Wednesday, February 21, 2024
HomeUttar Pradesh NewsMeerutमैरिज ब्यूरो गैंग: शादी कराने का शहर में फर्जी धंधा

मैरिज ब्यूरो गैंग: शादी कराने का शहर में फर्जी धंधा

- Advertisement -
  • लड़की और उसका परिवार दिखाकर की जाती है ठगी

जनवाणी संवाददाता |

मेरठ: शहर में ऐसा गैंग सक्रिय है जो शादी कराने के नाम पर ऐसे लोगों को ठगने में कोई कसर नहीं छोड़ रहा। जिनकी शादी नहीं हुई या जो मनचाही दुल्हन के सपने देख अपना घर बसाने की चाह रखता हो। मैरिज ब्यूरो के इन गैंग्स ने कई ऐसे लोगों को अपने जाल में फंसाया और उनसे लाखों रुपये की ठगी क र उन्हें चूना लगा दिया। चौंकाने वाली बात ये है गैंग के पास रिश्ते कराने के नाम पर लड़की से लेकर उसके माता पिता का किरदार निभाने वाले सब कुछ उपलब्ध है, लेकिन सब कुछ फर्जी है। इसी गैंग की ठगी का शिकार हुए एक युवक ने फर्जी विवाह कराने की शिकायत पुलिस कप्तान से की है।

दौराला थाना क्षेत्र पुष्प विहार मकान नंबर-202 निवासी पोरस गोयल पुत्र स्व विमल कुमार गोयल ने 19 जनवरी को पुलिस आॅफिस में एक शिकायत की और अपनी आपबीती बयां की। पोरस ने बताया कि उसने पिछले वर्ष मार्च से पहले मैरिज ब्यूरो द्वारा एक अखबार के विज्ञापन पर दिये मोबाइल नंबर पर फोन कर शादी के लिए आॅफर किया था। मैरिज ब्यूरो के संचालक मनोज सोम, राहुल सोम निवासी पीरपुर सकौती दौराला सहित श्याम जायसवाल निवासी ब्रह्मपुरी, गोपाल सहित कई अन्य युवतियों ने मिलकर उसकी धोखे से एक युवती से मंदिर में फर्जी तरीके से शादी करवा दी।

शादी कराने के नाम पर संचालक मनोज सोम ने उससे पचास हजार रुपये हड़प लिए। पोरस ने बताया कि जिस युवती से शादी हुई थी, उसे ये लोग कुछ दिनों बाद ही घर से यह कहकर ले गये कि वह बाद में आ जायेगी, लेकिन जब वह उस युवती को लेने गया तो उससे इन सभी लोगों ने 12 लाख रुपये की डिमांड की और युवती के एकाउंट में डलवाने के लिए कहा, लेकि न जब रुपये नहीं दिये तो उसे मारा पीटा गया और धमकाया गया। पोरस ने बताया कि उसने इस बात की शिकायत 13 जनवरी को एसएसपी से की।

14 20

शिकायत वापस लेने के लिए उस पर दबाव बनाने के लिए गैंग ने सोनी और नीतू नाम की युवतियों से झूठी शिकायत एसएसपी को दिला दी। दोनों युवतियों द्वारा रेप का आरोप लगाकर दबाव बनाया गया। युवतियों ने एक कथित पत्रकार से फोन कराकर एक लाख रुपये की डिमांड करवाई। उसे पुलिस दारोगा के फोटो भेजकर धमकाया गया। पीड़ित पोरस ने बताया कि गैंग का शादी कराने का यह धंधा पूरी तरह से फर्जी और लोगों को फंसाकर रुपये ऐंठने वाला है। इसकी शिकायत वह पुलिस के आला अफसरो से करेगा।

गैंग इस तरह से फंसाता है जाल में

पोरस ने बताया कि जिस लड़की को शादी के लिए युवक को दिखाया जाता है। वह लड़की उसी गैंग की होती है। उसी का पिता भी फर्जी और भाई व रिश्तेदार फर्जी तरीके से बनाकर सब कुछ असली दिखाकर युवक के सामने पेश किये जाते हैं। युवक से पहले तो रजिस्ट्रेशन के नाम पर 10 से 11 हजार रुपये तक वसूले जाते हैं। लड़की फिर युवक से फोन पर कई दिनों तक बातें कर युवक को झांसे में लेती रहती है,

लेकिन कुछ दिन बाद कहा जाता है कि लड़की शादी के लिए मना कर रही है। इससे लड़की युवक को प्रेमजाल में फंसाकर उससे रुपये ऐंठती रहती है। अगर पुलिस मे कोई शिकायत करता है तो वह लड़की झूठे आरोप लगाकर पुलिस में शिकायत की बात पर चुपकर देती है। इसके अलावा युवक पर दुष्कर्म जैसे गंभीर आरोप लगाकर उनसे मोटी रकम वसूली जाती है।

पत्रकार से लेकर सिपाही तक शामिल

पोरस और जागृति विहार निवासी नीरज गर्ग नाम के एक व्यक्ति ने बताया कि इस धंधे में एक पत्रकार और एक सिपाही व कुछ दारोगा भी शामिल हैं। जो दबाव बनाने में गैंग की मदद करते हैं। ऐसे कई वीडियो और आडियो भी उसके पास हैं।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
2
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Recent Comments