख्यमंत्री जनसुनवाई केंद्र पर की थी शिकायत

जनवाणी ब्यूरो |

बिजनौर: बिजनौर-मंडावर रोड स्थित जंदरपुर-गजरौला मार्ग की देखरेख नहीं होने से सड़क में गहरे-गहरे गड्ढे हो गए हैं। डेढ़ वर्ष पूर्व मुख्यमंत्री जनसुनवाई केंद्र पर ग्रामीणों की शिकायत करने पर पीडब्ल्यूडी कर्मचारियों ने पत्थर डालकर गड्ढे तो भरवा दिए थे, लेकिन तारकोल डालना भूल गए।

जिससे आने जाने वालों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। जंदरपुर-गजरौला मार्ग पर लगभग दो किलोमीटर के रास्ते में लोक निर्माण विभाग की सड़क पर कई वर्ष से तारकोल डालकर पक्का नहीं करवाया गया है। मार्ग की हालत बद से बदतर है। पैदल चलने वालों के साथ सड़क किनारे रह रहे लोगों का बुरा हाल है।

टूटी-फूटी सड़क पर वाहन चलने से धूल होने के कारण ग्रामीण तमाम बीमारियों का शिकार हो रहे हैं। गन्ने का सीजन शुरू होने वाला है, इस मार्ग पर दो गन्ना सेंटर लगाए जाते हैं। आसपास के एक दर्जन से अधिक किसान इन सेंटरों पर गन्ना तोलने के लिए आते हैं।

बारिश के मौसम में सड़क में बने गड्ढों में पानी भर जाता है। इसमें दुपहिया व पैदल चलने वाले गिरकर चोटिल हो जाते हैं। कोई भी अधिकारी या जनप्रतिनिधि इस ओर ध्यान नहीं दे रहे हैं। यह मार्ग एक दर्जन से अधिक गांवों को जोड़ने वाला संपर्क मार्ग है।

गजरौला शिव के प्रधान मुकेश राजपूत, शशांक राजपूत, शौकत, अजय कुमार व महेश कुमार, मोहसिन, इमरान, सुनील कुमार, योगेश कुमार, राम सिंह, नरेश कुमार, पवन सिंह आदि ग्रामीणों ने डीएम से उक्त मार्ग पर तारकोल कराने की मांग की है।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Recent Comments