Friday, July 19, 2024
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsMeerutगंदगी से गुजरकर होता है शिक्षा के मंदिर में प्रवेश

गंदगी से गुजरकर होता है शिक्षा के मंदिर में प्रवेश

- Advertisement -
  • सफाई के लिए एक साल से प्रार्थनापत्र दे रहे ग्रामीण और प्रधानाध्यापक, नतीजा सिफर

जनवाणी संवाददाता |

किठौर: क्षेत्र के गांव रछौती में प्राइमरी पाठशाला के निकट ओवरफ्लो नाली से गंदगी फैलने का मामला संज्ञान में आया है। सालभर से फैली पड़ी गंदगी की वजह से अध्यापकों व छात्रों का स्कूल में पहुंचना दूभर हो रहा है। प्रधानाध्यापक व ग्रामीणों का आरोप है कि कई बार प्रार्थना पत्र दिए जाने के बावजूद ब्लाक अधिकारी सुध लेने को तैयार नही हैं।

माछरा ब्लॉक क्षेत्र के रछौती स्थित प्राइमरी पाठशाला नंबर-1 के मुख्यद्धार के सामने बनी गांव के जल निकासी की नाली एक साल से जीर्ण-शीर्ण स्थिति में है। यहां गांव की गंदगी जमकर नाली को ओवरफ्लो कर देती है। इससे स्कूल और गांव के मुख्य रास्ते पर कीचड़ फैलने से आवागमन बाधित हुआ रहता है।

आलम ये है कि अध्यापकों, छात्र-छात्राओं व अन्य शिक्षणेत्तर कर्मचारियों को स्कूल परिसर में प्रवेश के लिए मंदिर के रास्ते से घूमकर जाना पड़ता है। जिससे उन्हें काफी परेशानी होती है। उधर मुख्य रास्ते पर लगातार फैल रही गंदगी को देख ग्रामीणों को भी बीमारियों के संक्रमण की चिंता सता रही है।

प्रधानाध्यापक अभिनव शर्मा और रछौती के कई ग्रामींणों का आरोप है कि वह ग्राम पंचायत सचिव, एडीओ पंचायत और खंड विकास अधिकारी को एक साल में चार बार नाली की मरम्मत और सफाई को लेकर प्रार्थना पत्र दे चुके हैं, लेकिन कोई सुनवाई नही हुई।

उनका यह भी आरोप है कि ग्राम पंचायत सचिव फिलहाल ग्राम प्रधान की आकस्मिक मौत का हवाला देकर नया प्रधान चुने जाने के बाद ही नाली की मरम्मत की बात कह रहा है। इस बाबत बीडीओ माछरा गोपाल गोयल का कहना है कि नाली में कूड़ा जमा होकर वह ओवरफ्लो हो जाती है। रछौती में सफाईकर्मी तैनात नही। इसलिए आसपास के गांवों के सफाईकर्मी लगाकर वहां जल्द सफाई कराई जाएगी।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
3
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Recent Comments