Sunday, October 17, 2021
- Advertisement -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
- Advertisement -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
HomeDelhi NCRदिल्ली हिंसाः 20 आरोपियों की तस्वीर आई सामने, क्राइम ब्रांच को इनकी...

दिल्ली हिंसाः 20 आरोपियों की तस्वीर आई सामने, क्राइम ब्रांच को इनकी तलाश

- Advertisement -

जनवाणी ब्यूरो |

नई दिल्ली: दिल्ली के चांदबाग इलाके में उग्र हो गई थी भीड़ शाहदरा के डीसीपी और एसीपी पर हुआ था। हमला हिंसा के दौरान की गई थी। कांस्टेबल रतनलाल की हत्या, दिल्ली हिंसा के दौरान चांदबाग इलाके में आगजनी, फायरिंग और पत्थरबाजी करने के आरोपी 20 लोगों की तस्वीरें दिल्ली पुलिस ने जारी की है। जिनकी क्राइम ब्रांच को शिद्दत से तलाश है। इन आरोपियों की सूचना या सुराग देने वाले को दिल्ली पुलिस इनाम भी देगी।

नार्थ ईस्ट दिल्ली में हिंसा के दौरान ये 20 लोग शामिल थे। इसी साल 24 फरवरी को दिल्ली के चांद बाग इलाके में जब प्रदर्शनकारियों की भीड़ उग्र हो गई थी। इसी दौरान दिल्ली पुलिस के हेड कांस्टेबल रत्न लाल की हत्या भी कर दी गई थी। पुलिस के अनुसार उस वक्त ये 20 आरोपी भी चांद बाग हिंसा में मौजूद थे।

चांद बाग हिंसा के दौरान ही आईपीएस अधिकारी अमित शर्मा पर भी जानलेवा हमला हुआ था। शहादरा के डीसीपी अमित शर्मा उस वक्त फोर्स के साथ भीड़ को काबू करने के लिए वहां पहुंचे थे। चांद बाग में ही दिल्ली पुलिस के एसीपी अनुज कुमार पर भी जानलेवा हमला किया गया था।

दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच के मुताबिक दिल्ली हिंसा के ये 20 आरोपी हेड कॉन्स्टेबल रतन लाल हत्याकांड के बाद से ही फरार हैं। इसी के चलते अब दिल्ली पुलिस इन आरोपियों पोस्टर जल्द सार्वजनिक स्थानों पर चस्पा करने जा रही है।

बता दें कि दिल्ली के चांद बाग इलाके में कांस्टेबल रतन लाल, डीसीपी अमित शर्मा और एसीपी अनुज पर हमला करने वालों में कई बुर्के वाली महिलाएं भी शामिल थी। दिल्ली पुलिस उन महिलाओं को भी तलाश कर रही है।

जांच से जुड़े क्राइम ब्रांच के अधिकारी ने बताया कि उत्तर-पूर्वी दिल्ली दंगों के दौरान 24 फरवरी को चांदबाग में भीड़ ने पुलिस टीम पर हमला कर दिया था। इसमें डीसीपी शाहदरा अमित शर्मा एवं तत्कालीन एसीपी गोकलपुरी अनुज कुमार गम्भीर रूप से घायल हो गए थे। वहीं, एसीपी गोकलपुरी के स्टाफ हेड कॉन्स्टेबल की उपद्रवियों ने गोली मारकर हत्या कर दी थी। डीसीपी अमित शर्मा के सिर में चोट लगी थी और कई माह के बाद वह ड्यूटी पर दोबारा आ सके थे।

जांच टीम ने मौके पर लगे सीसीटीवी कैमरों की फुटेज एवं बनाए गए वीडियो से फोटो निकाले हैं। पुलिस ने इनमें से 20 संदिग्धों की फोटो को जारी किया है, जिनकी गिरफ्तारी की सूचना देने का अनुरोध आम जनता से किया गया है। इस घटना में कई नकाबपोश महिलाओं का भी हाथ था, जिनकी तलाश की जा रही है।

दिल्ली दंगे में 53 लोगों की हुई थी मौत

गौरतलब है कि नागरिकता कानून के समर्थकों और विरोधियों के बीच संघर्ष के बाद 24 फरवरी को उत्तर-पूर्वी दिल्ली के जाफराबाद, मौजपुर, बाबरपुर, घोंडा, चांदबाग, शिव विहार, भजनपुरा, यमुना विहार इलाकों में साम्प्रदायिक दंगे भड़क गए थे।

इस हिंसा में कम से कम 53 लोगों की मौत हो गई थी और 200 से अधिक लोग घायल हो गए थे। साथ ही सरकारी और निजी संपत्ति को भी काफी नुकसान पहुंचा था। उग्र भीड़ ने मकानों, दुकानों, वाहनों, एक पेट्रोल पम्प को फूंक दिया था और स्थानीय लोगों तथा पुलिस कर्मियों पर पथराव किया।

इस दौरान राजस्थान के सीकर के रहने वाले दिल्ली पुलिस के हेड कांस्टेबल रतन लाल की 24 फरवरी को गोकलपुरी में हुई हिंसा के दौरान गोली लगने से मौत हो गई थी और डीसीपी और एसीपी सहित कई पुलिसकर्मी गंभीर रूप से घायल गए थे। साथ ही आईबी अफसर अंकित शर्मा की हत्या करने के बाद उनकी लाश नाले में फेंक दी गई थी।

What’s your Reaction?
+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

- Advertisement -

Leave a Reply

- Advertisment -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img

Most Popular

- Advertisment -spot_img

Recent Comments