Friday, December 9, 2022
- Advertisement -
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsMeerutमहावीर मार्ग का नाम बदलने के मामले में मेयर बैकफुट पर

महावीर मार्ग का नाम बदलने के मामले में मेयर बैकफुट पर

- Advertisement -
  • भाजपा एमएलसी डा. सरोजनी अग्रवाल ने मेयर को भेजा था पत्र

जनवाणी संवाददाता |

मेरठ: जैन समाज की भावनाओं का सम्मान करते हुए आखिर मेयर सुनीता वर्मा बैकफुट पर आ गई हैं। हाल ही में हुई बोर्ड बैठक में मेयर ने रेलवे रोड का नाम करण सेठ दयानंद गुप्ता के नाम पर करने का प्रस्ताव बोर्ड में रखा था। यह प्रस्ताव भाजपा एमएलसी डा. सरोजनी अग्रवाल द्वारा मेयर को पत्र लिखकर दिया गया था।

दरअसल, रेलवे रोड का नामकरण पहले से ही भगवान महावीर के नाम पर किया हुआ है, जिसके चलते जैन समाज के लोगों का आक्रोश फूट गया था। जैन समाज के लोगों ने महावीर भगवान का नाम बदलकर सेठ दयानंद गुप्ता के नाम पर रेलवे रोड का नामकरण करने से लोग भड़क गए थे।

कई दिनों से जैन समाज के लोग इसको लेकर आक्रोश व्यक्त कर रहे हैं। ये मामला मीडिया में भी सुर्खियों में बना हुआ हैं। अब इसी वजह से मेयर सुनीता वर्मा ने सोमवार को नगर आयुक्त को एक पत्र लिखा है, जिसमें कहा है कि जैन समाज की भावनाओं का वो आदर-सम्मान करती हैं तथा भगवान महावीर मार्ग का नाम जो सेठ दयानंद गुप्ता के नाम पर किया गया था,

उस प्रस्ताव को निरस्त किया जाता है। इस प्रस्ताव को सदन की बैठक के कार्य मुक्त करने के आदेश नगरायुक्त को दिये हैं। उधर, जैन समाज के लोगों का एक प्रतिनिधि मंडल सोमवार को नगरायुक्त से मिला तथा जैन समाज के लोगों ने सेठ दयानंद के नामकरण को लेकर आपत्ति व्यक्त करते हुए ज्ञापन सौंपा।

निगम कार्यकारिणी बोर्ड की बैठक 25 को

मेयर सुनीता वर्मा ने 25 नवंबर को कार्यकारिणी की बैठक बुलाई है। यह बैठक टाउन हॉल स्थित तिलक हाल में होगी। इसके लिए मेयर ने एक पत्र नगर आयुक्त को जारी किया है। इसमें मेयर ने कहा है कि बैठक की तमाम तैयारी समय से पूरी कर ली जाए। बैठक की व्यवस्था भी सुनिश्चित की जाए। यह भी कहा गया है कि बैठक में समस्त विभागाध्यक्ष अपने-अपने अनुभाग से संबंधित समस्त जानकारियां/प्रपत्र आदि लेकर अनिवार्य रूप से उपस्थित रहे।

इस बैठक का एजेंडा पूर्व बैठक की पुष्टि तथा नगर निगम के स्वामित्व वाली भूमि जिन पर अवैध कब्जे हैं, उन्हें खाली कराने के लिए कार्यकारिणी की बैठक में प्रस्ताव रखा जाएगा। पुनरीक्षित बजट वित्तीय वर्ष 2022 और 23 का प्रस्ताव भी रखा जाएगा। इसके अलावा मेयर की विशेष अनुमति से इसमें प्रस्ताव रखे जाएंगे।

स्थानीय निकाय चुनाव से ठीक पहले यह बोर्ड बैठक कार्यकारिणी की बुलाई गई है। इससे पहले बोर्ड बैठक को लेकर तनातनी हो गई थी। इस बोर्ड बैठक में मेयर की तरफ से कुछ अतिरिक्त प्रस्ताव भी लाई जा सकते हैं, जिसमें जनता के हित को देखते हुए प्रस्ताव रखे जा सकते हैं।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
2
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -
- Advertisment -
- Advertisment -

Most Popular

- Advertisment -
- Advertisment -spot_img
- Advertisment -

Recent Comments