Wednesday, May 25, 2022
- Advertisement -
- Advertisement -spot_img
HomeUttar Pradesh NewsMeerutखतरा-ए-जान: सीएनजी किट पर बैठकर बच्चे जा रहे स्कूल

खतरा-ए-जान: सीएनजी किट पर बैठकर बच्चे जा रहे स्कूल

- Advertisement -
  • नौनिहालों की जिंदगी से खेलने लगे वाहन चालक
  • सीएनजी किट लगी वैन से ढोए जा रहे बच्चे, अभियान का कोई असर नहीं

जनवाणी संवाददाता |

मेरठ: स्कूली बच्चों की जान की परवाह किए बगैर स्कूल वैनों का संचालन किया जा रहा है। वैन वाले क्षमता से दोगुने बच्चों को ठूंस-ठूंसकर भर लेते हैं और तेज रफ्तार से वैन भगाते हैं। इतना ही नहीं, वैन सीएनजी किट से चलाई जा रही हैं, जो बेहद खतरनाक है। इन्हें ट्रैफिक पुलिस व आरटीओ की कार्रवाई का भी डर नहीं है। स्कूल खुलते ही एक बार फिर मासूमों की जिंदगी हाशिये पर है। सीएनजी किट लगे स्कूल वाहनों से बच्चों को स्कूल ले जाने और घर छोड़ने का सिलसिला फिर चल पड़ा है। विडंबना यह है कि न तो वाहन चालक सुधरे हैं और न अभिभावक ने इस बारे में कोई सुरक्षात्मक पहल की है। नजीता पुलिस व आरटीओ की ओर से पिछले सेशन में चलाया गया अभियान भी निष्प्रभावी हो गया है।

गाजियाबाद और अन्य जिलों में स्कूली बच्चों के साथ हुए हादसों के बाद भी सहायक संभागीय परिवहन कार्यालय आंखों पर पट्टी बांधकर बैठा है। प्रतिबंध के बाद भी पुराने वाहनों में सीएनजी किट लगाकर स्कूली बच्चों को ढोया जा रहा है। बिना फिटनेस वाले वाहनों से बच्चों को स्कूल लाया और ले जाया जा रहा है। शहरी क्षेत्र के सभी स्कूलों में बच्चों को स्कूल तक लाने के लिए गाड़ियां लगी हुई हैं। बसों के अलावा बड़ी संख्या में आटो, टेंपो और वैन का इस्तेमाल हो रहा है। शहरी क्षेत्र में डीजल से चलने वाले आटो और टेंपो का परमिट रद हो चुका है। इसके बावजूद वे बच्चों को ढो रही हैं।

सीएनजी किट लगे वाहनों में जा रहे बच्चे

शहर के सभी स्कूल खुलने के बाद फिर वाहनों की लम्बी कतारें लगने लगी हैं। इन वाहनों के बीच में कुछ ऐसे भी स्कूली वाहन शामिल हैं, लोगों ने चोरी छुपे अवैध सीएनजी किट लगा रखी है। इससे मासूमों की जिंदगी पर हर पल खतरा मंडरा रहा है। क्रांतिधरा में कई बार स्कूल वाहन हादसे का शिकार हो चुके हैं। कुछ मासूमों की जान भी जा चुकी है।

परिवहन विभाग के नियमों को रखा ताख पर

शहर में स्कूली वाहन परिवहन विभाग के नियमों को ताख पर रखकर मासूम बच्चों की जिंदगी से खुलेआम खिलवाड़ कर रहे है। जहां स्कूली वाहनों में सीएनजी किट का प्रयोग किया जा रहा है। इतना ही नहीं वाहनों में आग बुझाने वाले यंत्र तक नहीं है। ये लापरवाही संज्ञान में आने पर कई स्कूली वाहनों के चालान काटने के साथ कई वाहनों को किया जब्त कर लिया गया।

सीएनजी किट के ऊपर बैठा रहे बच्चों को

वाहनों में बच्चों को सीएनजी किट के ऊपर बैठाकर पहुंचाया जाता है। वहीं, बसों के बोनट पर बैठाकर बच्चों को स्कूल छोड़ा जाता है। प्रशासन द्वारा चेंकिग अभियान द्वारा इन लापरवाहियों को उजागर किया गया। परिवहन विभाग ने शहर के छोटे-बड़े वाहनों का चालान काट लिया।

कभी भी हो सकता है बड़ा हादसा

नगर और क्षेत्र में चल रहे सीएनजी किट के वाहनों से बच्चे अपने-अपने विद्यालयों में जाते हैं। पैसों के लालच के चलते वाहन चालक सीएनजी किट का इस्तेमाल कर रहे हैं। पेट्रोल-डीजल पर कम खर्च करने के चक्कर में वैन वाले सीएनजी किट से चला रहे हैं। इन पर कार्रवाई करने के लिए आरटीओ और एआरटीओ है, लेकिन वह कार्रवाई नहीं कर रहे हैं। यह वैन गली, मोहल्लों से लेकर शहर के वीआइपी इलाकों में चल रही है।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
3
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -
spot_img
- Advertisment -
- Advertisment -

Most Popular

- Advertisment -
- Advertisment -spot_img
- Advertisment -

Recent Comments