Monday, July 22, 2024
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsMeerutमैस में ठीक खाना न मिलने से परेशान नर्सिंग की छात्राएं

मैस में ठीक खाना न मिलने से परेशान नर्सिंग की छात्राएं

- Advertisement -
  • नर्सिंग छात्रों को नहीं मिल रहा उचित भोजन, पहचान छिपाने की शर्त पर बताया दर्द

जनवाणी संवाददाता |

मेरठ: मेडिकल कॉलेज परिसर स्थित नर्सिंग कॉलेज की मैस में छात्राओं को अच्छा भोजन नहीं मिल रहा है। पहचान छिपाने की शर्त पर छात्राओं ने अपनी बात रखी। उनका कहना है कि मैस का जो भी मेन्यू दिया गया है उसके मुताबिक भोजन उन्हें नहीं मिलता है। इसको लेकर वह भरपेट भोजन भी नहीं कर पाती है। हॉस्टल इंचार्ज ने इस आरोप को सिरे से नकारते हुए कहा कि उनके द्वारा छात्राओं को अच्छे से अच्छा भोजन उपलब्ध कराया जाता है।

मेडिकल के नर्सिंग कॉलेज में इस समय करीब 155 छात्राएं नर्सिंग का कोर्स कर रही है। यह कोर्स चार साल का होता है और इस दौरान छात्राओं को कॉलेज के हॉस्टल में ही रहना होता है। ऐसे में उनके खाने का भी पूरा इंतजाम हॉस्टल की मैस में किया गया है, लेकिन कुछ छात्राओं का कहना है कि उन्हें जो मेन्यू दिखाया गया था

उसके मुताबिक भोजन नहीं मिल रहा है। छात्राओं का कहना है कि मैस का स्टाफ अपनी मर्जी से भोजन उपलब्ध कराता है। भोजन का स्तर भी काफी खराब है, साथ ही खाने का स्वाद भी अच्छा नहीं है। छात्राओं ने कहा कि वह केवल अपनी पढ़ाई करने के लिए ही यहां रह रही है, लेकिन उन्हें मिलने वाला भोजन ठीक नहीं है।

हर माह 22 सौ रुपये लिये जाते हैं खाने के

बीएससी नर्सिग की छात्राओं का कहना है कि उनसे हर महिने 22 सौ रूपये मैस चार्ज के रूप में लिए जाते हैं, लेकिन जिस तरह का भोजन दिए जाने की बात बताई जाती है वैसा खाना नहीं मिलता। अब अगर अच्छा भोजन दिए जाने के बदले उनसे ज्यादा पैसे भी लिए जाए तो वह इसके लिए भी तैयार है।

मगर कम से कम उन्हें भोजन तो अच्छा मिले। मैस में मिलने वाले भोजन की गुणवत्ता देखने के लिए जब संवाददाता वहां पहुंचा तो उन्हें मैस तक नहीं जाने दिया। काफी देर तक बाहर ही बैठाकर रखा गया। जिससे इस बात को बल मिलता है कि मैस में खाने की गुणवत्ता कैसी है यह बात बाहर न जा सके।

उनके द्वारा छात्रों को दिया जाने वाला भोजन काफी अच्छा होता है। वह कभी भी छात्राओं के भोजन के साथ समझौता नहीं करती। जो मेन्यू बताया जाता है वही दिया जाता है, छात्राओं की शिकायत गलत है। मौके पर आकर भोजनालय की स्थिति देखी जा सकती है।
-रेनू सिंह, इंचार्ज छात्रावास

What’s your Reaction?
+1
0
+1
1
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Recent Comments