Sunday, May 26, 2024
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsMeerutमेरठ, एनएएस कॉलेज में नहीं हो सके एलएलबी के पंजीकरण

मेरठ, एनएएस कॉलेज में नहीं हो सके एलएलबी के पंजीकरण

- Advertisement -
  • बीसीआई से अनुमति नहीं मिलने की वजह से विवि ने इन कॉलेजों को पंजीकरण से किया बाहर
  • अनुमति के बाद ही विवि पोर्टल पर दिखेंगे यह कॉलेज

जनवाणी संवाददाता |

मेरठ: रविवार से चौधरी चरण सिंह विवि की ओर से एलएलबी तीन वर्षीय कोर्स के लिए पंजीकरण खोल दिए गए थे, लेकिन गौर करने वाली बात यह है कि पहले ही दिन मेरठ कॉलेज और एनएएस कॉलेज में एलएलबी के लिए पंजीकरण नहीं हो सकें।

बता दें कि बार काउंसिल आॅफ इंडिया (बीसीआई) से अनुमति नहीं मिलने के कारण विवि ने एलएलबी (तीन वर्षीय) के प्रवेश पोर्टल से मेरठ, गाजियाबाद व खुर्जा के चारों एडेड कॉलेजों बाहर कर दिया हैं। विवि प्रशासन का कहना है कि जब तक बीसीआई की अनुमति नहीं होगी तब तक प्रवेश संभव नहीं है और न ही मान्यता। रविवार से एलएलबी तीन वर्षीय पाठ्यक्रम में प्रवेश के लिए आॅनलाइन पंजीकरण शुरु हो चुके हैं।

पंजीकरण के लिए रविवार को जब विद्यार्थियों ने प्रवेश के लिए पोर्टल खोला तो सिर्फ सेल्फ फाइनेंस कॉलेजों की ही सूची दिखी। एडेड कॉलेज में मेरठ कॉलेज, एनएएस कॉलेज, एनआरईसी कॉलेज खुर्जा और एमएमएच कॉलेज गाजियाबाद नहीं दिखा। जिसकी वजह एडेड कॉलेजों को अभी तक बार काउंसिल आॅफ इंडिया से अभी तक अनुमति नहीं मिलना है।

24 15

सूत्रों का कहना है कि एलएलबी में प्रवेश के लिए प्रत्येक कॉलेज को हर वर्ष निर्धारित फीस जमा कराकर प्रवेश की अनुमति लेनी होती है। जब तक बार काउंसिल आॅफ इंडिया से अनुमति नहीं मिलती है तब तक कोई भी कॉलेज दाखिला नहीं कर सकता है। वहीं मेरठ कॉलेज प्राचार्य प्रो. अंजलि मित्तल ने बताया कि इस बार बार काउंसिल आॅफ इंडिया ने काफी विस्तृत रिपोर्ट मांगी थी, जिसको चारों एडेड कॉलेजों ने लगभग तैयार कर ली है।

सोमवार या मंगलवार को पूरी रिपोर्ट भेज दी जाएगी। अब सारा सिस्टम आॅनलाइन है, इसलिए तीन-चार दिन में अनुमति मिल जाएगी, जो विवि में जमा कराने पर पंजीकरण शुरू हो जाएंगे। छात्र कल्याण अधिष्ठाता प्रो. भूपेंद्र सिंह का कहना है कि बार काउंसिल आॅफ इंडिया से अनुमति नहीं मिलने की वजह से चारों एडेड कॉलेज को प्रवेश पोर्टल में शामिल नहीं किया गया है। अनुमति विवि के पास आने के बाद ही प्रवेश पोर्टल में शामिल किया जाएगा।

पहले दिन चुनिंदा ही हुए प्रवेश

एलएलबी में प्रवेश के प्रति पहले दिन विद्यार्थियों की खासी रुचि नहीं दिखी। सेल्फ फाइनेंस के कॉलेजों में दो-तीन से ज्यादा पंजीकरण नहीं हुए। जानकारों का कहना है कि हर वर्ष शुरुआत के तीन-चार दिन पंजीकरण का आंकड़ा यही रहता है। इसके बाद सीटों से कई गुना तक पंजीकरण होते हैं।

ऐसे करना है पंजीकरण

विवि परिसर एवं कॉलेजों में प्रवेश पंजीकरण के अलग-अलग पोर्टल हैं। परिसर में पंजीकरण कराना है, उनको विवि की वेबसाइट पर एडमिशन 2023-24 पर क्लिक करके पंजीकरण होगा। कॉलेज में प्रवेश लेना है, तो कॉलेज एडमिशन पोर्टल पंजीकरण होगा। एक ही पंजीकरण शुल्क पर दोनों पर पंजीकरण करा सकते हैं। अभ्यर्थी कॉलेज प्रवेश पोर्टल पर अधिकतम तीन कॉलेज का चयन कर सकता है।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
2
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Recent Comments