Sunday, May 26, 2024
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsMeerutनशे के कारोबारी की तलाश में मध्य प्रदेश पुलिस की दबिश

नशे के कारोबारी की तलाश में मध्य प्रदेश पुलिस की दबिश

- Advertisement -
  • बदमाश दबिश के दौरान मौके से हुआ फरार

जनवाणी संवाददाता |

मेरठ: मध्य प्रदेश के इंदौर में नशे का कारोबार करने वाले अपराधी को पकड़ने के लिये मध्य प्रदेश की पुलिस एक बदमाश को लेकर सिविल लाइन थानांतर्गत प्रभात नगर में दबिश देने गई, लेकिन मौके से आरोपी फरार हो गया। पुलिस ने बताया कि अभियुक्त अंकुर चौधरी पुत्र देवेंद्र सिंह चौधरी निवासी विरुद्ध मुकदमा अपराध संख्या 305/22 धारा 8/22 एनडीपीएस एक्ट इंदौर मध्य प्रदेश में पंजीकृत है। नशे का कारोबारी अंकुर बड़े स्तर पर स्मैक, चरस और गांजे का कारोबार करता है।

पुलिस ने अंकुर चौधरी उपरोक्त के सह अभियुक्त कोमल पुत्र भरोसे सिंह निवासी नार्थ गडरा खेड़ी मरीमाता चौराहा इंदौर को पहले पकड़ लिया था। उससे हुई पूछताछ के बाद अंकुर चौधरी का नाम सामने आया था। गुरुवार को मध्य प्रदेश पुलिस के उपनिरीक्षक लोकेंद्र सिंह, हेड कांस्टेबल अभिषेक सिंह, हेड कांस्टेबल नरेंद्र तोमर, कांस्टेबल अर्जुन यादव, कांस्टेबल अरुण, थाना चंदन नगर पुलिस कस्टडी रिमांड पर लेकर जिला इंदौर मध्य प्रदेश लेकर पहुंचे और सिविल लाइन थाने आये।

स्थानीय पुलिस के साथ मिलकर एमपी की पुलिस ने अभियुक्त अंकुर चौधरी की तलाश में उसके घर पर दबिश। पुलिस की दबिश से पहले ही अंकुर चौधरी घर से फरार मिला। अभियुक्त की गिरफ्तारी के लिये उपनिरीक्षक लोकेंद्र सिंह द्वारा थाने पर अंतर्गत धारा 55 सीआरपीसी तहरीर गिरफ्तारी दी गई है।

लालकुर्ती में पकड़ी नकली करेंसी की जांच पहुंची क्राइम ब्रांच

लालकुर्ती में पकड़ी गई नकली करेंसी के मामले की जांच लालकुर्ती थाने से क्राइम ब्रांच को ट्रांसफर हो गई है। क्राइम ब्रांच की टीम साक्ष्य जुटाकर आरोपियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करेगी। बता दें कि इस मामले में चार आरोपी जेल जा चुके है, जबकि एक आरोपी फरार चल रहा है। जिसकी गिरफ्तारी के लिए पुलिस लगातार दबिश दें रही है।

विदित है कि पांच दिन पहले लालकुर्ती पुलिस ने सौ-सौ के करीब 51 हजार रुपये बरामद किए थे। सुभाष नगर में यह नोट तैयार किए जा रहे थे। पुलिस ने सोम पुत्र मूलचंद्र निवासी भामौरी थाना सरधना, निखिल शर्मा पुत्र योगेश और प्रियांशु सिंह पुत्र मूलचंद्र सिंह निवासीगण गांव नरपत की बिराल बुढ़ाना मुजफ्फरनगर, हाल निवासी किराये का मकान सुभाष नगर को गिरफ्तार किया था।

पुलिस ने इन आरोपियों को गिरफ्तार करने के बाद जेल भेज दिया था। जबकि मुख्य आरोपी विकास ने कोर्ट में सरेंडर कर दिया था। अभी एक आरोपी सागर गिरी निवासी भामौरी सरधना फरार चल रहा है। जिसकी गिरफ्तारी के लिए पुलिस लगातार दबिशे दें रही है। इंस्पेक्टर लालकुर्ती अतर सिंह का कहना है कि इस मामले की विवेचना क्राइम ब्रांच को ट्रांसफर की जा रही है।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
1
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Recent Comments