Saturday, June 15, 2024
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsMeerutनववर्ष में 94 दिन सर्वार्थ सिद्धि योग

नववर्ष में 94 दिन सर्वार्थ सिद्धि योग

- Advertisement -
  • 21 दिन बनेगा अमृत सिद्धि योग, कन्या लग्न में होगी नए साल की शुरुआत
  • विकास की दृष्टि से भारत के लिए शुभ होगा नया साल

जनवाणी संवाददाता |

मेरठ: नववर्ष 2023 रविवार को अश्विनी नक्षत्र में प्रारंभ होगा। नववर्ष में 94 दिन सर्वार्थ सिद्धि योग, 21 दिन अमृत सिद्धि योग, चार गुरु पुष्य, दो बार रवि पुष्य के अलावा अन्य दिन पुष्य नक्षत्र रहेगा। नए वर्ष में चातुर्मास की जगह पंचम मास रहेगा।

ज्योतिषाचार्य अमित गुप्ता ने बताया नववर्ष के पहले दिन सूर्योदय काल के समय चंद्रमा मेष राशि, गुरु मीन राशि, मार्गी बुध अस्त होगा तथा शनि मकर राशि में चलित रहेंगे। वर्ष 2023 के कई महत्वपूर्ण योग बन रहे हैं। नववर्ष का शुभारंभ कन्या लग्न में होगा। सूर्योदय धनु लग्न में रहेगा। विकास के दृष्टिकोण से नववर्ष भारत के लिए अच्छा रहेगा।

नववर्ष में यह रहेगा ग्रहों का परिवर्तन

नववर्ष में सूर्य 15 जनवरी को धनु से मकर में प्रवेश करेगा। चंद्र सवा दो दिन में बदलते रहेंगे। मंगल 12 मार्च रात्रि एक बजे से वृषभ से मिथुन राशि, बुध सात फरवरी से धनु से मकर, गुरु 22 अप्रैल को मीन से मेष राशि, शुक्र 22 जनवरी को मकर से कुंभ, शनि 17 जनवरी को मकर से कुंभ राशि, राहु 30 अक्टूबर को मेष से मीन राशि, केतु 30 अक्टूबर को तुला से कन्या राशि में प्रवेश करेगा।

15 जनवरी को मनाई जाएगी मकर संक्रांति

14 जनवरी को सूर्य धनु से मकर में रात्रि 3:10 पर प्रवेश करेंगे। 15 जनवरी को मकर संक्रांति का पूर्व पुण्यकाल सूर्योदय से अस्त तक दिनभर रहेगा। पवित्र नदियों में स्नान दान पुण्य होंगे।

नववर्ष में तीन सोमवती अमावस्या

नववर्ष में तीन सोमवती अमावस्या 20 फरवरी, 17 जुलाई, 13 नवंबर को रहेगी। दो श्रावस मास रहेंगे। 4 जुलाई से 2 अगस्त प्रथम श्रावण मास रहेगा। 2 अगस्त से 31 अगस्त तक द्वितीय श्रावण मास रहेगा। जुलाई 10, 17, 24 अगस्त सात, 14, 21, 28 को श्रावण सोमवार सात रहेंगे। इस वर्ष में चतुर्मास की जगह पंचम मास रहेगा। नववर्ष में ग्रहण 20 अप्रैल सूर्यग्रहण, पांच मई चंद्रग्रहण, 14 अक्टूबर सूर्यग्रहण यह भारत में नही दिखाई देंगे। 28 अक्टूबर चंद्रग्रहण यह भारत में दिखाई देगा।

नववर्ष 2023 में शुभ विवाह की तिथियां

जनवरी: 15, 16, 17, 18, 19, 23, 24, 25, 26, 27

26 जनवरी बसंत पंचमी को शादियों का अबूझ महुर्त।

फरवरी: 1, 6, 7, 8, 9, 10, 11, 12, 13, 14, 15, 16, 17, 18, 22, 23, 27, 28

18 फरवरी महाशिवरात्रि पर परिघ व शिवयोग में वर्षों बाद शादी के लिए अबूझ मुहूर्त रहेगा। इस दिन विवाह समारोह की तिथि बेहद शुभ है।

मार्च: 1,5, 6, 7, 8,9, 11, 13, 14

15 मार्च से 14 अप्रैल तक मीन के सूर्य खरमास में शादियां बंद रहेंगी। गुरु शुक्र 21 मार्च से 29 अप्रैल तक अस्त रहेंगे। 22 अप्रैल को अक्षय तृतीया शादी का अबूझ महुर्त माना गया है। ज्योतिष शास्त्र अनुसार गुरू अस्त होने के कारण शादी वर्जित मानी गई हैं। शादियां नहीं होंगी।

मई: 1,2, 3, 4, 5,6, 7, 8, 9, 10, 11, 15, 16, 20, 21, 22, 26, 27, 28, 29, 30, 31

जून: 1,3,5,6,7,11, 12, 13, 22, 23, 25, 26, 27, 28

27 जून भड़ली नवमी गुप्त नवरात्र में शादी का अबूझ महुर्त। 29 जून देवशयनी एकादशी से 23 नवंबर देवउठनी एकादशी रहेगा। चातुर्मास में कर्क, सिंह, कन्या, तुला के सूर्य में चार माह शादियां बंद रहेंगी।

नवंबर: 24, 27, 28, 29

दिसंबर: 3,4,5,6,7,9, 10, 13, 14, 15

16 दिसंबर से 14 जनवरी 2024 तक धनु के सूर्य खरमास में विवाह बंद रहेंगे।

नववर्ष में राशियों पर असर

मेष: इन राशि के जातकों सफलता तो मिलेगी, लेकिन इसके लिए आपको संघर्ष करना पड़ेगा।

वृष, तुला: इन दोनों राशियों के लिए नया वर्ष शिक्षा के क्षेत्र में लाभ दिलाएगा। तो वहीं अगर आप नौकरी पेशा है तो आपको प्रमोशन भी मिल सकता है।

मिथुन और कन्या: सभी प्रकार के सुखों में वृद्धि होगी। तो वहीं इन्हें भी इंक्रीमेंट मिल सकता है।

कर्क: कर्क राशि के जातकों को नया साल कुछ मानसिक तनाव लेकर आ सकता है।

सिंह: सिंह राशि वालों को मेहनत करनी पड़ेगी। इसके बाद आपको सफलता मिलेगी।

धनु: धनु राशि वालों के अभी तक रुके कार्य पूरे होंगे। साथ ही इस राशि वालों को धर्म लाभ मिलने लगेगा।

कुंभ, मकर: इन दोनों ही राशि के जातकों पर पारिवारिक जिम्मेदारियां बढ़ सकती हैं। तो वहीं वाहन सुख-सुविधाओं में वृद्धि होगी। ये वर्ष विवादों भरा रह सकता है, इसलिए कोशिश करें कि विवादों से दूर रहें।

मीन: मीन राशि वालों को मानसिक तनाव बढ़ सकता है। इनको पूजन करने से लाभ होगा।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
2
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Recent Comments