Friday, May 31, 2024
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsMeerutलीज समाप्त: किसकी शह पर चल रही पल्हैड़ा शूटिंग रेंज

लीज समाप्त: किसकी शह पर चल रही पल्हैड़ा शूटिंग रेंज

- Advertisement -
  • फिलहाल अवैध रूप से चल रही शूटिंग रेंज, शासन को लगाया जा रहा है चूना

जनवाणी संवाददाता |

मोदीपुरम: पल्हैड़ा शूटिंग रेंज की लीज समाप्त होने के बाद भी अवैध रूप से यह शूटिंग रेंज चल रही है। कोरोना वायरस के प्रकोप को देखते हुए अधिकतर शूटिंग रेंज बंद है, लेकिन यह शूटिंग रेंज इसके बाद भी बदस्तूर जारी है। लीज समाप्त होने के बाद भी इस रेंज क ा चलने से भ्रष्टाचार की ‘बू’ साफ दिखाई दे रही है। समय सीमा समाप्त होने के बाद भी इस रेंज को चला रही द्रोणाचार्य शूटिंग एकेडमी के खिलाफ अभी तक कोई कार्रवाई अमल में नहीं लाई गई है।

गुरुकुल इंटर कॉलेज के पीछे पल्हैड़ा शूटिंग रेंज संचालित की गई थी। लगभग पांच वर्ष पूर्व इस रेंज को चलाने के लिए द्रोणाचार्य शूटिंग एकेडमी को पांच वर्ष का एग्रीमेंट किया गया था। इस रेंज पर 10 मीटर पिस्टल, एयर रायफल, .22 पिस्टल एवं 50 मीटर पिस्टल और रायफल की शूटिंग होती है।

हालांकि यहां डबल ट्रेप की भी शूटिंग होती थी, लेकिन शीलकुंज कालोनी के लोगों द्वारा छर्रे उनके घरों में आने की शिकायत की गई थी और इसके विरुद्ध हाईकोर्ट में रिट दायर की गई थी। रिट दायर होने के बाद से यहां डबल ट्रेप की शूटिंग बंद हो गई थी। एग्रीमेंट का समय लगभग समाप्त हुए काफी समय बीत गया है, लेकिन उसके बाद भी यहां बदस्तूर शूटिंग की जा रही है।

शूटिंग रेंज चलाने को किया खिलाड़ियों को शामिल

इस शूटिंग रेंज को चलाने के लिए द्रोणाचार्य शूटिंग एकेडमी द्वारा अन्तर्राष्ट्रीय खिलाड़ियों को भी शामिल किया गया था और इस संस्था का सदस्य बनाया गया था। द्रोणाचार्य एकेडमी के अध्यक्ष एमपी सिंह है। ये हॉकी के खिलाड़ी रहे हैं, परन्तु संचालन शूटिंग रेंज का दिखाया जा रहा है।

जबकि शूटिंग से इनका कोई वास्ता नहीं है। हालांकि इनके अलावा अन्तर्राष्ट्रीय खिलाड़ी भी शामिल है। अब देखना है कि समय सीमा समाप्त होने के बाद भी इस शूटिंग रेंज को अवैध रूप से चलाया जा रहा है। यह शूटिंग रेंज किस की शह पर चल रही है। इसके पीछे किसका हाथ है?

कोरोना काल में कही नहीं बढ़ी लीज

कोरोना काल में लीज की अवधि कही नहीं बढ़ाई गई। ऐसे में नई परंपरा का स्व: भू संज्ञान लेकर शूटिंग रंज संचालकों द्वारा खुद ऐसा किया जा रहा है। शासन को क्षतिपूर्ति के साथ स्वयं इस शूटिंग रेंज पर कब्जा लेना चाहिए।

क्या कहना है इनका?

द्रोणाचार्य शूटिंग एकेडमी के सदस्य फैसल का कहना है कि यह टेंडर 25 साल के लिए मांगा गया था, लेकिन पांच साल का एग्रीमेंट किया गया था। इस एग्रीमेंट में यह भी कहा गया था कि आगे का समय बढ़ा दिया जाएगा। लगभग डेढ़ वर्ष कोरोना काल में बीत गया है। इस पूरे प्रकरण को डीएम के. बालाजी को अवगत करा दिया गया है। फिलहाल यह डीएम के पास मामला है। अभी उनका कोई आदेश नहीं हुआ है।

खोल, बंद का किया जा रहा महाखेल

शूटिंग रेंज को सुबह के समय शुरू कर दिया जाता है। जबकि दोपहर के बाद बंद कर दिया जाता है। बताया गया कि बाहर से ताला लगातार भी शूटिंग रेंज पर खिलाड़ियों को शूटिंग कराई जा रही है।

एग्रीमेंट लीज विलेख में भी संचालकों ने किया फर्जीवाड़ा

शूटिंग के एग्रीमेंट लीज विलेख में भी फर्जीवाड़ा किया गया। जब यह लीज दी गई थी तो कार्यकारिणी की मीटिंग में तय हुआ था। पांच साल के लिए यह लीज दी गई है। साथ ही साथ इस लीज को आगे बढ़ाने का भी कोई प्रस्ताव नहीं था। परंतु कार्यकारिणी की मीटिंग में इसे फर्जीवाड़ा करके अवैध रूप से लीज आगे बढ़ाने की बात खुद संचालकों द्वारा जोड़ दी गई थी। शासन को लाखों रुपये का चूना लगाया जा रहा है।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
2
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Recent Comments