Sunday, February 25, 2024
HomeUttar Pradesh NewsMeerutमेडा के समझौते में आबादी की जमीन को लेकर बन रही बाधाएं

मेडा के समझौते में आबादी की जमीन को लेकर बन रही बाधाएं

- Advertisement -
  • मेडा अफसर कह रहे आबादी क्षेत्र में सर्किल रेट का दोगुना मिलेगा मुआवजा

जनवाणी संवाददाता |

मेरठ: मोहिउद्दीनपुर में मेडा टाउनशिप के लिए जमीन अधिग्रहण प्रक्रिया में जुटा हैं। एक आॅफिस भी ओपन कर दिया गया हैं, जहां पर अपना स्टाफ भी तैनात कर दिया हैं, लेकिन जमीन अधिग्रहण प्रक्रिया में आबादी क्षेत्र की जमीन को लेकर विरोधाभास पैदा हो गया हैं। विरोधाभास ये है कि प्राधिकरण आबादी क्षेत्र की जमीन का सर्किल रेट से दोगुना मुआजवा देने के लिए तैयार हैं, जबकि ग्रामीण सर्किल रेट का चार गुना मांग रहे हैं। ग्रामीण नई जमीन अधिग्रहण नीति की दुहाई दे रहे हैं।

हालांकि जंगल की जमीन का सर्किल रेट का चार गुना ही प्राधिकरण मुआवजा देने पर सहमत हैं, लेकिन आबादी क्षेत्र की जमीन को लेकर विरोधाभास पैदा हो गया हैं। अब इसका कोई रास्ता निकालने के लिए प्राधिकरण अधिकारी जुटे हुए हैं। सहमति पत्र प्राधिकरण के कर्मचारी किसानों से ले रहे हैं, जिसके बाद ही जमीन का अधिग्रहण या फिर रजिस्ट्री कराई जाएगी। प्राधिकरण अधिकारियों ने जमीन अधिग्रहण और रजिस्ट्री कराने के लिए दो तरीके अपनाये हैं।

09 25

कुछ जमीन की रजिस्ट्री भी किसानों से कराई जाएगी। दरअसल, प्राधिकरण मोहिद्दीनपुर में बड़ी टाउनशिप लेकर आ रहे हैं। ये अपने आप में अत्याधुनिक टाउनशिप होगी, जिसके लिए यूपी सरकार ने धनराशि भी अवमुक्त कर दी हैं। इसके बाद ही जमीन अधिग्रहण और रजिस्ट्री कराने के लिए सहमति पत्र किसानों से भरवाये जा रहे हैं। पच्चीस से ज्यादा सहमति पत्र अब तक भरे गए हैं।

हर रोज यहीं काम मेडा के मोहिउद्दीनपुर में खोले गए आॅफिस में चल रहा हैं। जल्द ही जो विरोधाभास पैदा हुए हैं, उनको लेकर किसानों और मेडा अफसरों के बीच सहमति बन जाएगी। नई जमीन अधिग्रहण नीति का प्राधिकरण अफसर अध्ययन कर रहे हैं। उसके अनुसार ही जमीन का अधिग्रहण किया जाएगा।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Recent Comments