Wednesday, September 22, 2021
- Advertisement -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
- Advertisement -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
HomeUttar Pradesh NewsMeerutअपहरण की योजना से पहले दोस्त को मार डाला

अपहरण की योजना से पहले दोस्त को मार डाला

- Advertisement -
  • दोस्तों ने की थी हिमांशु की हत्या, नाले में फेंका था शव
  • हत्याकांड में पुलिस ने चार दोस्तों को गिरफ्तार कर उठाया पर्दा

जनवाणी संवाददाता |

सरूरपुर: करनावल के गंदे नाले में डेढ़ महीने पहले मिले अज्ञात शव का मंगलवार को पुलिस ने खुलासा कर दिया है। नाले में मिला शव करनावल के गौरव का था जहां उसे उसके ही दोस्तों ने बुलेट लूटने के बाद मौत के घाट उतार कर नाले में फेंक दिया था।

पुलिस ने हत्याकांड में चार आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया। गिरफ्तार के युवकों के पास से मृतक की लूटी गई बुलेट मोटरसाइकिल भी बरामद की गई है। आरोपियों को पूछताछ के बाद कोर्ट में पेश कर जेल भेज दिया गया।

थानाध्यक्ष दिनेश प्रताप ने बताया कि हिमांशु के दोस्त विनीत उर्फ विराट पुत्र वीरेंद्र उर्फ बिल्लू,आकाश उर्फ कैल्शियम पुत्र संजय उर्फ पप्पू, कपिल उर्फ टीनू पुत्र धर्मपाल, अंकित उर्फ पुत्र अनिल व अंकुश पुत्र जगत निवासी कस्बा करनावल आपस में दोस्त थे।

पुलिस ने बताया कि अक्सर सारे दोस्तों का हिमांशु के घर मोदीनगर आना जाना था। लगभग छह महीने पहले किसी काम के लिए 35000 रुपये उधार लिए थे जिसके बाद अंकित व हिमांशु में झगड़ा हो गया था। हिमांशु ने वही से एक दोस्त को बुलाकर अंकित के साथ मारपीट कर दी थी।

इसके बाद अंकित वहां से चला गया था। अंकित ने कुछ दिन बाद विराट को बताया कि हिमांशु तुम्हारा अपहरण कर तुम्हारे परिवार वालों से पैसे ऐंठना चाहता है। इसे लेकर हिमांशु कहता था कि विराट की मां को मर्डर के समझौते में 10 लाख रुपये मिले हैं।

उससे अच्छे पैसे मिल जाएंगे, क्योंकि विराट के पिता की वर्ष 2014 में हत्या हो गई थी, इसमें समझौता वादा करीब 1 वर्ष पहले ही 10 लाख रुपये विराट के परिवार को मिले थे। जब से यह बात विराट ने दोस्तों को बताई तो लगा कि हिमांशु विराट के साथ कभी भी कुछ कर सकता है।

जिसके बाद सभी दोस्तों ने हिमांशु अंकित के बीच में सुलाह करा दी थी। इसके बाद हिमांशु ने विराट से अपने मोबाइल से विराट के नंबर पर कॉल कर बात कर लेता था। विराट व अंकित ने मन ही मन में हिमांशु को रास्ते से हटाने की ठान ली थी। यह बात विराट कपिल उर्फ टीनू कैल्शियम व अंकुश को बताई।

जिसके बाद सब हिमांशु की तलाश में लग गए। पुलिस ने बताया कि 26 जुलाई को हिमांशु का विराट के फोन पर कोल आई। हिमांशु ने गांव में आने के बारे में रात को बताया। इसके बाद 8 बजे हिमांशु मोदीनगर से आया तो हत्या का प्लान कर ठिकाने लगाने का प्लान बन गया।

जिसके बाद सभी दोस्त सतीश की टयूबवेल पर चले गए। इसके बाद हिमांशु के हाथ पैर पकड़कर पहले विराट ने गला दबाया फिर उसकी मौत हो जाने के बाद बुलेट पर शव रखकर नारंगपुर नाले में फेंक आए। आरोपियों ने हिमांशु की छाती में तीन-चार चाकू से वार भी किये।

उसके बाद बुलेट मोटरसाइकिल, टूटे मोबाइल को साथ ले आए। इस तरह से पुलिस ने इस पेचीदा हत्याकांड से पर्दा उठाते हुए चार आरोपियों विनीत उर्फ विराट पुत्र बिल्लू, आकाश उर्फ कैल्शियम पुत्र संजय उर्फ पप्पू, कपिल उर्फ टीनू पुत्र धर्मपाल, अंकित पुत्र अनिल सभी कस्बा करनावल।

जबकि फरार आरोपियों में अंकुश पुत्र जगत निवासी करनावल बताए हैं। गत 29 जुलाई को सरधना से बहकर हिंडन नदी में गिरने वाले गंदे नाले में एक अज्ञात शव नारंगपुर गांव के पास पुलिस ने बरामद किया था,जहां उसकी शिनाख्त नहीं होने पर पंचनामा भरकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया था।

इसके बाद से पुलिस मामले की जांच पड़ताल में लगी हुई थी। सर्विलांस और जांच में पुलिस ने शव की शिनाख्त हिमांशु उर्फ गौरव पुत्र शैलेश चौधरी करनावल के रूप में हुई, जो हाल में मोदीनगर के देवेंद्र पुरी में रह रहा था।

What’s your Reaction?
+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

- Advertisement -

Leave a Reply

- Advertisment -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img

Most Popular

- Advertisment -spot_img

Recent Comments