Tuesday, June 25, 2024
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsMeerutनयागांव-मीरपुरा विकास कार्यों से वंचित

नयागांव-मीरपुरा विकास कार्यों से वंचित

- Advertisement -
  • ग्राम प्रधान ने एसडीएम और पंचायतराज अधिकारी से दोनों माजरों को ग्राम पंचायत से जोड़ने की मांग की
  • खरखौदा के माजरे पर बसा हुआ है गांव, नगर पंचायत और ग्राम पंचायत के बीच फंसा विकास

जनवाणी संवाददाता |

खरखौदा: ब्लॉक क्षेत्र में बसा नयागांव एक ऐसा गांव है, जोकि नगर पंचायत व ग्राम पंचायत के बीच माजरे को लेकर फंसा हुआ है। यही वजह है कि गांव के विकास के लिए पैसा आता है या नहीं किसी को नहीं पता। यही वजह है यह गांव का विकास कार्यों की बांट जोह रहा है। जिसके चलते चंदपुरा ग्राम प्रधान ने एसडीएम व पंचायत राज अधिकारी से गांव को माजरे के अनुसार नगर पंचायत में जोड़ने अथवा ग्राम पंचायत से पूर्णतया जोड़ने की मांग की है।

खरखौदा ब्लॉक क्षेत्र में कस्बा से करीब तीन किलोमीटर दूर स्थित नया गांव बसा हुआ है। वहीं, ढाई किलोमीटर दूर मीरपुरा है, ये दोनों खरखौदा माजरे के (नगर पंचायत) अंतर्गत आते हैं। नयागांव व मीरपुरा की एक हजार से अधिक लोगों की आबादी है और करीब 700 वोटर हैं।

इन दोनों माजरे को ब्लॉक क्षेत्र की ग्राम पंचायत सादुल्लापुर चंदपुरा से जोड़ रखा है। यहां के ग्रामीण चंदपुरा गांव के प्रधान के लिए मतदान कर प्रधान चुनते हैं। गांव प्रधान आरती पत्नी राजसिंह ने बताया कि हाल ही में उन्होंने नया गांव में स्थित प्राथमिक विद्यालय में लाखों रुपये लागत से इंटरलॉकिंग का काम कराया, लेकिन भुगतान अभी अटका हुआ है। भुगतान न होने की दशा में दोनों ही जगह विकास कार्य कराना संभव नहीं होता।

नगर पंचायत में विकास कार्यों को आता है पैसा

चंदपुरा गांव के पूर्व प्रधान जिले सिंह के अनुसार नयागांव व मीरपुरा की जनसंख्या व माजरा खरखौदा नगर पंचायत से जुड़ा होने के कारण विकास कार्यों के लिए पैसा भी नगर पंचायत की निधि में आता है, परंतु नगर पंचायत चाहती ग्राम प्रधान विकास कार्य कराए।

रकबा बढ़ा, दोनों को जोड़ा जा सकता है कस्बे से

भाजपा नेता प्रवीन त्यागी, राधेश्याम, विनित कुमार, मोनू त्यागी, जगविंदर सक्सैना आदि ग्रामीणों का कहना है कि उन्होंने पूर्व विधायक सत्यवीर त्यागी व लखनऊ जाकर नयागांव, मीरपुरा को नगर पंचायत से जोड़ने या नई ग्राम सभा बनाने की मांग कर चुके हैं। नगर पंचायत चाहे तो अपनी सीमा बढ़ाकर नयागांव, मीरपुरा को कस्बे से जोड़ा जा सकता है और एक वार्ड बनाया जा सकता है। जिससे विकास कार्य कराए जा सकते हैंं।

नयागांव मीरपुरा को शीघ्र नगर पंचायत से जोड़ा जाएगा: पूर्व विधायक

किठौर विधानसभा से भाजपा पूर्व विधायक सत्यवीर त्यागी ने बताया कि नया गांव मीरपुरा को नगर पंचायत से जोड़ना मुख्य एजेंडा में प्रस्ताव भेजा जा चुका है। प्रक्रिया चालू है, बीच में नगर निकाय के चुनाव नहीं आते तो नगर पंचायत से जोड़ने का कार्य पूर्ण हो जाता।

नयागांव, मीरपुरा दोनों नगर पंचायत के अधीन: खंड विकास अधिकारी

खंड विकास अधिकारी दीपक तेवतिया का कहना है कि नयागांव, मीरपुरा नगर पंचायत खरखौदा के माजरे में तो विकास निधि वहीं आएगी नगर पंचायत ही अपने हिसाब से वहां विकास कार्य कराए।

वोटर नगर पंचायत से जुड़े, तब नगर पंचायत कार्य कराए: ईओ

नगर पंचायत अधिशासी अधिकारी राजीव बालियान का कहना है कि नयागांव, मीरपुरा, खरखौदा माजरे से जुड़े होने की जानकारी नहीं दूसरे गांव के वोटर हैं, प्रधान काम कराए। शासन, प्रशासन परिसीमन कराकर नगर पंचायत वोटर लिस्ट में शामिल कराए तब नगर पंचायत कार्य कराए।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
2
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Recent Comments