Saturday, June 22, 2024
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsMeerutखादर क्षेत्र में खुलेआम बनाया जा रहा जहर

खादर क्षेत्र में खुलेआम बनाया जा रहा जहर

- Advertisement -
  • हंगामें के बाद भी मौन रही थाना पुलिस
  • प्रतिवर्ष अवैध शराब से चली जाती है दर्जनों मौत

जनवाणी संवाददाता | 

हस्तिनापुर: देश प्रदेश में आए दिन होने वाले हादसों के बाद भी थाना पुलिस की मिलीभगत के चलते खादर क्षेत्र में खुलेआम अवैध कच्ची शराब का जहर लोगों को पिलाया जा रहा है।

गंगा की तलहटी और झीलों के आसपास अवैध कच्ची शराब का जखीरा बनाने वाले शराब माफियाओं मिलीभगत के चलते पुलिस आबकारी की पहुंच से हमेशा दूर ही रहते हैं हादसों के बाद होने वाली छापेमारी महज एक दिखावा बन कर रह जाती है। हाल ही में प्रदेश में दो जगह अवैध कच्ची शराब से दर्जनों जान गई लेकिन खादर क्षेत्र में इस अवैध शराब का कारोबार पर कोई फर्क नहीं पडा।

ऐसा नही की खादर क्षेत्र में बनाये जाने वाले इस अवैध जहर के बारे में अधिकारी हो या नेताओं को, नहीं पता होता कि अवैध शराब का कारोबार कैसे फलता-फूलता रहता है।

जब लोगों की मौत होती है तो सबकी चुपी टुटा जाती है लेकिन मुआवजा, निलंबन, इधर छापे-उधर छापे, कुछ दिन बाद माहौल शांत हो जाएगा। लोग भी घटना को भूल जाते है और अवैध शराब की भट्टियां फिर सुलगने लगेंती।

सस्ती शराब फिर मिलने लगेगी। लेकिन जिन परिवारों के लोग जहरीली शराब पीकर मौत की नींद सो गये, वो परिवार हमेशा सदमे और मुश्किल हालात से जूझते रहेंगे।

दर्जनों मौत के बाद भी नहीं हुआ बंद

बात करें तो हालही में मेरठ जनपद रोहटा थाना क्षेत्र के गांव डुगरं व जाॅनी थाना क्षेत्र के गांव मीरपुर जखेडा में अवैध कच्ची शराब से कई मौत हुई लेकिन खादर क्षेत्र में इन जहरीली शराब कांड का कोई असर नही हुआ और कच्ची शराब का कालाकारोबार खुलेआम फलता फूलता नजर आया।

महिलाओं के हंगामें का भी नही हुआ कोई असर

खादर क्षेत्र में बनाई जाने वाली अैवध कच्ची शराब की बिक्री सबसे अधिक हस्तिनापुर की कालोनियों में कही जाती है जिससे परेशान सैकडों महिलाओं ने गत 22 सितंबर को थाना पुलिस को शराब माफियाओं के नाम देते हुए जमकर हंगामा किया लेकिन पुलिस की मिलीभगत के चलते शराब माफियाओं का कुछ नही हुआ। जिसके बाद शराब माफियाओं के हौसले और बुंलद हो गये।

महिलाएं भी करती हैं कारोबार

खादर क्षेत्र में गुड़ व शीरे से कच्ची शराब बनाने का कारोबार खूब फलफूल रहा है। खादर क्षेत्र के गांवों में बड़े पैमाने पर कच्ची शराब बनाकर बेची जा रही है।

खादर क्षेत्र से सटे गांवों में छापेमारी में हर साल करीब हजारों लीटर कच्ची शराब पकड़ी जाती है। खासबात ये है कि पुरुषों के बराबर ही महिलाएं भी इस कारोबार को कर रही हैं।

क्या कहती है थाना पुलिस

मंगलवार को थाना प्रभारी पर लाईन हाजिर होने के बाद थाने की कमान संभालने आये थाना प्रभारी अशोक कुमार को कहना है कि मामला उनके संज्ञान में नही है जल्द ही जानकारी कर शराब पर क्षेत्र में अकुंश लगाया जायेगा।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Recent Comments