Tuesday, May 21, 2024
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsMeerutमरीज की जान पर बनी फिजिशियन की गलत रिपोर्ट

मरीज की जान पर बनी फिजिशियन की गलत रिपोर्ट

- Advertisement -
  • किठौर में फिजिशियन ने क्लीनिक में लगायी है अल्ट्रासाउंड मशीन
  • स्वास्थ्य विभाग पूर्व में कर चुका है कस्बे का एक अवैध अल्ट्रासाउंड सेंटर सील

जनवाणी संवाददाता |

मेरठ/किठौर: कस्बे के एक नामचीन डाक्टर के अल्ट्रा साउंड सेंटर की कथित गलत रिपोर्ट मरीज की जान पर बन आयी। इतना ही नहीं आपरेशन के नाम पर मरीज की भारी भरकम रकम खर्च हो गयी। आपरेशन कराने से जो शरीर को नुकसान पहुंचा है सो अलग। कारगुजारी सामने आने के बाद अब मामले को मैनेज करने की कोशिश की जा रही हैं। वहीं, दूसरी ओर सीएमओ अखिलेश मोहन का कहना है कि यदि कोई शिकायत मिलेगी तो जांच करायी जाएगी।

ये है पूरा मामला

किठौर में मेरठ-गढ़ मार्ग पर डा. शिवम श्याम कंसल का क्लीनिक है। क्लीनिक पर नाम के साथ एमबीबीएस (एमडी मेडिसिन) लिखा है। क्लीनिक में डा. शिवम श्याम कंसल ने अल्ट्रासाउंड सेंटर भी चला रखा है। जिसमें वे खुद रोगियों के अल्ट्रासाउंड करते हैं।

05 11

मुंडाली निवासी शुऐब (24) पुत्र छुटवा ने बताया कि सीने में निरंतर दर्द की शिकायत के चलते गत 30 दिसंबर को उसने डा. शिवम श्याम कंसल से अल्ट्रासाउंड कराया। अल्ट्रासाउंड रिपोर्ट में डाक्टर ने शुऐब के पित्त की थैली में छोटी-छोटी कई पथरियां होने का दावा किया। दर्द से परेशान शुऐब ने परिजनों को जांच रिपोर्ट बताई तो परिजनों ने आपरेशन की तैयारी कर ली।

आपरेशन में नहीं मिली पथरी

छह जनवरी को मेरठ के शिव शांति हॉस्पिटल में डा. गुरचरण सिंह ने शुऐब का आपरेशन कर पित्त निकाला तो उसमें कोई पथरी नहीं मिली। जिसके बाद डा. शिवम श्याम कंसल को शिव शांति हॉस्पिटल बुलाकर परिजनों ने गलत अल्ट्रासाउंड रिपोर्ट देने पर नाराजगी जताई। बताया कि अब डा. कंसल परिजनों को शुऐब का संपूर्ण इलाज खर्च देने के आश्वासन के साथ उनकी मान-मनौव्वल में लगा है।

06 10

साढ़े चार दशक से चल रहा है क्लीनिक

किठौर का एसएस कंसल क्लीनिक लगभग साढ़े चार दशक पुराना है। ये क्लीनिक डा. शिवम श्याम कंसल के पिता डा. श्याम सुंदर कंसल चलाते थे। वो एमबीबीएस थे। पिता की बीमारी के दौरान ही डा. शिवम श्याम कंसल ने क्लीनिक पर सेवा देना प्रारंभ कर दिया था। पिता के देहांत के बाद से डा. शिवम श्याम कंसल ही पूरी तरह क्लीनिक चला रहे हैं।

पहले भी गलत रिपोर्ट पर हो चुकी है कार्रवाई

किठौर में अल्ट्रासाउंड सेंटर से गलत रिपोर्ट प्रेषित किए जाने का यह पहला मामला नहीं इससे पूर्व यहां के स्माइल अल्ट्रासाउंड सेंटर द्वारा इमरान नाम के व्यक्ति को प्रेगनेंट दर्शाते हुए गलत रिपोर्ट प्रेषित कर दी गई थी। शिकायत पर स्वास्थ्य विभाग ने स्माइल अल्ट्रासाउंड सेंटर पर छापेमारी कर उसे सील कर दिया था। इसके बावजूद अन्य सेंटर संचालक सबक लेने को तैयार नही।

ये कहना है डा. शिवम का

इस संबंध में डा. शिवम श्याम कंसल का कहना है कि मैंने अल्ट्रासाउंड किया है। उस वक्त पित्त की थैली में एक से अधिक छोटी-छोटी पथरियां दिख रहीं थीं। हो सकता है निरंतर दर्द से वे पथरियां आंतों में पहुंच गईं हों। कई बार ऐसा हो जाता है। पथरियां मल के साथ बाहर निकल जाती हैं। कार्रवाई की मांग भी की है।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Recent Comments