Saturday, June 15, 2024
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsMeerutबेरहम ठंड: रात का तापमान पांच डिग्री पर लुढ़का

बेरहम ठंड: रात का तापमान पांच डिग्री पर लुढ़का

- Advertisement -
  • पहाड़ों पर बर्फबारी का असर मैदानी इलाकों में
  • दुनिया भर में मौसम का बिगड़ रहा मिजाज

जनवाणी संवाददाता |

मोदीपुरम: दुनिया भर में मौसम का मिजाज अलग-अलग है। देश में गिरते पारे से गलन बढ़ रही है। यही अन्य देशों में भी पारे की तेज गिरने की चाल से मौसम प्रभावित हो रहा है। वहीं यूरोपीय देशों में पारे की तेजी की चाल से गर्मी बढ़ रही है। जिससे वैज्ञानिक चिंतित है। भारत में सर्दी का सितम इतना बुरा हो चला है कि लोग घर में ही छुप कर रहना पसंद कर रहे हैं।

देश में उत्तर भारत में गलन बढ़ती ही जा रही है। राजस्थान के कई जिलों में तापमान .7 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच गया है। अनुमान है कि अगले कुछ दिनों में दिल्ली, हरियाणा, पंजाब, चंडीगढ़, उत्तर प्रदेश के कई जिलों और उत्तराखंड में कोहरे के साथ-साथ सर्दी का सितम और बढ़ सकता है।

13 4

हाड़ कंपकंपाने वाली सर्दी ने लोगों को बीमार करना शुरू कर दिया है। इस बार की सर्दी ने पिछले 10 वर्षों से अधिक का रिकॉर्ड तोड़ दिया है। सर्दी ने ठिठुुरन बना रखी है। जिसके चलते लोगों को दिन भर परेशानी हो रही है। बढ़ती सर्दी लोगों को गलन का भी शिकार कर रही है। पहाड़ों पर बर्फबारी का असर साफ नजर आ रहा है। बर्फबारी के कारण दिन और रात के तापमान में लगातार गिरावट दर्ज हो रही है।

रात का तापमान पांच डिग्री पर पहुंच गया है। जबकि दिन का तापमान फिलहाल 10 डिग्री पर चल रहा है। पिछले कई वर्षों को देखा जाए तो यह तापमान 10 वर्षों के बाद इस स्थिति में पहुंचा है। बढ़ती सर्दी लोगों को नजला, जुकाम, खांसी के साथ-साथ अब वायरल के प्रकोप में भी जकड़ रही है। क्योंकि सर्दी का बढ़ना लोगों की सेहत के साथ खिलवाड़ होना है। कम समय में ज्यादा सर्दी का पड़ना लोगों को ज्यादा परेशानी में डाल रहा है। बर्फबारी के कारण इस बार मैदानी इलाकों में ज्यादा ठंड का असर साफ-साफ नजर आ रहा है।

12 5

क्योंकि इस बार मैदानी इलाकों में अत्यधिक ठंड का पड़ना लोगों को परेशान कर रहा है। जनवरी के महीने में अमूमन 15 जनवरी तक के बाद अच्छी खासी ठंड पड़ती है, लेकिन इस बार दिसंबर के महीने में ही ठंड अत्यधिक पड़ने लगी है। जिसके चलते ठंड से लोेग बीमार होने लगे हैं। मौसम विशेषज्ञ डा. यूपी शाही का कहना है कि अभी सर्दी का अहसास ऐसा ही रहेगा। कोहरे और पाले का असर लगातार रहेगा। फिलहाल अभी सर्दी से राहत मिलने की संभावना नजर नहीं आ रही है।

ये दर्ज हुआ तापमान

राजकीय मौसम वैधशाला पर गुरुवार को अधिकतम तापमान 10.6 डिग्री सेल्सियस एवं न्यूनतम तापमान 5.4 डिग्री सेल्सिसय दर्ज किया गया। अधिकतम आर्द्रता 97 एवं न्यूनतम आर्द्रता 82 प्रतिशत दर्ज की गई। हवा सुबह शांत रही, लेकिन शाम को चार किमी प्रति घंटा की रफ्तार से चली।

प्रदूषण में भी हुआ इजाफा

प्रदूषण की मात्रा शहर में कम हो गई थी, लेकिन गुरुवार को फिर से बढ़ गई है। कोहरा अत्यधिक होने के कारण अमूमन प्रदूषण की मात्रा बढ़ जाती है। ऐसे में मेरठ का प्रदूषण भी लगातार बढ़ रहा है। मेरठ के साथ-साथ शहर के अन्य स्थानों का भी प्रदूषण बढ़ रहा है। मेरठ में प्रदूषण 261 गंगानगर में 297, पल्लवपुरम में 173 और जयभीमनगर 313 दर्ज किया गया। बागपत में 362, मुजफ्फरनगर में 214, गाजियाबाद में 362 दर्ज किया गया।

सर्दी से करें बचाव

  • गर्म पानी का सेवन करें।
  • गर्म वस्त्रों का प्रयोेग नियमित रूप से करें।
  • बीमार होने पर तुरंत चिकित्सक को दिखाएं।

छह वर्ष का रात का तापमान

2017                                                      6.0
2018                                                       6.2
2019                                                       7.0
2020                                                       6.2
2021                                                       6.0
2022                                                       5.4

What’s your Reaction?
+1
0
+1
3
+1
1
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Recent Comments